Home »Haryana »Gurgaon » सुलतानपुर बर्ड सेंचुरी पर्यटकों के लिए खुली, काफी टाइम से था बंद

सुलतानपुर बर्ड सेंचुरी पर्यटकों के लिए खुली, काफी टाइम से था बंद

Bhaskar News | Dec 02, 2016, 07:05 AM IST

सुलतानपुर बर्ड सेंचुरी पर्यटकों के लिए खुली, काफी टाइम से था बंद
फर्रुखनगर.बर्ड फ्लू की आशंका के चलते चार नवंबर से तीस नवंबर तक बंद राष्ट्रीय पक्षी उद्यान सुलतानपुर झील एक दिसंबर गुरुवार को पक्षी प्रेमियों के लिए फिर से खोल दिया गया है। पक्षी प्रेमियों ने लंबे समय बाद लुप्त-प्राय प्रजाति के देशी व विदेशी पक्षियों को नजदीक से देखा तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। झील में इन दिनों अलग-अलग प्रजातियों के 30 हजार पक्षी पहुंच चुके हैं। जिनमें कॉटन टील बर्ड की संख्या एक, मेलार्ड की संख्या चार, टीकल थर्च दो, ओरेंज हाईडीड थर्स दो, सारस की जोड़ी अपने नन्हे बच्चे के साथ पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है। इंसान को देखकर भयभीत होकर भागने के लिए मशहूर नील गाय का बच्चा भी इन दिनों बच्चों के बीच आकर उनके साथ खेलने लगता है, जिससे बच्चों की खुशी दुगनी हो जाती है।

पक्षी प्रेमी रुमांशी राजपूत, कुणाल, सत्यदेव, मीनाक्षी, अजय शर्मा, धनपतराय शर्मा, हेमंत राय, कवि यादव, कनिष्का, कुनिका आदि का कहना है कि वे राष्ट्रीय पक्षी उद्यान सुल्तानपुर झील पर सर्दी के मौसम में देश-विदेश से आने वाले विभिन्न प्रजातियों के दुर्लभ पक्षियों के दीदार के लिए प्रति वर्ष आते थे। लेकिन बर्ड फ्लू के कारण पिछले एक माह से सेंचुरी बंद थी, वह इंतजार में थे कि कब झील खुले और कब पक्षियों के दीदार करे। उन्होंने कहा कि इस बार गत वर्ष की अपेक्षा ज्यादा पक्षी झील में दिखाई दे रहे हैं।

पक्षियों के दीदार के लिए सुबह वे जल्द झील पर पहुंच गए थे लेकिन कोहरे के कारण पूरी झील सफेद चादर की भांति दिखाई दे रही थी। पक्षियों की आवाज सुनकर मन का सुकून मिला। जैसे-जैसे सूर्य देव का प्रकाश बढ़ा तो कोहरे के चादर सिमटने लगी और दुर्लभ प्रजातियों के पक्षियों के दीदार हुए बहुत अच्छा लगा।

प्रबंधक भाषातंरण शिक्षण केंद्र एवं दृश्य श्रव्य केंद्र के प्रभारी सुरेश शर्मा का कहना है कि विभागीय अधिकारियों के आदेशानुसार झील पर रहने वाले पक्षियों व पक्षी प्रेमियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर झील को बंद किया गया था। स्थिति सामान्य होने के बाद एक दिसंबर को झील खोल दिया गया है। इस समय सुल्तानपुर झील में देशी-विदेशी प्रजाति के करीब तीस हजार पक्षी आश्रय लिए हुए है। उनमें ग्रेलेग गूज, स्टेली मुनिया, रेड मुनिया, डेमोसाइल क्रेन, ब्लैक थ्रेटिल वेग टील, स्पून बिल, कॉमन टील, टीकल सर्च, अारेंज हाई डीड थर्स, समाल किनी वेट, लार्ज मिनीवेट, यूएलओ वेग-टेल आदि हैं। जैसे-जैसे तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी वैसे ही पक्षियों की संख्या में भी बढ़ोतरी होगी।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: सुलतानपुर बर्ड सेंचुरी पर्यटकों के लिए खुली, काफी टाइम से था बंद
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Gurgaon

      Trending Now

      Top