Home »Haryana »Bhiwani» बजर खराब होने से पिछड़े ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थी, ठीक हुआ तो सब पर भारी

बजर खराब होने से पिछड़े ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थी, ठीक हुआ तो सब पर भारी

Bhaskar News Network | Nov 06, 2016, 02:15 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
बजर खराब होने से पिछड़े ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थी, ठीक हुआ तो सब पर भारी
जबभी पढ़ाई से संबंधित बात आती है तो शहर के विद्यार्थियों का आईक्यू लेवल बेहतर बताया जाता है लेकिन हलवासिया विद्या विहार स्कूल में शनिवार को भारत विकास परिषद के तत्वावधान में करवाई गई भारत जानो स्पर्धा में अलग ही नजारा देखने को मिला।

स्पर्धा के अंदर जब बजर खराब हो गया तो गांव राजगढ़ के विकास हाई स्कूल के विद्यार्थियों का मनोबल टूट सा गया और जब बजर पूरी तरह से ठीक हुआ तो दोनों विद्यार्थियों ने शहरी विद्यार्थियों को बजर बजाने का मौका तक नहीं दिया। स्क्रीन पर पूरा सवाल खुलने से पहले ही शुरू के चार सवालों के जबाव दोनों विद्यार्थियों ने दे डाले लिहाजा बजर खराब होने के चलते शुरू के तीन राउंड में पिछड़े सचिन और नितिन शर्मा दूसरे स्थान तक पहुंच गए।

सदन में बैठे अन्य स्कूलों के विद्यार्थी स्टॉफ सदस्य दोनों विद्यार्थियों की प्रतिभा देख खुद को तालियां बजाने से नहीं रोक पाए। राउंड समाप्त होने के बाद दोनों विद्यार्थियों को बजर नहीं बजने का मलाल रहा और कहा कि अगर बजर ठीक होता तो वह शायद पहले स्थान पर सकते थे।

हलवासिया विद्या विहार स्कूल में भारत जानो स्पर्धा के दौरान खराब हुए बजर को चेक करते आयोजक सदस्य।

बजर ठीक होने के बाद ये पूछे गए सवाल

बजरठीक होने के बाद चाैथा और आखिरी राउंड खेला गया। यह राउंड बजर राउंड था और इसमें जो टीम सबसे पहले बजर बजाएगी वो ही सबसे पहले प्रश्न का उत्तर देना था। राउंड में पहला प्रश्न पूछा गया कि साबरमती आश्रम के संस्थापक के रूप में किसे जाना जाता था इसमें सचिन और नितिन शर्मा ने महात्मा गांधी का सही जबाव दिया। दूसरे प्रश्न शत्रु के साथ युद्ध करते हुए वीरता का प्रदर्शन के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च पुरस्कार कौन सा है इसका दोनों विद्यार्थियों ने परमवीर चक्र देते हुए सही जबाव दिया। तीसरा प्रश्न श्री रामकृष्ण के दिवंगत होने पर स्वामी विवेकानंद तथा अन्य शिष्यों ने सर्वप्रथम कहां मठ की स्थापना की इसका दोनों विद्यार्थियों ने सबसे पहले बजर दबाकर वराह नगर सही जबाव दिया। चौथा प्रश्न पूछा गया कि इंडियन एयर लाइंस मं नौकरी करने वाले किस व्यक्ति को भारत र| पुरस्कार से सम्मानित किया गया तो सचिन ने ही बजर दबाकर राजीव गांधी सही जबाव दिया। राउंड के पांचवे प्रश्न में सचिन बजर दबाने में थोड़ा सा लेट हो गया।

इन सवालों में फेल हुई टीमें

>गुरु गोबिंद सिंह के माता पिता का नाम क्या है तो इसमें जिस टीम ने प्रश्न का चयन किया था वो जबाव नहीं दे पाई तो बजर दबाकर टीम नंबर चार ने महामाया और सिद्धार्थ बताया जो गलत था। सही जबाव गुजरी और गुरुतेग बहादुर था जो हॉल में बैठे स्टॉफ सदस्यों ने बताया।

> केरल के पश्चिमी घाट में सबरीमाला मंदिर में किसकी मूर्ति स्थापित है तो इसका जबाव जगन्ननाथ बताया दिया गया जो गलत था सही जबाव स्वामी अयप्पन था।

> महाभारत युद्ध में कौन से दिन कृष्ण अपनी प्रतिज्ञा तोड़कर चक्र उठा भीष्म को मारने दौड़े तो इसका जबाव जिस टीम से पूछा गया वो नहीं दे पाई और समय समाप्त होने के बाद टीम नंबर दो ने तीसरे दिन बताकर सही जबाव दिया।

> किस शासक को सुरताण अर्थात हिंदुओं का बादशाह कहा गया है यह प्रश्न जिस टीम से पूछा गया उसने बहादुर जहां जफर का नाम लिया जो गलत था प्रश्न का सही टीम नंबर छह ने महाराणा कुंभा बजर दबाकर दिया।

> राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के संस्थापक कौन थे इसका जबाव प्रश्न का चयन करने वाली टीम ने गलत दिया तो टीम नंबर छह ने बजर दबाकर डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार सही जबाव दिया।

> किस क्रांतिकारी ने बचपन में जलियावाला कांड देखा था तो इसका जबाव बजर दबाकर टीम ने चंद्रशेखर आजाद बताया लेकिन यह गलत था इसका सही जबाव उद्यम सिंह था।

> किस भारतीय क्रिकेटर ने टेस्ट मैच में सबसे धीमी रफ्तार से दोहरा शतक बनाया है तो टीम ने सचिन तेंदुलकर का नाम लिया जो गलत था। सही जबाव नवजोत सिंह सिद्धू बजर दबाकर अन्य टीम ने दिया।

> पूर्वी कोने से पश्चिमी कोने तक भारत की अधिकतम दूरी कितनी है जिस टीम से यह सवाल पूछा गया वो इसका जबाव नहीं दे पाई तो 15 सेकंड समाप्त होने पर दूसरी टीम ने बजर दबाकर 2933 किलोमीटर सही जबाव दिया।

> शुंग वंश के बाद किस वंश का उदय हुआ इस सवाल का जबाव भी टीम नहीं दे पाई तो बजर दबाकर अन्य टीम ने कण्व वंश का सही जबाव दिया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: बजर खराब होने से पिछड़े ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थी, ठीक हुआ तो सब पर भारी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Bhiwani

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top