Home »Haryana »Hisar» Medicine For Swine Flu Goes Out Of Stock

सिविल अस्पताल में खत्म हुई स्वाइन फ्लू की दवा

भास्कर न्यूज़ | Feb 09, 2013, 04:03 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
सिविल अस्पताल में खत्म हुई स्वाइन फ्लू की दवा

हिसार। स्वाइन फ्लू को लेकर स्वास्थ्य विभाग पुख्ता प्रबंध होने के दावे कर रहा है लेकिन हकीकत में स्वाइन फ्लू के इलाज के लिए टेमीफ्लू की गोलियां फतेहाबाद से मंगवानी पड़ी। यहां से 2950 गोलियां पहुंची हैं। गोलियां मंगवाने की वजह अन्य जिलों से हिसार में आ रहे मरीजों को दवा देना बताया गया है।

इसके अलावा विभाग कर्मचारियों को मास्क भी मुहैया कराएगा। इसके अलावा स्वाइन फ्लू के संबंध में मिल रही रिपोर्टों की रोज समीक्षा हो रही है वहीं मुख्यालय से भी इस संबंध में रोज दिशा निर्देश जारी कि जा रहे है। विभाग ने इस संबंध में 24 घंटें अल्र्ट रहने के आदेा दिए हैं ताकि इस पर काबू पाया जा सके।


धर्मसिंह को स्वाइन फ्लू
जिले में स्वाइन फ्लू का एक और मरीज की रिपोर्ट पॉजीटिव पाई गई है। यह मरीज जींद के अर्बन एस्टेट इलाके का धर्म सिंह है। यह 53 वर्षीय शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती था। शुक्रवार को इसे यहां से रेफर कर दिया गया। इसके अलावा दो मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई हैं। पॉजीटिव पाए गए मरीज को टेमीफ्लू दवा मुहैया करा दी गई है। संबंधित जिले के स्वास्थ्य अधिकारियों को भी इसकी सूचना दे दी गई है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. सुशील गर्ग ने बताया कि शुक्रवार को जींद के धर्म सिंह की ही रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। अन्य दो रिपोर्ट नेगेटिव है। ये मरीज भी हिसार के नहीं हैं। सिविल अस्पताल में ऐसे मरीजों के लिए व्यवस्था की गई है। संक्रमित मरीज के लिए आइसोलेशन रूम बनाया गया है। यह प्राइवेट वार्ड में है। मरीजों की संख्या बढऩे पर वार्ड में बिस्तर की संख्या और बढ़ा दी जाएगी। हालांकि अभी तक न तो अस्पताल में इस तरह के मरीज आए हैं और न जिले के लोग इसके प्रभाव में हैं। फिर भी बार के रोगियों से ही हिसार में स्वाइन फ्लू फैलने का खतरा हो गया है।


कर्मचारियों को फ्लू का खतरा, मास्क की तैयारी

सिविल अस्पताल में दिन भर में एक हजार से अधिक मरीज आते हैं। इनमें कौन सा मरीज फ्लू के संक्रमण साथ ला रहा है, यह नंगी आंखों से देख पाना असंभव है। ये मरीज अस्पताल के स्टाफ के संपर्क में आते हैं। ऐसे में इन कर्मचारियों और इनके संपर्क में आने वाले लोगों के फ्लू संक्रमण की चपेट आने की संभावना बढ़ जाती है। इस खतरे से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कर्मचारियों को एहतियात बरतने के अलावा मास्क का प्रयोग करने की हिदायत दी है। इनमें ईएनटी और मलेरिया विभाग का स्टाफ मुख्य है। यहीं मरीजों की जांच और सैंपल लिए जाते हैं।


॥अस्पताल में मरीजों के लिए पर्याप्त मात्रा में दवा है। फतेहाबाद से और गोलियां मंगा ली गई हैं। विभाग के पास चार हजार से अधिक टेमीफ्लू की गोलियां उपलब्ध हैं। मास्क भी उपलब्ध हैं। यह केवल मरीजों और उनके संपर्क में रहने वाले स्टाफ को ही दिया जाता है। फ्लू से बचाव को लेकर स्टाफ को भी मास्क दिए जाएंगे। उन्हें एहतियात बरतने को भी कहा गया है।ञ्जञ्ज
डॉ. अशोक चौधरी, सीएमओ।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Medicine for swine flu goes out of stock
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Hisar

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top