Home »Himachal »Shimla» Shimla Municipal Corporation

भारी पड़ी शिमला नगर निगम की लापरवाही, फ्लैट 20 हजार का, देने होंगे दो लाख

रश्मिराज भारद्वाज | Dec 02, 2012, 01:37 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
भारी पड़ी शिमला नगर निगम की लापरवाही, फ्लैट 20 हजार का, देने होंगे दो लाख
शिमला.नगर निगम की लापरवाही के कारण शिमला के तीन हजार गरीब परिवार मुसीबत में पड़ गए हैं।
केंद्र सरकार के जवाहर लाल नेहरू नेशनल अर्बन रिन्युअल मिशन (जेएनएनयूआरएम) के तहत शहर के एससी वर्ग के गरीब परिवारों कुल लागत की 10 फीसदी शर्त पर 20 हजार रुपए में फ्लैट दिया जाना था, जबकि सामान्य वर्ग के गरीब परिवारों को इसके लिए कुल लागत की 12 फीसदी राशि (24 हजार रुपए) देनी थी। समय पर निर्माण कार्य शुरू न होने से फ्लैट की कीमत काफी बढ़ गई।
अब नगर निगम बढ़ी हुई लागत से फ्लैट देने की बात कर रहा है। नगर निगम आयुक्त डॉ. एमपी सूद का कहना है कि केंद्र ने निर्माण लागत मैदानी क्षेत्रों के हिसाब से तय की थी।
384 फ्लैट बनने थे, 176 ही बने
जेएनएनयूआरएम में शहरी गरीब परिवारों के लिए हाउसिंग स्कीम के तहत आशियाना-2 प्रोजेक्ट को 27 फरवरी 2008 में मंजूरी मिली थी। इस स्कीम के अंतर्गत शिमला के ढली क्षेत्र में 14.01 करोड़ की लागत से 384 फ्लैट बनाए जाने थे, लेकिन नगर निगम ने 176 ही फ्लैट बनाने का काम पूरा किया है।
अभी 208 फ्लैट और बनाए जाने हैं, जबकि नगर निगम के 176 फ्लैट बनाने में ही 9.76 करोड़ की राशि खर्च कर चुका है। ऐसे में बाकी बची 4.25 करोड़ में कैसे 208 और फ्लैट बन पाएंगे। निगम के सामने बड़ी चुनौती है, लेकिन इतना तय है कि 208 फ्लैट में जो निर्माण कार्य में जो अतिरिक्त राशि खर्च होगी। इसका भुगतान भी गरीब परिवारों के की जेब से ही होगा।
6.12 करोड़ से 9.79 करोड़ रुपए पहुंच गया बजट
प्रोजेक्ट में ढली में आशियान-2 के तहत बनाए जा रहे फ्लैट के लिए सड़क, पानी और सीवरेज जैसी मूलभूत सुविधा देने के लिए 3.48 लाख रुपए प्रति यूनिट खर्च होना था। इसमें 2 लाख फ्लैट निर्माण पर बाकी का पैसा इन्फ्रास्ट्रक्चर पर खर्च होना था।
फ्लैट पर आने वाली कुल लागत का 10 फीसदी यानी 20 हजार गरीब परिवारों से वसूला जाना था। इस तरह 176 फ्लैट पर कुल 6.12 करोड़ की राशि खर्च होनी थी, जबकि अभी तक यह लागत 9.76 करोड़ तक पहुंच गई है। इसी तरह से शहरी गरीब परिवारों के लिए आशियाना-1 निर्माण अभी तक फाइलों में ही उलझ रहा है। केंद्र सरकार ने आशियाना-1 प्रोजेक्ट में भी ऐसी ही परेशानी आ रही है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Shimla Municipal Corporation
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Shimla

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top