Home »Haryana »Hisar » Doctors Removed From Party

डॉक्टरों की पार्टी में जाने वाले एंबुलेंस चालक ड्यूटी से हटाए

भास्कर न्यूज | Dec 21, 2012, 02:48 IST

हिसार.एंबुलेंस चालकों को रिझाने के लिए पांच दिसंबर को डॉक्टरों द्वारा दी गई पार्टी में शामिल सरकारी एंबुलेंस के चालकों पर गुरुवार को गाज गिरी। स्वास्थ्य विभाग ने सिविल अस्पताल के दो चालकों को एंबुलेंस ड्यूटी से हटा दिया है।
अनुबंध पर तैनात एक अन्य चालक को नोटिस जारी कर पार्टी में जाने का कारण पूछा गया है। यह पार्टी सिरसा रोड स्थित एक होटल में निजी चिकित्सकों ने रखी थी। एंबुलेंस के धंधे पर खबर लिखने वाले दैनिक भास्कर के मुख्य संवाददाता राकेश क्रांति पर जानलेवा हमले के बाद विभाग ने यह कार्रवाई की।
एक वरिष्ठ चिकित्सक ने बताया कि विभाग ने निजी डॉक्टरों की डिनर पार्टी में गए एंबुलेंस चालकों का पता लगाया। इसमें शामिल चालकों को एंबुलेंस ड्यूटी से हटाया गया है। एंबुलेंस चालकों को भविष्य में ऐसे मामलों में शामिल नहीं होने की हिदायत भी दी है। ड्यूटी से हटाए गए चालकों में से एक रेडक्रॉस सोसायटी का था। उसे वापस सोसायटी भेजा गया है। दूसरे चालक को सीएमओ कार्यालय में ही ड्यूटी पर तैनात किया गया है।
यह है मामला
शहर के कुछ निजी डॉक्टरों ने एंबुलेंस संचालकों को रिझाने के लिए पांच दिसंबर को एक होटल में डिनर पार्टी दी थी। इसमें सभी एंबुलेंस चालक शामिल हुए थे। यह पार्टी अस्पताल से मरीज एक खास अस्पताल में ले जाने को लेकर दी गई। ऐसे में चालकों को निजी डॉक्टर खासी रकम भी देते हैं।
प्रदेश को एक्ट का है इंतजार
प्रदेश में निजी डॉक्टरों और अस्पतालों की मनमानी पर लगाम लगाने के लिए क्लीनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट का इंतजार है। यह एक्ट देश के चार राज्यों में लागू हो चुका है। इसके लागू होने से क्लीनिक, नर्सिग होम और अस्पतालों की मनमानी फीस वसूली पर अंकुश लगेगा।
एक्ट के तहत डॉक्टरों को मरीज से वसूली जाने वाली फीस का ब्यौरा नोटिस बोर्ड पर चस्पा करना होगी। इसमें सभी तरह के टेस्ट, इलाज, ऑपरेशन, डॉक्टर फीस, बैड चार्ज आदि शामिल हैं। इस एक्ट के बाद बगैर पंजीकरण ना तो अस्पताल चलेंगे और ना ही स्टाफ नियुक्त होगा। नियम का उल्लंघन करने वाले पर पांच लाख रुपये तक का जुर्माना और सजा का प्रावधान है।
कंडम एंबुलेंस की भरपाई
स्वास्थ्य विभाग की एक एंबुलेंस हाल ही में कंडम हुई है। यह ओमनी वैन थी। इस पर तैनात दो चालक वाहन के कंडम होने से फ्री हो गए थे। जिन्हें सिविल अस्पताल की एंबुलेंस पर तैनात कर दिया गया है।
सीएमओ ने दो एंबुलेंस चालकों को ड्यूटी से हटाया है। इन्हें दूसरी जगह ड्यूटी पर भेज दिया गया है। अस्पताल की दोनों एंबुलेंस पर 2.3 के अनुपात के हिसाब से चालक तैनात कर दिए गए हैं। लोगों की सुविधा को देखते हुए प्रशासन ने हटाए गए चालकों की जगह दूसरे स्वास्थ्य केंद्रों के चालक यहां तैनात कर दिए हैं।
प्रदीप मोर, प्रबंधक, 102 एंबुलेंस।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: doctors removed from party
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Hisar

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top