Home »International News »Pakistan» Pakistan And India Clashes In LOC

PHOTOS: अगर इसके बाद भी नहीं सुधरा तो तबाह हो जाएगा पाकिस्तान

मोहम्मद इलियास खान के ब्लॉग से साभार | Jan 17, 2013, 12:07 IST

  • पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय पहचान अब आतंकवाद को लेकर होती है। भारत से तनावपूर्ण संबंध के अलावा अब पाक की आंतरिक स्थिति ही उसके लिए सबसे बड़ी चुनौती बन गई है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा भ्रष्टाचार के आरोप में प्रधानमंत्री को गिरफ्तार किए जाने के फैसले के बाद तो दुनिया भर में पाक की थू-थू हो रही है।
    धर्म की घुट्टी पिलाकर बंद की गई पाक अवाम की आंखे भी अब खुलने लगी हैं और वो आंतक की कठपुतली बने और भ्रष्टाचार से घिरे अपने हुक्मरानों से त्रस्त दिखाई दे रही है।
    ऐसी स्थिति में क्या होना चाहिए जो पाकिस्तान की जनता में दोबारा विश्वास बहाल हो और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उसकी बनती छवि को बदल दे। यहां हम बता रहे हैं वो 10 बातें जिन पर अमल कर पाकिस्तान अपने नाम के अनुरूप एक पाक स्थान बन जाएगा
    अंदर की स्लाइड में देखें और जानें कैसे पाकिस्तान बन सकता है एक तरक्कीयाफ्ता मुल्क...
    (मोहम्मद इलियास खान के ब्लॉग से साभार)
  • 1. पाक में सबसे जरूरी है शिक्षा का प्रसार। पॉलिटिकल एजेंडे में शिक्षा को सबसे प्राथमिकता दी जानी चाहिए। बजट का २क् प्रतिशत पाक अवाम को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा देने पर खर्च किया जाना चाहिए। किसी ने कहा है किसी भी देश की स्थिति उसके शिक्षकों की स्थिति से बयां होती है। ऐसे में जरूरी है कि शिक्षकों को सबसे ज्यादा महत्व मिले क्योंकि शिक्षक ही छात्रों का भविष्य बनाते हैं जो देश का भविष्य होते हैं।

  • 2.शिक्षा के बाद दूसरी प्राथमिकता स्वास्थ्य है। लोगों को सस्ता और बेहतर इलाज मिले इसके लिए जरूरी है अस्पतालों का आधुनिकीकरण। इसके साथ ही खेलों के प्रसार के लिए गांव, कस्बे और शहरों में मैदानों का नेटवर्क बनाए जाने की जरूरत है। इसके साथ ही लाइब्रेरियों की संख्या भी बढ़ानी चाहिए जिससे लोग ज्ञानार्जन के लिए पास ही पुस्तकें पढ़ सकें। जरूरी यह भी है कि तकनीकी ज्ञान और कम्प्यूटर्स का अधिकाधिक उपयोग बढ़े।

  • 3. प्रतिद्वंद्वी भारत समेत अन्य पड़ोसी देशों से शांति और सौहार्दपूर्ण संबंध पाकिस्तान के लिए बेहद जरूरी है। इस मामले में ब्रिटेन, फ्रांस जर्मनी से सीख ली जा सकती है।

  • 4. देश में मस्जिदों के लिए केंद्रीय नियंत्रण प्रणाली होनी चाहिए। इमामों को भी धार्मिक शिक्षा के साथ स्नातक हाना जरूरी किया जाना चाहिए व इनकी नियुक्ति स्थानीय प्रशासन के माध्यम से होना चाहिए। इसके लिए उन्हें नियमित और निर्धारित वेतन दिया जाना चाहिए। शुक्रवार की नमाज और इमामों की शिक्षा पर मानवतावादियों को निगाह रखना चाहिए जिससे धािर्मक शिक्षा में संप्रदायवाद और अतिवाद से बचा जा सकेगा।

  • 5. देश में लोकतंत्र को सच्चे मायनों में अपनाया जाना चाहिए। व्यवहारिक तरीके से सत्ता की सीधा लाभ समाज के सबसे पिछड़े और जरूरतमंद तक पहुंचना चाहिए। साथ ही राजनैतिक दलों में भी आंतरिक लोकतंत्र स्थापित होना चाहिए। इसके अलावा यह भी जरूरी है कि सेना पॉलिटिकट सिस्टम में हस्तक्षेप न करे। सेना सीमाओं पर अपने दायित्व निभाए और कम से कम तीस साल सेना के बिना हस्तक्षेप लोकतांत्रिक व्यवस्था से देश चले।

  • 6. पाक युवाओं को अंरराष्ट्रीय स्तर पर युवाओं से जोड़ा जाना चाहिए। पाक युवाओं पर दुनिया भर की संदेहास्पद निगाहें से मुक्त होना जरूरी है जिससे वह दुनिया में हो रहे बदलाव को रूबय हो उसे अपने देश में लागू कर सकें। पाक के बारे में बनी धारणा को तोड़ने में शिक्षित युवा महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं।

  • 7. आर्थिक और सामाजिक स्थिति पाक के सामने बड़ी चुनौती है। दोनों ही क्षेत्रों में व्यापक सुधार की जरूरत है। पाक को जियो और जीने दो का संदेश अपनाते हुए खुद का विकास करना चाहिए।

  • 8. . पाक की जनसंख्या खतरनाक ढंग से बढ़ रही है। गरीबी, अशिक्षा और धर्म का गलत व्याख्या इसका कारण है। धार्मिक नेताओं को इस दिशा में आगे आकर काम करना चाहिए।

  • 9 . देश के विकास में महिलाओं की स्थिति सबसे अहम है। महिलाओं के लिए शिक्षा और जागरुकता देश की प्राथमिकता होनी चाहिए।

  • 10 . अन्याय और भ्रष्टाचार के बीच के बीच कोई भी देश उन्नति नहीं कर सकता ऐसे में जरूरी है कि लोग स्वयं आगे आकर अपने नैतिक दायित्वों को निभाएं। साथ ही न्यायिक व्यवस्था और फेयर पुलिसिंग लोगों में विश्वास बहाल करने क लिए जरूरी है।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: pakistan and india clashes in LOC
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Pakistan

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top