Home »Himachal »Shimla» अब अपनी गाड़ी वालों के ही बनेंगे ड्राइविंग लाइसंेस

अब अपनी गाड़ी वालों के ही बनेंगे ड्राइविंग लाइसंेस

Bhaskar News Network | May 19, 2017, 02:15 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
अब अपनी गाड़ी वालों के ही बनेंगे ड्राइविंग लाइसंेस
यदिआप किसी जुगाड़ से ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का सोच रहे हैं तो अब इसकी राह मुश्किल होगी। लाइसेंस बनाने के लिए नियम को कड़ा कर दिया है। अब जो भी आवेदक लाइसेंस बनाने जाएगा, उसकी पहले वीडियोग्राफी होगी। यानी की लाइसेंस बनाते से समय आवेदक का टेस्ट, हस्ताक्षर और उसके द्वारा जमा किए सभी दस्तावेजों की जांच होगी। रिकॉर्ड चेक किया जाएगा। इसके बाद वीडियो बनाई जाएगी। जो भी लाइसेंस बनाने के लिए जाएगा उसके पास अपना वाहन होना भी जरूरी है।

इसी तरह केंद्र राज्य सरकार ने फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वालों पर शिकंजा कसते हुए ऐसे नियम लागू कर दिए हैं। यानी सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंसों को तैयार किए जा रहे नेशनल पोर्टल से जोड़ना शुरू कर दिया है। हालांकि, ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की प्रक्रिया को आॅनलाइन करके आसान भी कर दिया है, लेकिन इसके लिए बनाए नियम बहुत ही सख्त हैं। इसका मकसद यही है कि फर्जी लाइसेंसों को समाप्त करना और यातायात नियमों का अनुपालन कराना है।

आरटीओ शिमला प्रशांत देष्टा ने कहा कि ड्राइविंग लाइसेंस बनाना अब कठिन हो होगा। लाइसेंस बनाते समय वीडियोग्राफी होगी। इसमें अावेदक का पूरा रिकॉर्ड लिया जाएगा। जो भी फर्जी तरीके से लाइसेंस बनाने की कोशिश करेगा पकड़ में जाएगा।

अभी ऐसे बनता था लाइसेंस

परिवहनविभाग के अनुसार लाइसेंस अभी भी नियमों के तहत ही बनते हैं। आवेदक के दस्तावेजों के बाद टेस्ट होते हैं। कई बार फर्जी तरीके से भी लाइसेंस बनाए जाते हैं। दलाल पैसे लेकर दस्तावेज तैयार कर लेते हैं और बिना ट्राई कराए ही लाइसेंस बना लेते हैं। लाइसेंस को कैसे बनाया, इस बारे में कोई ठोस सबूत नहीं रहता है। तारादेवी में हर माह लाइसेंस बनाए जाते हैं।

पहले पकड़ा था फर्जीवाड़ा

आरटीओशिमला में ड्राइविंग लाइसेंस का फर्जीवाड़ा सामने आया था। आरटीओ के कर्मचारी ने आरटीओ की फर्जी स्टैंप बनाकर लाइसेंस बना दिए थे। जिसे बाद में विभाग के अधिकारियों ने पकड़ लिया था। जांच में उसे दोषी पाया गया अौर उसका लाइसेंस रद्द किया गया। ऐसे में अब इस तरह के फर्जीवाड़े को पूरी तरह से बंद करने के लिए नियम कड़े किए गए हैं।

एक ही नाम से दो लाइसेंस नहीं बन पाएंगे

एकही नाम से एक से अधिक ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वालों की अब खैर नहीं है। इसके लिए सड़क परिवहन मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने पुराने लाइसेंस को रिन्यू कराने के लिए आधार कार्ड की अनिवार्यता की जा रही है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है, ताकि एक ही व्यक्ति एक से ज्यादा ड्राइविंग लाइसेंस रख सके। कई बार देखने में आया है कि एक व्यक्ति अपने ही नाम से दो से अधिक लाइसेंस बना देता है। अब आधार कार्ड जरूरी होने के बाद इस पर पूरी तरह से रोक लग जाएगी। यदि नियमाें के तहत लाइसेंस बनेंगे तो सड़क दुर्घटनाओं में भी कमी आएगी।

नियम कड़े

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: अब अपनी गाड़ी वालों के ही बनेंगे ड्राइविंग लाइसंेस
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Shimla

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top