Home »International News »Photo Feature» 10 Most Bizarre Cases Of Cross-Nursing

क्रॉस-नर्सिंग के सबसे विचित्र केस, जानवर से मानव तक ने देखी मां की 'ममता'

dainikbhaskar.com | Jan 23, 2013, 00:00 IST

  • मां होना और इस शब्द जीना बड़ी सर्वोच्च अनुभूति है. मां होने के लिए किसी भी मादा में ममता का होना बहुत जरुरी है. नहीं तो बच्चे को समझना उसके लिए बड़ा ही मुश्किल होगा.
    आज हम आपको दुनिया के कुछ ऐसे विचित्र मामलों के बारे में बता रहे हैं, जहां जानवर और मानव में कोई फर्क नहीं रह जाता है. सभी लोग एक ही शब्द पर मां पर आकर टिक जाते हैं.
    dainikbhaskar.com अपने पाठकों को बता रहा है दुनिया के कुछ सबसे विचित्र मामलों के बारे में...
  • चीन के नान्यांग का यह जोड़ा ने मां शब्द का नया अर्थ गढ़ा है. 34 वर्षीय हुआंग एकिंग बंदरों को ट्रेनिंग देने का काम करते हैं, जबकि उनकी पत्नी जिओ झिनझेन बंदरों को रोज अपना दूध पिलाती हैं. वह कहती हैं, यह मुझे अपने बच्चे जैसे लगते हैं.

  • टैरी ग्राहम कहने को तो दो बच्चों की मां हैं, लेकिन कभी उन्हें अपने बच्चों को दूध पिलाने का सौभाग्य प्राप्त नहीं हुआ. इसके बावजूद उन्होंने अपनी मातृत्व सुख के लिए अपने नौ साल पग कुत्ते को दूध पिलाती हैं. उसका नाम स्पाइडर है.

  • जहां अमेरिका के इस बात पर बहस है कि नवजात के लिए ब्रेस्ट फीडिंग (स्तनपान) या फिर भोजन में से क्या ठीक है. वहीं, कंबोडिया में एक बच्चे ने स्तनपान पर जीत दिला दी है, वह भी गाय का. यह बच्चा गाय के थन से चिपक कर दूध पीता था, जब इसकी मां घर से दूर काम पर जाती थी. सोफत नाम के इस बालक के दादा कहते हैं कि वह 18 महीने की उम्र से खुद गाय का दूध पीने लगा था.

  • चीन में हेफेई के चिड़ियाघर में जब टाइगर मां ने बच्चों को दूध पिलाने से मना कर दिया, तब कर्मचारियों ने एक नया तरीका निकाला. इन कब्स (टाइगर के बच्चे) को एक कुतिया का दूध पिलाना शुरू कर दिया. वह ऐसा तब से कर रही थी, जब दोनों बच्चे एक दिन के थे.

  • उत्तरी चीन में एक मादा पांडा द्वारा अपने बच्चों को त्यागने के बाद उनके जीवन पर संकट आ गया. तब इस कुतिया ने अपने प्यार से इन बच्चों की जिंदगी बचा ली. यह लाल रंग के पांडा दुर्लभ प्रजाति हैं.

  • बर्मा की राजधानी यंगून में जूलॉजिकल गार्डन 40 वर्षीय हला हते टाइगर कब को स्तनपान कराती हैं.

  • शायद इस भेड़ के बच्चे को इस बकरी में ही अपनी मां दिखी थी, इसलिए उसने दत्तक मां का दूध पीना शुरू कर दिया. इस बकरी का नाम एनी है.
  • मां अपने आप सम्पूर्ण शब्द है. पिल्ला और कब (टाइगर का बच्चा)एक दूसरे के गले में हाथ डालकर कुतिया का दूध पी रहे हैं. वहीं, कुतिया अपने और दूसरे के बच्चे में कोई फर्क नहीं करती, वह अपना सर्वस्व न्यौछावर कर देती है. 'कोरा' नाम का कब एक सर्कस में पैदा हुआ था, जिसे मां ने ठुकरा दिया.

  • दक्षिण अफ्रीका में हॉलैंड की बकरी में गधे के बच्चे ने ममता खोज ली, बचपन से वह कई बकरियों का दूध पीकर बड़ा हुआ.

  • उत्तर-पश्चिमी मारान्हो राज्य में रहने आवा गुआजा अमेरिका की सबसे आखिरी खानाबदोश आदिवासी समाज है. इनका प्रकृति के साथ बड़ा ही जुड़ाव रहा है. तस्वीर में देखा जा सकता है कि आदिवासी महिला भूख से तड़प रहे सुअर के बच्चे को अपना दूध पिला रही है.

    (दुनियाभर का ताजा हाल जानने के लिए हमसे फेसबुक पर जुड़ें)

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: 10 Most Bizarre Cases of Cross-Nursing
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Photo Feature

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top