Home »Haryana »Faridabad » Sonu Nigam Childhood And Father Struggle

पीपल के पेड़ के नीचे बैठकर रोटियां खाते थे सोनू निगम, यहां बीता था बचपन

Bhaskar News | Apr 21, 2017, 14:11 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
फरीदाबाद. मस्जिदों के आसपास लाउडस्पीकर इस्तेमाल को लेकर किए गए ट्वीट को लेकर बॉलीवुड प्लेबैक सिंगर सोनू निगम इन दिनों चर्चा में हैं। फरीदाबाद के 'नेशन हट' नाम की जगह पैदा हुए सोनू आज भी वहां अपने पुराने दोस्तों से मिलने आते रहते हैं। उनके एक दोस्त ने बताया कि बचपन में हम एक पीपल के पेड़ के नीचे एक साथ बैठकर रोटियां खाया करते थे। बता दें कि सोनू के पिता अगम निगम और बहन भी सिंगर हैं। यहां बीता था बचपन...
- बता दें कि भारत-पाकिस्तान बंटवारा होने के बाद रिफ्यूजी के तौर पर भारत आए सोनू निगम के दादा 'नेशन हट्स' में रहते थे। जहां जन्म 30 जुलाई 1973 को उनका जन्म हुआ था।
- यहां पीपल का वह पेड़ आज भी है, जहां सांझा चूल्हे के तौर पर एक तंदूर लगता था और पूरे मोहल्ले की रोटी वहीं पकती थीं। सभी पेड़ के नीचे बैठकर खाया करते थे। बचपन में सोनू ने भी सामूहिक रूप से बैठकर रोटियां खाई हैं।
- 'नेशन हट कॉलोनी' में रहने वाले जितेंद्र सिंह ने बताया कि सोनू उनके बचपन के साथी हैं। जितेंद्र के पिता और सोनू के पिता अगम निगम भी आपस में दोस्त रहे हैं।
- बताया जाता है कि अगम को गाने का शौक था। अपने इस शौक के कारण कई बार उन्हें घर में अपने पिता से डांट खानी पड़ती थी। दरअसल, 1960 के दशक में दो जून की रोटी के लिए लोग तरसते थे। ऐसे में अगम के गाने का शौक उनके माता-पिता को अच्छा नहीं लगता था।
सोनू के सपोर्ट में आए पड़ोसी अौर दोस्त
- सोनू के धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर बजाने को लेकर हुए ट्वीट के बाद यह मुद्दा गरमा गया। जिस पर उनका कहना है "केवल मस्जिद ही नहीं मंदिर, गुरुद्वारे और दूसरे धार्मिक स्थलों, धार्मिक आयोजनों, अनुष्ठानों, फंक्शन में लाउडस्पीकर द्वारा शोर किए जाने से केवल मनुष्य ही नहीं पशु-पक्षी भी परेशान और प्रभावित होते हैं।
- मामले में उनका सपोर्ट करते हुए उनके बचपन के दो दोस्तों ने उन्हें फोन भी किया और परेशान न होने की बात कही।
- उनके बचपन के दोस्त राकेश बहल का कहना है कि सोनू और मैं दोनों साथ पढ़ते थे। सोनू का हमारे यहां अब भी आना जाना लगा रहता है। सोनू ने अपना पुश्तैनी मकान ट्रस्ट को दे दिया है, ताकि वह मकान को देखने आता-जाता रहे।
- उनके पड़ोसी हरपाल कहते हैं कि सोनू बचपन में चेहरे से ही बड़ा मासूम दिखता था। जैसे और बच्चों में शरारती बातें थीं, वैसी सोनू में नहीं थीं। सोनू ने लाउडस्पीकर के मुद्दे पर बहुत अच्छा बोला है। वह ठीक है, कौन से ग्रंथ में ऐसा लिखा है कि शोर मचाकर भगवान की इबादत करो।
आगे की स्लाइड्स में देखें, सोनू निगम से जुड़ीं 10 और फोटोज...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: sonu nigam childhood and father struggle
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Faridabad

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top