Home »International News »Pakistan » Pakistan's Sindh Region Suffering From Drought

पाकिस्तान: सिंध प्रांत में अकाल और सूखे ने ली 160 लोगों की जान

dainikbhaskar.com | Mar 13, 2014, 10:38 AM IST

पाकिस्तान: सिंध प्रांत में अकाल और सूखे ने ली 160 लोगों की जान, international news in hindi, world hindi news
इस्लामाबाद।पाकिस्तान के हिन्दू बाहुल्य थारपर्कर जिले में अकाल के चलते होने वाली मौत का आंकड़ा 160 तक पहुंच गया है। इस इलाके में रोजाना दो से तीन बच्चों की मौत कुपोषण और उससे जुड़ी बीमारियों के चलते होती है।
सिंध प्रांत के एक बड़े हिस्से में थार का मरूस्थल फैला हुआ है। ये इलाका बीते दिसंबर से सूखे से जूझ रहा है। इतने दिन गुजरने के बावजूद सरकार इस हालात से निपटने में नाकाम रही, जबकि मीडिया ने भी मामले की गंभीरता को विशेष रूप से दिखाया।
प्रांतीय सरकार की ओर से दिए गए आंकड़ों में मरने वालों की संख्या 70 के करीब बताई गई है, जबकि स्वतंत्र सूत्रों से मिले आंकड़ों को देखा जाए तो यह संख्या 160 के करीब है। इस आपदा ने हज़ारों लोगों को पलायन के लिए मजबूर कर दिया है।
जिला अस्पताल के मेडिकल सुप्रिटेंडेंट डॉक्टर जलील का कहना है कि ज्यादातर लोगों की मौत निमोनिया, दस्त, मस्तिष्क ज्वर, प्रसव के दौरान मौत और समय से पहले प्रसव की वजह से हुई है। उन्होंने कहा कि 763 बेड वाला उनका अस्पताल कुपोषण के शिकार करीब 300 लोगों का इलाज कर रहा है।
प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पीपीपी नेता बिलावल भुट्टो जरदारी के साथ पिछले हफ्ते थारपर्कर पहुंचे थे और हालात से ठीक से ना निपटने को लेकर प्रांतीय सरकार की आलोचना की थी। नवाज शरीफ ने प्रांत के लिए एक अरब रुपए के राहत पैकेज का एलान भी किया। साथ ही, उन्होंने सरकारी अधिकारियों को हालात पर नजर रखने के निर्देश दिए हैं।
मरूस्थल वाले इलाकों के लिए सूखा हमेशा की परेशानी है। ऐसे इलाकों में हर दो से तीन साल में सूखे के हालात बन जाते हैं, लेकिन इस बार स्थिति बहुत गंभीर है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Pakistan's Sindh region suffering from drought
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Pakistan

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top