Home »Himachal »Shimla » Pateint Have To Wait For Hours To Take Medication

दवा लेने के लिए करना पड़ता है घंटों इंतजार, जेनेरिक स्टोर में पांच काउंटर

bhaskar news | Mar 19, 2017, 06:00 IST

दवा लेने के लिए करना पड़ता है घंटों इंतजार, जेनेरिक स्टोर में पांच काउंटर
शिमला. आईजीएमसी के निशुल्क जेनेरिक स्टोर में लोगों को दवाएं लेने के लिए भी घंटों इंतजार करना पड़ता है। कंपनी की ओर से यहां पर कहने के लिए तो दवा वितरण के लिए पांच काउंटर खोले हैं, मगर मरीजों को दवाएं देने के लिए केवल एक काउंटर ही चलाया जाता है। भारी रश होने के बावजूद सभी काउंटर नहीं चलाए गए। तीन काउंटरों के बाहर तो धूल जम चुकी है। यही नहीं काउंटर के ठीक सामने भी कुर्सियां लगा दी गई है, ताकि कोई मरीज वहां खड़ा न हो सके। स्टॉफ पूरा होने के बावजूद काउंटर केवल एक चलाया जाता है। कई बार यहां पर मरीज ऑब्जेक्शन भी कर चुके हैं। मगर उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई।
दो-दो लाइनों की परेशानी
जेनेरिक स्टोर में मरीजों को दो-दो लाइनों में खड़े रहकर परेशानी उठानी पड़ती है। पहले टोकन लेने के लिए करीब आधे घंटे मरीज या तीमारदार को लाइन में खड़े रहना पड़ता है, उसके बाद दवा लेने के लिए भी उतरी लंबी लाइन से गुजरना होता है। आईजीएमसी में बुजुर्ग या महिलाएं भी दवाएं लेने के लिए आती है, मगर उनके लिए भी यहां पर न तो कोई प्राथमिकता दी जाती है और न ही कोई अलग काउंटर का प्रावधान है।
344 प्रकार की दवाएं मिलती है
जेनेरिक स्टोर में कुल 344 प्रकार की दवाएं दी जाती है। प्रत्येक बीमारी की दवाएं मरीज को यहां पर मिलती है। ऐसे में यहां पर भीड़ लगी रहती है। मगर मरीजों को दवाएं लेने के लिए खासी परेशानी उठानी पड़ती है। आईजीएमसी में दो हजार तक ओपीडी रहती है। अधिकांश मरीज जेनेरिक स्टोर से ही दवाएं लेते हैं।
दिन के समय चलता है स्टोर
यह जैनेरिक स्टोर सुबह 9:30 बजे से शाम 4:30 बजे तक चलता है। ओपीडी में आने वाले मरीजों को इसमें दवाएं दी जाती है। वहीं दोपहर के समय ही इसमें भीड़ रहती है। आईजीएमसी में दूर दराज के क्षेत्र के लोग आते हैं, जिन्हें समय पर अपनी बस भी पकड़ती होती है, ऐसे में यहां पर आकर उनका आधे से एक घंटे का समय बर्बाद हो जाता है। मरीजों की इस परेशानी को प्रशासन भी अनदेखा कर रहा है।

मुझे इसकी जानकारी नहीं है। पांच काउंटर खोले गए हैं। कंपनी को आदेश दिए जाएंगे कि वह सभी काउंटरों पर दवाएं वितरण का काम करें। मरीजों को परेशान नहीं होने दिया जाएगा।
डॉ. रमेश चंद, एमएस आईजीएमसी शिमला
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: pateint Have to wait for hours to take medication
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Shimla

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top