Home »International News »America » Gurinder Singh Khalsa Interview To Dainikbhaskar Full Text

US में हमलों के लिए इंडियन्स खुद जिम्मेदार, भाषा और पहनावा भी कारण

dainikbhaskar.com | Mar 05, 2017, 16:44 IST

वॉशिंगटन. अमेरिका में सिखों के सबसे बड़े नेता ने कहा कि US आने वाले भारतीय मेल-जोल बढ़ाएंगे तो उन पर हमले नहीं होंगे। यूएस में सिख पॉलिटिकल एक्शन कमेटी के चेयरमैन गुरिंदर सिंह खालसा ने Dainikbhaskar.com के जर्नलिस्ट अविनाश श्रीवास्तव से भारतीयों पर हमले के मुद्दे पर बात की। गुरिंदर ने कहा, "अमेरिका में हमलों के लिए भारतीय भी जिम्मेदार हैं। वो अमेरिका आते हैं और अपने लोगों में सिमट जाते हैं। उनका पहनावा और भाषा भी नहीं बदलता। अगर भारतीय मेल-जोल रखेंगे तो ऐसी घटनाएं नहीं होंगी।"सिख लीडर बोले- इन घटनाओं को कंट्रोल करना मुश्किल...

- गुरिंदर को यूएस वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस के करीबियों में गिना जाता है।
- गुरिंदर ने कहा, "फिलहाल डर का माहौल नहीं है, लेकिन सभी भारतीय एहतियात जरूर बरत रहे हैं। जहां लगता है कि हमें नहीं होना चाहिए, वहां अब हम नहीं जाते।"
- "दरअसल, अमेरिका में इस तरह के नस्ली हमलों को रोका नहीं जा सकता। सरकार भी कंट्रोल नहीं कर सकती। ऐसे हमले आइसोलेटेड होते हैं, कुछ लोग किसी से बात नहीं करते, अचानक इमोशनल होकर हमले कर देते हैं। इनको रोकना नामुमकिन है।"
ट्रम्प का फोकस दूसरों की जॉब लेने का नहीं, अमेरिकंस को ज्यादा जॉब देने पर
- गुरिंदर ने कहा, "जहां तक ट्रम्प सरकार की बात है, तो उनका नज़रिया सिर्फ इंडियंस के लिए नहीं, सभी बाहरियों के लिए बदला है। उनका फोकस सिर्फ अमेरिकंस को ज्यादा से ज्यादा जॉब देने का है, न कि दूसरों से जॉब लेने पर।"
- "कंसास हमले के बाद हमने (SikhPac) ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन से बात की थी। उन्होंने घटना पर चिंता जाहिर की और ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए लोकल एडमिनिस्ट्रेशन से कहा था।"
- बता दें कि US में हमले और नस्लीय घटनाओं को लेकर 8 मार्च को दिल्ली में सिख समुदाय की प्रेस कॉन्फ्रेंस होने जा रही है। गुरिंदर भी इसमें शामिल होंगे।
कंसास और कैरोलिना में इंडियंस को गोली मारी, न्यूयॉर्क में लड़की से बदसलूकी
- यूएस में इंडियंस पर हमले और नस्लीय टिप्पणी की तीन बड़ी घटनाएं अब तक सामने आ चुकी हैं।
- पहली घटना कंसास में हुई। यहां 22 फरवरी को ओलाथे बार में भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचीभोतला को पूर्व नेवी अफसर एडम पुरिन्टन ने गोली मार दी थी। गोली मारने से पहले उसने कहा था, 'मेरे देश से निकल जाओ।' इस हमले में श्रीनिवास के दोस्त दीपक मदासानी भी घायल हुए थे। भारतीयों को बचाने के दौरान अमेरिकी इयान ग्रिलट घायल हो गए थे।
- शनिवार को कैरोलिना में इंडियन बिजनेसमैन हार्निश पटेल (43) को गोली मार दी गई। पटेल एक स्टोर चलाते थे। कैरोलिना पुिलस के मुताबिक पटेली की बॉडी उनके घर के पास मिली। हालांकि, अफसरों ने इस हमले को शुरुआती जांच में नस्लीय मानने से इनकार कर दिया है।
- 23 फरवरी को न्यूयॉर्क में रहने वाली एकता देसाई के साथ ट्रेन में बदसलूकी हुई। इस घटना का वीडियो लाखो लोग देख चुके हैं। इसमें एक अफ्रीकी-अमेरिकी नागरिक एकता से कह रहा है, "अमेरिका से निकल जाओ।' इस शख्स ने एकता को काफी भलाबुरा कहा और 'फ्रीडम ऑफ स्पीच' और 'ब्लैक पावर' जैसे शब्द भी इस्तेमाल किए।
आगे पढ़ेंः हमले की क्या है 4 खास वजहें, साथ में वीडियो
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Gurinder Singh Khalsa Interview to Dainikbhaskar full text
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From America

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top