Home »Himachal »Shimla » PICS Trouble With Fun As Emerged As Natures White Sheet

PICS: मस्ती के साथ मुसीबत का रूप बनकर उभरी 'प्रकृति की सफेद चादर'

भास्कर न्यूज | Jan 19, 2013, 02:03 AM IST

कुल्लू/शिमला। प्रदेश के कई जिलों में शुक्रवार को दिनभर बर्फ गिरने का दौर चलता रहा। बर्फ अब मस्ती के साथ लोगों के लिए मुसीबत बनती जा रही। पर्यटक जहां बर्फबारी का आनंद ले रहे हैं वहीं स्थानीय लोगों के लिए बर्फ ने मुसीबतें बढ़ाना शुरू कर दी हैं।
मुश्किलों से पर्यटक भी अछूते नहीं है। मंडी, शिमला, अपर शिमला, कुल्लू, रिकांगपिओ, मनाली आदि में सैकड़ों बसें रूटों पर फंस गई हैं।
पर्यटकों के भी वाहन भी कई जगह फंसे हैं। दिनभर बिजली का आना-जाना भी लगा रहा। जिला शिमला तो पूरी तरह से बर्फबारी से प्रभावित हुआ है। प्रदेश के निचले क्षेत्रों में बारिश ने लोगों को सताया।
कुल्लू और जनजातीय जिला लाहौल स्पीति में शुक्रवार को बर्फबारी का क्रम दिनभर जारी रहा। मनाली माल रोड पर अब तक ढाई फुट से अधिक बर्फ की मोटी परत जम चुकी है।
कुल्लू शहर में भी चार इंच तक बर्फबारी हुई है। भारी बर्फबारी के कारण पर्यटन नगरी मनाली में सैकड़ों वाहनों के पहिए रुक गए है जिसमें पर्यटकों के वाहन भी शामिल हैं। मनाली का संपर्क जिला मुख्यालय कुल्लू से भी कट गया है।
पर्यटन नगरी मनाली में 300 से अधिक छोटे वाहन, करीब डेढ़ दर्जन सरकारी व निजी बसें और सौ के करीब बड़े और अन्य वाहनों के पहिए रुक गए हैं। मनाली में इस समय करीब पांच सौ से आठ सौ के करीब पर्यटक हैं जो होटलों के कमरे में दुबके हैं।
अड्डा प्रभारी नेत्र प्रकाश के अनुसार बर्फबारी से बंजार के भी मार्ग यातायात के लिए बंद हो गए है। किन्नौर में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। यहां ग्लेश्यिर खिसकने शुरू हो गए हैं।
रोहतांग में छह फीट
कुल्लू में चार इंच बर्फबारी रिकॉर्ड की गई है तो वहीं पर्यटन नगरी मनाली माल पर ढाई फीट, रोहतांग दर्रे में अब तक 6 से 8 फुट बर्फ की मोटी परत जमने का अनुमान है जबकि राहनीनाला में 6 फीट तक बर्फ गिर चुकी है।पर्यटन स्थल नगर, जगतसुख, रांगड़ी, पतलीकूहल, बंजार, सैंज, मणिकर्ण के तमाम क्षेत्रों में बर्फबारी का दौर जारी है।
शिमला में हुई पैदल यात्रा
शिमला में दोपहर दो बजे के बाद सभी उपनगरों के लिए यातायात ठप हो गया। शिमला से पंथाघाटी, छोटा शिमला, मेहली, न्यू शिमला, बालूगंज, टुटू, समरहिल, तारादेवी आदि उपनगरों के लिए शुक्रवार दो बजे के बाद बहुत कम बसें चलीं। शाम करीब चार बजे बर्फबारी तेज होने से सभी बसों के पहिए थम गए और लोगों को घर जाने के लिए भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।
दफ्तरों में काम करने वाले लोगों और कारोबारियों को पैदल ही घर जाना पड़ा। उधर, टुटू, बालूगंज और तारादेवी जाने वाले लोग शाम को पौने छह और सवा छह बजे वाली ट्रेन में घरों के लिए रवाना हुए।
हटाने के निर्देश
निगम प्रशासन ने फील्ड कर्मचारियों को शनिवार की सुबह 6 बजे ड्यूटी पर पहुंचने के निर्देश दिए हैं। बर्फबारी हटाने के लिए ठेकेदारों की सेवाएं भी ली जाएंगी। अस्पताल को जोड़ने वाले मार्गो से प्राथमिकता के आधार पर बर्फ हटाई जाएगी। शुक्रवार को नगर निगम ने शहर भर में बर्फबारी हटाने के जेसीबी मशीन के अलावा 200 मजूदरों को लगाया था।
आईजीएमसी की सड़क का सुचारू रखने के लिए नियमित तौर पर जेसीबी मशीन व मजदूर लगे थे। मेयर संजय चौहान का कहना है कि बर्फबारी हटाने के लिए पहले से ही विशेष प्रबंध किए गए थे।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: PICS trouble with fun as emerged as natures white sheet
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Shimla

      Trending Now

      Top