Home »International News »China» Chinese School Allows Students To Borrow Marks From Grade Bank

चीन में स्कूल ने बनाया ग्रेड बैंक, पास होने के लिए स्टूडेंट्स कर्ज पर ले सकेंगे अंक

dainikbhaskar.com | Feb 03, 2017, 11:49 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
चीन में स्कूल ने बनाया ग्रेड बैंक, पास होने के लिए स्टूडेंट्स कर्ज पर ले सकेंगे अंक
बीजिंग.स्टूडेंट्स पर एग्जाम और रिजल्ट का तनाव कम करने के लिए चीन के एक स्कूल ने अनोखा प्रयोग किया है। कोई स्टूडेंट फेल हो, इसके लिए स्कूल उन्हें कर्ज पर अंक देगा। बाद में उन्हें कर्ज लिया अंक स्कूल को वापस भी करना होगा। इसके लिए ‘ग्रेड बैंक’ बनाया गया है। जैसे अन्य बैंकों में पैसे की लेन-देन होती है, वैसे यहां अंकों की लेन-देन होगी। ताकि बच्चों पर कम हो सके मानसिक दबाव...
नान्जिंग नंबर 1 हाई स्कूल ने नवंबर 2016 में इसकी शुरुआत की है। स्कूल की फिजिक्स टीचर मी हॉन्ग ने समझाया कि ये बैंक कैसे काम करेगा। उन्होंने बताया, ‘अगर किसी स्टूडेंट को पास करने के लिए 4 अंक कम पड़ रहे हैं, तो वह अपने टीचर से बात कर ग्रेड बैंक से कर्ज के तौर पर 4 अंक ले सकता है। अगली परीक्षा में उसे ये 4 अंक बैंक को वापस करने होंगे। यानी अगर अगली परीक्षा में उसे 64 अंक आते हैं, तो कर्ज लिए हुए 4 अंक इसमें से घटा दिए जाएंगे। इस पर ब्याज का भी नियम रखा गया है। हालांकि ये काफी कम है।’
पूछने पर कि अगर कोई स्टूडेंट अंक वापस नहीं कर पाए तो क्या किया जाता है? मी हॉन्ग ने बताया, ‘कर्ज लौटाने के लिए तीन मौके मिलते हैं। स्टूडेंट्स एक्स्ट्रा लैब वर्क या दूसरी एक्टिविटीज के जरिए भी अंक वापस कर सकते हैं। इन सबके बाद भी अगर कोई स्टूडेंट कर्ज वापस नहीं कर पाया तो बैंक उसे ब्लैकलिस्ट कर देता है। अगली बार उसे कर्ज नहीं दिया जाएगा।’
इस सिस्टम के बारे में स्कूल के डायरेक्टर केन हुआंग ने कहा, ‘हमारा उद्देश्य स्टूडेंट्स के विकास पर जोर डालना है। एग्जाम बच्चों की लर्निंग को बढ़ावा देने के लिए होना चाहिए। न कि उन पर अंकों का दबाव बनाने के लिए हथियार बनाया जाना चाहिए। कई बार बीमारी, पारिवारिक माहौल या अन्य कारणों से स्टूडेंट्स परीक्षा में अच्छा नहीं कर पाते।
कभी वो एक या दो अंकों से पीछे रह जाते हैं। जैसे अगर पास करने के लिए 60 अंक चाहिए। लेकिन किसी को 59 मिले। कहने को तो फासला सिर्फ एक अंक का है। लेकिन ये छोटा अंतर पास और फेल का टैग लगा देता है। इस टैग का स्टूडेंट्स की मानसिक स्थिति पर गहरा असर पड़ता है। इसे खत्म करने के लिए हम ये सिस्टम लेकर आए हैं।’
ग्रेड बैंक के इस सिस्टम को फिलहाल पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर चलाया जा रहा है। अभी सिर्फ 10वीं के स्टूडेंट्स को ये सुविधा दी गई है। इसमें 49 स्टूडेंट्स हैं। नवंबर से अब तक 13 स्टूडेंट्स स्कूल के ग्रेड बैंक से अंकों का कर्ज ले चुके हैं। 7 ने ब्याज के साथ वापस भी कर दिए। स्कूल ने इस बैंक को उन पेरेंट्स की मदद से तैयार किया है जो बैंकिंग प्रोफेशनल हैं।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Chinese school allows students to borrow marks from grade bank
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From China

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top