Home »International News »International» No Proof Against Pakistan PM Nawaz Sharif In Panama Gate, Probe JIT

शरीफ के खिलाफ पनामा केस में जांच हो, अभी PM पद से न हटाया जाए: SC

DainikBhaskar.com | Apr 20, 2017, 19:04 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

शरीफ के खिलाफ इमरान खान और कुछ और लोगों ने पिटीशन दायर की थी।

इस्लामाबाद. पनामा पेपर्स लीक मामले में करप्शन के आरोपी नवाज शरीफ को फिलहाल पीएम पोस्ट से नहीं हटाया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में शरीफ और उनके परिवार के खिलाफ जांच का आॅर्डर दिया है। इसके लिए एक ज्वाइंट इन्वेस्टिगेशन टीम (जेआईटी) बनाई जाएगी। बता दें कि शरीफ के खिलाफ यह केस तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के चीफ इमरान खान और कुछ दूसरे लोगों की पिटीशन पर चलाया गया। फैसले पर एकराय नहीं थी बेंच...
- इस केस में सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच सुनवाई कर रही थी। हालांकि, शरीफ परिवार के खिलाफ इस फैसले पर जजों की राय बंटी हुई थी। तीन जजों ने कहा कि मामले में आगे जांच होनी चाहिए। बाकी दो जजों का कहना था कि शरीफ को डिसक्वालीफाई किया जाना चाहिए।
- इस केस की सुनवाई पांच जजों की बेंच कर रही थी। डॉन के मुताबिक, जस्टिस आसिफ सईद खोसा और जस्टिस गुलजार अहमद ने शरीफ के खिलाफ फैसला दिया, जबकि जस्टिस एजाज अफजल खान, जस्टिस अजमत सईद और जस्टिस इजाजुल अहसन ने जेईटी बनाने का फैसला सुनाया।
- कोर्ट ने जेआईटी को केस की जांच दो महीने में पूरी करनी का ऑर्डर दिया है। बेंच ने यह भी कहा कि हर दो हफ्ते में उसे जांच रिपोर्ट सौंपी जाए।
- यह केस पिछले साल 3 नवंबर को शुरू हुआ था। इस दौरान 35 सुनवाई हुईं। कोर्ट ने 23 फरवरी को सुनवाई पूरी कर ली थी।
अपोजिशन कर रहा विरोध
- इस मामले में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई), जमात-ए-इस्लामी (जेआई), वतन पार्टी और ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग की और से दलीलें दी गईं।
- इन ग्रुप्स और पॉलिटिकल पार्टीज ने कोर्ट के बाहर भी इस मामले को करप्शन के खिलाफ एक मुहिम के तौर पर चला रखा है।
- कोर्ट का फैसला आने के बाद, इमरान खान ने शरीफ के इस्तीफे की मांग की है।
शरीफ ने कहा था- बच्चों ने मेहनत की कमाई से बनाई प्रॉपर्टी
- शरीफ ने नेशनल असेंबली और कोर्ट में अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा था कि उनके बच्‍चों ने अपनी मेहनत की कमाई से पैसे इकट्ठे किए है और इससे ही ब्रिटेन में फ्लैट लिया है।
नवाज और उनके परिवार पर क्या आरोप लगे?
- नवाज शरीफ के बेटों हुसैन और हसन के अलावा बेटी मरियम नवाज ने टैक्स हैवन माने जाने वाले ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड में कम से कम चार कंपनियां शुरू की।
- इन कंपनियों से इन्होंने लंदन में छह बड़ी प्रॉपर्टीज खरीदी।
- शरीफ फैमिली ने इन प्रॉपर्टीज को गिरवी रखकर डॉएचे बैंक से करीब 70 करोड़ रुपए का लोन लिया।
- इसके अलावा, दूसरे दो अपार्टमेंट खरीदने में बैंक ऑफ स्कॉटलैंड ने मदद की।
- नवाज और उनके परिवार पर आरोप है कि इस पूरे कारोबार और खरीद-फरोख्त में अनडिक्लियर्ड इनकम लगाई गई।
कैसे सामने आया नाम?
- शरीफ की विदेश में इन प्रॉपर्टीज की बात उस वक्त सामने आई जब लीक हुए पनामा पेपर्स में दिखाया गया कि उनका मैनेजमेंट शरीफ के परिवार के मालिकाना हक वाली विदेशी कंपनियां करती थीं।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: No Proof Against Pakistan PM Nawaz Sharif In Panama Gate, Probe JIT
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From International

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top