Home »Haryana »Panipat » Girl Trafcking In Rewari

बिक गई लड़की...और ताकती रही पुलिस

प्रदीप नारायण | Dec 30, 2012, 04:05 AM IST

बिक गई लड़की...और ताकती रही पुलिस

रेवाड़ी। महिलाओं की सुरक्षा और उनके मान-सम्मान को लेकर फैले देशव्यापी आक्रोश के बीच रेवाड़ी में राजस्थान से लाई गई एक लड़की दलालों के हाथ दोबारा बिक गई। मामले की जानकारी होने के बावजूद भी पुलिस उसे बचाने में नाकाम रही। प्रवर पुलिस अधीक्षक को मामले की सीधी जानकारी 11 घंटे पहले मिल चुकी थी फिर लापरवाह अफसर कुछ नहीं कर सके। खानापूर्ति के लिए बावल खंड के एक गांव मेंं जब 11 घंटे बाद पुलिस ने छापा मारा तब तक दलाल लड़की को लेकर फरार हो चुके थे। एसएसपी भारती अरोड़ा ने इसमें अधिकारियों व कर्मचारियों की कोताही स्वीकार की। उनका कहना है कि लापरवाही करने वालों पर जल्द कार्रवाई की जाएगी।

बावल थाना में कार्यरत हेड कांस्टेबल रामोतार का कहना है कि सूचना के बाद वह टीम सदस्यों के साथ दोपहर एक बजे सादी वर्दी में मौके पर गए थे। ग्रामीणों से पुख्ता जानकारी भी मिली। जिस लड़की को बेचा जाना था, उस वक्त वह घर में ही थी। उन्होंने इसकी पूरी जानकारी थाना प्रभारी को दे दी थी।

3 दिन गांव में रही लड़की
राजस्थान से लाई गई यह लड़की तीन दिन से गांव में रही। लड़की को खरीद कर लाया गया था और इसे यहां बेचा जाना था। ग्रामीणों के अनुसार जिस घर में लड़की ठहरी थी, वहां शाम के समय दलाल इकट्ठे होते थे, बोली भी लगती थी।

करते रहे इंतजार

पूरे घटनाक्रम को लेकर बावल थाने के प्रभारी सुरेंद्र फौगाट का तर्क है कि हमने ड्यूटी लगाई थी कि जब दलाल लड़की को लेकर गाड़ी में बैठेंगे तब हम रेड मारेंगे। शाम तक गांव से कोई सूचना नहीं आई, इसलिए पुलिस भी नहीं गई।

लाइव रिपोर्ट

- दोपहर 1.00 बजे सूचना के बाद सादी वर्दी में पुलिस कर्मी पहुंचा।
- घटना को लेकर शाम 7.00 बजे एसपी ने कसोला थाने के एसएचओ को फोन किया।
- रात 9.00 बजे थाना प्रभारी दो पुलिस कर्मियों के साथ पहुंचे, लेकिन फोर्स कम रहेगी यह सोच वापस लौट गए।
- रात 11.00 बजे बावल थाना पुलिस ने छापा मारा तो कुछ नहीं मिला।
- रात 12.00 बजे तक जांच-पड़ताल चलती रही

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: girl trafcking in rewari
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Panipat

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top