Home »Himachal »Shimla» Alleged On Cm House By Employees Union President

फर्जी लेटरपैड पर सीएम ऑफिस ने मेरे खिलाफ बिठा दी जांच : विनोद

bhaskar news | Feb 17, 2017, 07:57 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
फर्जी लेटरपैड पर सीएम ऑफिस ने मेरे खिलाफ बिठा दी जांच : विनोद
शिमला. हिमाचल प्रदेश कर्मचारी परिसंघ के अध्यक्ष विनोद कुमार ने मुख्यमंत्री कार्यालय की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाए हैं। शिमला में आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश में जब से कांग्रेस सरकार बनी है उन्हें लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है। चार सालों में उनका 3 बार तबादला कर दिया गया। कई बार उनके खिलाफ जांच भी बिठाई गई।
उन्होंने कहा कि महासंघ ने अपने लैटरपैड पर मुख्यमंत्री को शिकायत भेजी। इसमें उन पर कई तरह के आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की गई। इस शिकायत पत्र के आधार पर सीएम ऑफिस से ईओ नोट जारी हुआ।
इसके आधार पर जांच अधिकारी नियुक्त कर जांच शुरू हुई। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि महासंघ के अध्यक्ष एसएस जोगटा और महासचिव हेम सिंह के इस पर हस्ताक्षर थे। जांच अधिकारी ने जब उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया, तो दोनों ने अपने बयान में कहा कि ये लेटरपैड उनका नहीं है। न ही उन्होंने इस तरह की शिकायत की है।
इस मामले में उन्हें लंबे समय तक प्रताड़ित किया गया। इसको लेकर वे अब शपथ पत्र के साथ एफआईआर दर्ज करवाएंगे। शिकायत में इस फर्जी शिकायत की वास्तविक्ता की जांच करने की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सचिवालय में बैठे कुछ रिटायरी और चहेते अधिकारी मुख्यमंत्री की व्यस्तता का फायदा उठाकर कर्मचारियों को प्रताड़ित करने का षड्यंत्र रच रहे हैं। फर्जी शिकायतों पर बिना जांचे कार्रवाई के आदेश देना सीएम कार्यालय की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करता है।
महासंघ के दबाव में सोसायटी ने किया 90 लाख का गड़बड़झाला
परिसंघ अध्यक्ष ने विनोद कुमार ने कहा कि उद्यान विभाग में कर्मचारी गैर कृषि एवं बचत सहकारी सोसायटी में पिछले चार सालों से बड़ा गड़बड़झाला चला हुआ है। सहकारी सभा से लिए गए 90 लाख के ऋण को कर्मचारियों ने तो अदा कर दिया, लेकिन अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ से जुड़े लोग जो इस सोसायटी के पदाधिकारी भी हैं, ने इस पैसे को जमा ही नहीं करवाया।

उन्होंने लाखों रुपए के इस गड़बड़झाले को लेकर बैंक और सोसायटी की ओर से एफआईआर दर्ज न करना बड़े सवाल खड़े करता है। इस मामले को लेकर वे शपथ पत्र के साथ एफआईआर दर्ज करवाएंगे। वे खुद भी इस सोसायटी के सदस्य हैं। बैंक के एमडी ने इस पैसे की रिकवरी को लेकर पत्र भी लिखा है। बावजूद इसके ये राशि जमा नहीं करवाई जा रही है।
कर्मियों की प्रताड़ना को लेकर राज्यपाल को सौपूंगा चार्जशीट
कर्मचारी परिसंघ के अध्यक्ष विनोद कुमार ने कहा कि राज्य सरकार लगातार कर्मचारियों की प्रताड़ना कर रही है। उनका ही चार सालों में तीन बार तबादला किया गया है। उन्होंने कहा कि नाहन में भी एक रिटायर्ड अधिकारी लगातार आरोप लगा रहा है कि सचिवालय में बैठकर कुछ लोग पैसे लेकर तबादले करवा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि इस तरह के कई मामलों को इक्ट्ठा करने के बाद वे इसकी चार्जशीट तैयार करेंगे। इस चार्जशीट को राज्यपाल को सौंपेंगे। राज्यपाल से आग्रह किया जाएगा कि इन सारे मामलों की जांच करवाएं, ताकि कर्मचारियों को राहत मिल सके। उन्होंने महासंघ पर आरोप लगाते हुए कहा कि महासंघ अध्यक्ष खुले मंच से राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं और सरकार उनकी पीठ थपथपा रहीं है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: alleged on cm house by employees union president
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Shimla

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top