Home »International News »International» Best Photos Of The Year 2012 International News

साल की बेहतरीन तस्वीरें, जिन्होंने किया रोने-हंसने और सोचने पर मजबूर

dainikbhaskar.com | Dec 04, 2012, 00:00 IST

  • जब सूरज सुबह-सुबह क्षितिज से निकलता है और शाम होते-होते क्षितिज में ही डूब जाता है। सोचने वाली बात यह है कि क्या वह उसका अंत है या फिर एक नई शुरुआत।
    साल 2012 अब खत्म होने को है। इस साल अंतरराष्ट्रीय जगत में बहुत सारी अभूतपूर्व घटनाएं घटी। हो सकता है यह घटनाएं आने वाले सालों में इतिहास में दर्ज हो जाएं।
    dainikbhaskar.comअपने पाठकों को रॉयटर के माध्यम से साल 2012 की कुछ ऐसी तस्वीरों को साझा कर रहा है। जिसने किसी न किसी वर्ग विशेष को, संस्कृति को झकझोरने का काम किया। देखिए इसका पहला भाग...
    दुनियाभर का ताजा हाल जानने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें...
  • इंसान इंसानियत के दुश्मन...

    जब पिछले महीने गाजा पर इजरायल लगातार बमबारी कर रहा था। तब दुनिया ने एक और इंसानियत को झकझोरने वाली तस्वीरें देखीं। फलस्तीनी मोटरसाइकिल सवार रस्सी के सहारे एक व्यक्ति को घसीट रहे थे। उन्हें शक था कि यह आदमी इजरायल का जासूस था।

  • कौन किस चीज के लिए लड़ रहा है...
    अलेप्पो शहर में एक घर से स्नाइपर के साथ मोर्चा संभाले विद्रोही। ब्रिटेन स्थित मानवाधिकार संगठन की रिपोर्ट के अनुसार, सीरिया में मौतों की संख्या करीब 30 हजार से ऊपर पहुंच चुकी है।
  • ये मेरी जमीन है... आंख उठाकर भी न देखना.
    ब्राजील के उत्तरी अल्टामारा के पास विटोरिया डू जिंगू पर बेलो मोंटे हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर प्लांट का निर्माण किया जा रहा था। इससे वहां रहने वाले आदिवासी समाज में बहुत ज्यादा गुस्सा था। विरोध में पूरे क्षेत्र को 300 समाजसेवी, मछवारों, सैकड़ों आदिवासियों ने घेर लिया। पुलिस हेलिकॉप्टर पर धनुष-बाण से निशाना साधते आदिवासी।
  • नजारा ऐसा कि हंसी छूट जाए...

    राजधानी इस्लामाबाद (पाकिस्तान) से उत्तर-पश्चिमी मलकंद जिले में जाते हुए 'मिया खुर्शीद' को कुछ ऐसा नजारा देखने को मिला. कुछ आदमी रस्सियों के सहारे सीधे खड़े ट्रक को नीचे लाने की कोशिश कर रहे थे. गेंहू के भूसे के अधिक वजन ट्रक नहीं सह पाया और इस तरह का नजारा देखने को मिला.

  • तड़पता हुआ आदमी और कांपते हुए हाथ...

    'चाइना डेली' जून में प्रकाशित इस तस्वीर को देखने वालों की आंखें फटी रह गई. काम के दौरान एक फैक्ट्री कर्मचारी के शरीर में बुरी तरह से सात स्टील के बार घुस गए. तस्वीर में फैक्ट्री के कुछ साथी, फायर फाइटर और डॉक्टर शरीर से स्टील के बार काटते हुए. कर्मचारी को डर न लगे, इसके लिए उसके चेहरे पर कपड़ा डाल दिया.

  • जानवर की नफरत का शिकार जानवर...

    दंगे की मार से आदमी तो क्या जानवर भी नहीं बच पाते. म्यांमार में पिछले दिनों हुए दंगों में एक कुतिया जल कर मर गई. एक पिल्ला कई दिनों तक जले हुए शव के पास बैठा रहा. लोगों का कहना था कि वह इसकी मां थी.

  • निर्ममता की इंतेहा...

    पूर्वी येरुशलम में फलस्तीनी लोग अपने हक़ के लिए रैली करते हैं. वे लोग इसे 'लैंड डे' का नाम देते हैं. 'लैंड डे' के दौरान इजरायली पुलिस ऑफिसर फलस्तीनी आंदोलनकारी के आंखों में मिर्च स्प्रे डाल रहे हैं.

  • हंसी की गायब हो गई हंसी...

    बांग्लादेश के उत्तरी-पूर्वी शहर तंगाली में एक वेश्यालय में अपने पति के साथ 17 साल की हंसी। वह रोज 800 से 1000 टका (500 से 700 रुपए) कमाती है। हंसी उन 100 वेश्याओं में से एक है, जो कंदापरा झुग्गी वेश्यालय में विषम परिस्थितियों में रहती है।

  • अमेरिका की बत्ती गुल...

    न्यूयॉर्क का मैनहट्टन कुछ दिनों पहले अंधेरे में डूब गया. पिछले महीने आए सैंडी तूफ़ान के कारण दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका भी हिल गया.

  • फिर नहीं आती तानाशाहों को शर्म...
    यमन की यह तस्वीर अरब के कई तानाशाहों के सिर शर्म से झुकाने के लिए काफी है. हॉस्पिटल में एक महिला अपने नौ माह के कुपोषित बच्चे को तड़पते हुए देख रही है.
  • कुत्ते जैसी जिंदगी...

    इजरायल में इस समय प्रवासी अफ्रीकन लोगों की भरमार है. आकंड़ों के मुताबिक, करीब 70 हजार अफ़्रीकी मूल के लोग इजरायल में रहते हैं. ये लोग कामकाज की तलाश में भटकते हुए आ जाते हैं. इस तस्वीर में भूख से बेहाल एक अफ़्रीकी पार्क में सो रहा है और उसके ठीक ऊपर एक स्थानीय लोग मौजमस्ती कर रहे हैं.

  • हमारा भी है अस्तित्व...

    समय के साथ चलने की कोशिश करता आदिवासी समाज. ब्राज़ील में पर्यावरण के मुद्दे पर रियो डी जेनेरियो में होने वाली सयुंक्त राष्ट्र सम्मेलन में भाग लेने जाता एक आदिवासी युवक.

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Best photos of the year 2012 international news
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From International

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top