Home »International News »International » 100 Militants Killed In Pakistan, After Lal Shahbaz Qalandar Shrine Blast IN Sehwan, Sindh

PAK ने दरगाह ब्लास्ट के बाद 24 घंटे में मार गिराए 100 आतंकी, IS ने किया था हमला

dainikbhaskar.com | Feb 17, 2017, 21:54 PM IST

ये 13 साल के जीशान का परिवार है। जीशान की लाल शाहबाज कलंदर दरगाह में गुरुवार को हुए हमले में मौत हो गई।

कराची (पाकिस्तान).लाल साईं, झूले लाल, मस्त कलंदर के नामों से मशहूर सूफी संत लाल शाहबाज कलंदर की दरगाह पर ISIS आतंकियों ने गुरुवार को हमला कर दिया। इसमें 100 लोगों की मौत हो गई और 300 से ज्यादा जख्मी हो गए हैं। बताया जा रहा है कि इस अटैक में दो हमलावर शामिल थे। जायरीनों का कहना है एक आतंकी ने पहले ग्रेनेड फेंका था। जब वह नहीं फटा तो उसने खुद को उड़ा लिया। पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक इसी हमले के बाद गुरुवार रात से ही पाकिस्तान ने देशभर में आतंकियों के खिलाफ अभियान छेड़ दिया। पाक सिक्युरिटी फोर्सेस ने 100 आतंकियों को मार गिराया। कहां हुई कार्रवाई...
- पाक सरकार के एक अफसर के मुताबिक, फेडल और प्रॉविन्स की एजेंसियों ने पुलिस की मदद से अलसुबह ही बड़ा अभियान शुरू कर दिया। कई जगहों से संदिग्धों को अरेस्ट किया गया है। आने वाले दिनों में यह अभियान जारी रहेगा।
- पैरामिलिट्री फोर्स पाक रेंजर्स ने बताया कि सिंध में रात में ही 18 आतंकी मार गिराए गए। खैबर पख्तूनख्वाह में भी हुई कार्रवाई में 12 और आतंकी मारे गए। कराची में भी 11 आतंकियों को मार गिराया गया। बाकी आतंकी बलूचिस्तान, खुर्रम और मोहमंद डिस्ट्रिक्ट में मारे गए।
अफगानिस्तान को सौंपी मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों की लिस्ट
इस बीच, पाकिस्तान आर्मी ने शुक्रवार को रावलपिंडी में मौजूद अपने हेडक्वॉर्टर्स में अफगान एंबेसी के अफसरों को तलब किया। वहां अफसरों को 76 मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों की लिस्ट सौंपी गई। पाक ने कहा कि ये आतंकी अफगानिस्तान में हैं। इन पर या तो तुरंत कार्रवाई हो या फिर इन्हें पाकिस्तान के हवाले किया जाए।
कहां हुआ ब्लास्ट?
- ब्लास्ट सहवान शरीफ इलाके में हुआ। यह कराची से 200 किमी दूर है।
- यह शहरी इलाका नहीं है। जहां पर दरगाह मौजूद है, वहां से सबसे नजदीकी हॉस्पिटल भी करीब 40 किमी की दूरी पर मौजूद है।
- यह दरगाह सिंध के चीफ मिनिस्टर सैयद मुराद अली शाह के इलाके में मौजूद है।
- हमले के बाद पूरे सिंध प्रांत में मौजूद दरगाहों पर सिक्युरिटी बढ़ा दी गई है।
दरगाह पर हैं सोने से जड़े दरवाजे
- शाहबाज कलंदर की मजार पर 1356 ई. में दरगाह बनी थी। ईरान के शाह मुहम्मद रजा पहलवी ने यहां सोने से जड़े दरवाजे लगवाए।
- हर गुरुवार को यहां श्रद्धालुओं की भारी भीड़ होती है।
- सूफी नृत्य धमाल और इबादत होती है। सूफी संत पाकिस्तान और अफगानिस्तान में बेहद लोकप्रिय हैं।
दमादम मस्त कलंदर
- पाकिस्तान, भारत और बांग्लादेश में नूर जहां, नुसरत फतह अली, आबिदा परवीन, साबरी ब्रदर्स, वडाली ब्रदर्स आदि ने इनकी शान में लाल मेरी...दमादम मस्त कलंदर को आवाज दी है।
- अमीर खुसरो के लिखे शब्दों को बाबा बुल्लेशाह ने आवाज दी थी।
2005 के बाद से देशभर की 25 दरगाहों पर आतंकी हमले
- हैदराबाद के कमिश्नर काज़ी शाहिद ने बताया कि चूंकि शाह कलंदर की दरगाह हैदराबाद से करीब 130 किमी दूर है। वहां एंबुलेंस, मेडिकल टीम के साथ मदद के लिए और भी गाड़ियां हैदराबाद, जमशोरो, मोरो, दादू और नवाबशाह से भेजी गई। इन इलाकों के हॉस्पिटल में इमरजेंसी लगा दी गई है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: 100 Militants Killed In Pakistan, After Lal Shahbaz Qalandar Shrine Blast IN Sehwan, Sindh
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From International

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top