Home »Haryana »Hisar » Geetika Murder Case

जीजेयू में सख्ती, प्रेक्टिकल परीक्षाएं टलीं

Bhaskar news | Dec 01, 2012, 02:19 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
जीजेयू में सख्ती, प्रेक्टिकल परीक्षाएं टलीं

हिसार।गीतिका हत्याकांड के बाद जीजेयू कैंपस में अब सुरक्षा व्यवस्थाओं को लेकर सख्ती की तैयारी है। इसके लिए प्रोक्टोरियल बोर्ड ने हर विभाग में काउंसलिंग सैल बनाने की सिफारिश पर मुहर लगाई है। यह सैल अपने-अपने विभागों में विद्यार्थियों की काउंसलिंग करेगी और सुरक्षा व्यवस्थाओं की जांच पड़ताल भी करेगी। सैल में विभाग के सीनियर टीचर्स, एक महिला शिक्षक, एक रिसर्च स्कॉलर, एक सीनियर छात्र शामिल होगा। यह सैल विभागों में नियम और अनुशासन के लिए जिम्मेदार होगी।


प्रोक्टोरियल बोर्ड की बैठक में प्रोक्टर डॉ. एमएस तुरान की अध्यक्षता में कई सिफारिशों पर प्रोक्टोरियल बोर्ड की स्वीकृति हुई थी। जिन पर शुक्रवार को कुलपति डॉ. केएस खोखर ने अपनी स्वीकृति की मोहर लगा दी। उधर, जीजेयू प्रशासन ने सात दिसंबर तक होने वाली प्रेक्टिकल परीक्षाएं टाल दी गई हैं। ये परीक्षाएं थ्योरी की परीक्षाओं के बाद होंगी। तिथि की घोषणा बाद में की जाएगी। जीजेयू रजिस्ट्रार प्रो. आरएस. जागलान ने बताया कि प्रायोगिक परीक्षाएं प्रशासनिक कारणों से स्थगित कर दी गई हैं। आठ दिसंबर से होने वाली लिखित परीक्षाओं में कोई बदलाव नहीं किया गया है।
दूसरी तरफ जीजेयू के सिटी गेट पर कैंपस में प्रवेश करने वालों की जांच पड़ताल की जा रही है। स्थायी बैरियर लगा दिए गए हैं। कैंपस में वाहनों के प्रवेश पर भी प्रतिबंध है। सिटी गेट के पास ही वाहन पार्क कराए जा रहे हैं।

सुबह आठ से नौ बजे तक चेकिंग
प्रोक्टोरियल ड्यूटी के अंदर सुबह साढ़े आठ बजे से लेकर रात के नौ बजे तक चार सदस्यीय टीम परिसर में निरीक्षण करेगी। हर दो घंटे में टीम की ड्यूटी बदली जाएगी। यानि कुल 24 लोगों की टीम पूरा दिन कैंपस में सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लेती रहेगी। गैर शिक्षक कर्मचारी से लेकर शिक्षकों को शामिल कर इस टीम का चयन किया जाएगा। इसमें एक शिक्षक व एक महिला कर्मचारी या शिक्षिका का होना जरूरी है। इस टीम को परिसर में दौरा करने के लिए प्रशासन की तरफ से गाड़ी मुहैया करवाई जाएगी।

ये होंगे टीम के कार्य
आई कार्ड चेक करना, आउट साइडर पर नियंत्रण, विद आउट आईकार्ड मिलने पर स्टूडेंट और कर्मचारी पर कार्यवाही करना। चाहे वह क्लास लगाकर आया हो। उसके पास आईकार्ड होना जरूरी है। सिक्योरिटी इंतजामों की जांच करेंगे, सभी एंट्री प्वाइंट चेक किए जाएंगे।

यहां करें दुव्र्यवहार की शिकायत
किसी भी छात्रा के साथ विभाग में कोई छेडख़ानी करता है तो वह उसकी शिकायत विभाग अध्यक्ष के पास भी कर सकती है। विभागाध्यक्ष के देखरेख में सैल काम करेगी।

परिजनों की मांगें
-गीतिका मर्डर केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में देने के लिए सिफारिश करें विवि प्रशासन।
-दोषी को कड़ी सजा मिले, ताकि दूसरों को सबक मिले।
-जीजेयू परिसर में सुरक्षा प्रबंधन पुख्ता हों।
-जीजेयू गल्र्स हॉस्टल के सामने गीतिका का स्टेच्यू लगाया जाए।
-हॉस्टल का नाम गीतिका के नाम से रखा जाए।
-आरोपी जिससे हथियार लेकर आया, पुलिस उसकी जानकारी हासिल कर गिरफ्तार करें।

मांगों पर मिला आश्वासन
-कार्यवाहक वीसी डॉ. केएस खोखर ने कहा कि विवि प्रबंधन मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाए जाने के लिए करेंगे सिफारिश।
-एक जनवरी से एक्स सर्विसमैन के हाथों में होगी विवि की सुरक्षा।
-छात्रावास का नाम गीतिका के नाम पर रखने व प्रतिमा लगाने को लेकर सिफारिश सरकार को भेजी जाएगी।
-कैंपस में एक एंबुलेंस है, दूसरी एंबुलेंस की सुविधा होगी उपलब्ध।

वीसी और एसडीएम के साथ बैठक
बैठक में जीजेयू के कार्यकारी वीसी डॉ. केएस. खोखर, महिला आयोग की अध्यक्षा सुशीला शर्मा, सीटीएम अमरदीप जैन, डीडीपीओ सुमित कुमार व गीतिका के पिता लाजपत राय मेहता सहित अन्य प्रतिनिधि शामिल रहे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
DBPL T20
Web Title: Geetika murder case
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Hisar

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top