Home »International News »International » 10 Cases Human Cannibalism And Brutal Murders

PHOTOS: आतंक के 9 घिनौने चेहरे, जो इंसानों के मांस पर लगाते थे चटकारे

dainikbhaskar.com | Feb 17, 2013, 03:00 AM IST

नरभक्षण के मामले में पकड़े गए अपराधियों की फेहरिस्त पर नज़र डाली जाए, तो जापान केइसेई सगावाका नाम भी सामने आता है। जापान के कोबे में सन् 1949 में पैदा हुए इसेई को घूमने-फिरने का काफी शौक था। वर्ष1981 में इसेई सोरबोने एकेडमी में फ्रेंच साहित्य पढ़ने के लिए पेरिस चला गया। इस दौरान उसकी दोस्ती अपनी ही साथी विद्यार्थी रेनी हार्टवेल्ट से हो गई। 11 जून 1981 को इसेई ने हार्टवेल्ट को साथ पढ़ने के लिए अपने अपार्टमेंट में आमंत्रित किया। उस दौरान इसेई ने हार्टवेल्ट के गर्दन में गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। उसके बाद उसने उसके शरीर के टुकड़े किए और उन्हें खाया। जांच में यह बात भी सामने आई कि हार्टवेल्ट की हत्या के बाद इसेई ने उसकी लाश के साथ सेक्स भी किया था। हत्या के कई दिनों बाद तक इसेई हार्टवेल्ट के शरीर के टुकड़ों से अपना पेट भरता रहा। इसेई हार्टवेल्ट की लाश के पैर और कई हिस्सों को खा गया था। बाद में लाश के बचे हुए हिस्से को एक झील में फेंकने के चक्कर में वह फ्रेंच पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पूछताछ में इसेई सगावा ने कुछ चौंकाने वाले खुलासे किए। इसेई ने पुलिस को बताया कि उसने हार्टवेल्ट की खूबसूरती और अच्छी सेहत से चिढ़कर उसपर हमला किया था। हत्या के बाद उसने इंसानी मांस को चखकर देखा, जो उसे काफी पसंद आया। बाद में उसने कई दिनों इंसानी मांस को भूनकर खाया। इसेई को कुछ सालों के लिए जेल में और फिर मानसिक सुधारगृह में रखा गया, जहां उसकी मेडिकल काउंसलिंग की गई। 12 अगस्त, 1986 को इसेई को मुक्त कर दिया गया और आज वह टोक्यो में रहता है। फिलहाल, इसेई कमेंटेटर और पब्लिक स्पीकर के तौर पर पार्ट टाइम नौकरी करता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: 10 cases human cannibalism and brutal murders
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    Comment Now

    Most Commented

        More From International

          Trending Now

          Top