Home »Himachal »Kullu Zila »Manali» दो बार हाजरी लगाना नहीं मंजूर : अशोक ठाकुर व्यवस्था में सुधार के लिए बॉयोमिट्रिक अटेंडेंस व्यव

दो बार हाजरी लगाना नहीं मंजूर : अशोक ठाकुर

व्यवस्था में सुधार के लिए बॉयोमिट्रिक अटेंडेंस व्यवस्था की जरूरत

Matrix News | Dec 04, 2012, 01:06 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
संजय सैणी मंडी

स्कूली प्रवक्ता दिन में दो बार हाजरी लगाने के स्थान पर स्कूलों में हाजरी के लिए बॉयोमिट्रिक व्यवस्था के पक्षधर है। लेक्चरर्स ने बॉयोमिट्रिक मशीनों के माध्यम से हाजरी लगाने की व्यवस्था को सुधारात्मक कदम बताया है।

आदेश औचित्यहीन

शिक्षा विभाग के दो बार हाजरी लगाने के आदेश स्कूली प्रवक्ताओं की नजर में पूरी तरह से औचित्यहीन है। भास्कर ने मुद्दे को लेकर संघ के नेताओं से बात की तो स्कूली प्रवक्ताओं ने इसे पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित करार दिया। स्कूली प्रवक्ताओं की नजर में दो बार हाजरी लगाने के आदेश प्राध्यापकों के मान सम्मान को ठेस पहुंचाना है। डबल टाइम हाजरी लगाना पूरी तरह से गलत है।

गेजेटिड वर्ग में आते है स्कूल प्राध्यापक

हिमाचल स्कूल प्रवक्ता संघ के जिलाध्यक्ष अशोक ठाकुर ने बताया कि स्कूल संवर्ग के प्राध्यापक गेजेटिड वर्ग क्लास-2 में आते है। गेजेटिड अधिकारियों के लिए डबल अटेंडेंस का प्रावधान रूल्स में नहीं है।

प्राध्यापकों को मुद्दों से हटाने का प्रयास

शिक्षा विभाग का यह कदम केवल मात्र स्कूल प्रवक्ताओं का उनके विभिन्न मुद्दों से ध्यान हटाना है। शिक्षा विभाग प्राध्यापकों की विभिन्न मांगों को पूरा नहीं कर पा रहा है। जिसके कारण यह कदम उठाया गया है। प्राध्यापक पूरी लगन व मेहनत से 9 से 3 बजे तक अपनी ड्यूटी बजा रहे है। दो बार हाजरी लगाने के आदेश केवल मात्र प्राध्यापकों को परेशान करने के लिए जारी किए गए है।

नहीं भरे गए 150 पद

शिक्षा विभाग स्कूल प्राध्यापकों को पदोन्नति देने में पूरी तरह से नाकाम हो रहा है। प्रदेश भर में लगभग 150 पद प्रधानाचार्य के खाली पड़े हुए है जो स्कूली प्रवक्ताओं के पदोन्नति कोटे से भरे जाने है लेकिन विभाग भर नहीं रहा है। स्कूली प्रवक्ताओं की पदोन्नति का मामला लगभग डेढ़ साल से लटका पड़ा हुआ है। जिस पर कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है।

क्या कहते है प्राध्यापक

प्राध्यापक संघ से जुडे नेता राजेंद्र ठाकुर, कृष्ण कुमार, ललित धरवाल, अश्वनी शर्मा, पीडी कौंडल, कमल सिंह, हरि सिंह, महेंद्र शर्मा, सुनीता शर्मा, पूनम शर्मा ने बताया कि प्राध्यापकों के लिए दो बार हाजरी लगाने के आदेश किसी को भी मान्य नहीं है। कोई भी प्राध्यापक दो बार हाजरी नहीं लगाएगा। शिक्षा विभाग सुधार ही करना चाहता है तो सरकार को सभी स्कूलों में बॉयोमिट्रिक मशीनों से हाजरी लगाने की व्यवस्था करनी चाहिए।

कोटस

प्राध्यापकों के मुद्दों को हल नहीं करने व उनका ध्यान मुद्दे से हटाने के लिए शिक्षा विभाग ने यह आदेश जारी किए है। इनका कोई औचित्य नहीं है। यह आदेश किसी भी प्राध्यापक को मंजूर नहीं है। दो बार हाजरी लगाने का कोई प्रावधान नहीं है। मामला पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित है।

अशोक ठाकुर, जिला प्रधान, हिमाचल प्रदेश प्राध्यापक संघ मंडी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: दो बार हाजरी लगाना नहीं मंजूर : अशोक ठाकुर

व्यवस्था में सुधार के लिए बॉयोमिट्रिक अटेंडेंस व्यव
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Manali

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top