Home »International News »International» The Potala Palace In Tibet

PHOTOS: जिसकी जान के पीछे पड़ा है चीन, वो है अरबों डॉलर के महल का मालिक

dainikbhaskar.com | Feb 15, 2013, 00:02 IST

  • ल्हासा.दुनिया की सबसे बड़ी महाशक्तियों में से एक चीन उस एक व्यक्ति से डरता है. वो उसके वजूद को मिटा देना चाहता है. चीन उसकी एक-एक सांस पाप समझता है. वो व्यक्ति कोई और नहीं तिब्बत का 'दलाई लामा' है.
    अपनी जान बचाने की गरज से युवा दलाई लामा 1959 में तिब्बत छोड़कर भारत के धर्मशाला में आ गया था. कहा जाता है कि यह चीन को यह इतना नागवार गुजरा कि उसने भारत से 1962 की भीषण लड़ाई लड़ी.
    14वें दलाई लामा ने भारत के पूर्वी छोर धर्मशाला को ही अपना आसरा बनाया. दुनियाभर से लाखो श्रद्धालु उनके दर्शन करने भारत चले आते हैं.
    आपको यह जान कर आश्चर्य होगा कि तिब्बत की राजधानी ल्हासा में दलाई लामा अपना शानदार महल छोड़कर भारत में शरण ली थी. ल्हासा में पोटाला पैलेस को 1994 में यूनेस्को ने वर्ल्ड हैरिटेज घोषित किया था.
    dainikbhaskar.com अपने पाठकों को तस्वीरों में माध्यम से बता रहा है पोटाला महल का इतिहास और अंदर के शानदार नजारे....
  • तिब्बत पांचवें दलाई लामा लोजांग गिस्तो ने 1645 में इस महल का निर्माण करवाया था. यह काम उन्होंने अपने धार्मिक सलाहकार की सलाह पर किया था. वे यहीं से तिब्बत की सरकार चलाते थे. यह तिब्बती बौद्ध का प्रतीक है.

  • 1959 में तिब्बत में विद्रोह दबाने के बाद चीन सरकार आंदोलन के शीर्ष नेता दलाई लामा को मार देना चाहती थी. लेकिन दलाई लामा ने अपनी जान की खातिर भारत के हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में शरण ली. उस दौरान जवाहरलाल नेहरु प्रधानमंत्री थे. धर्मशाला से तिब्बत की सरकार चलाई जाती है. हालांकि चीन इसे नहीं मान्यता नहीं देता है.

  • आज पोटाला महल में म्यूजियम में तब्दील हो चुका है. यह पूर्व-पश्चिम में 400 मीटर और उत्तर-दक्षिण में 350 मीटर में फैला है. इसके निर्माण में ताम्बे का जबरदस्त इस्तेमाल किया गया है, ताकि इसे भूकंप से बचाया जा सके.

  • 13 मंजिला इस इमारत में एक हजार कमरे, दस हजार धार्मिक स्थल और दो लाख के करीब मूर्तियां हैं. इसके गहरे लाल रंग के कारण इसे रेड पैलेस भी कहा जाता है. यह व्हाइट पैलेस दलाई लामा की रहने की जगह है. पहले पैलेस का निर्माण 1649 में करवाया गया. 20वीं सदी तक यहां 13वें दलाई लामा रहते थे.

  • 2003 में यहां हर दिन 1600 लोगों को एंट्री दी जाती है. ऐसा भीड़ को देखते हुए किया गया है. इमारत की क्षति से बचने के लिए छतों पर जाना प्रतिबंधित है.

  • दलाई लामा का क्वार्टर, जहां दलाई लामा विश्राम करते थे.

  • दलाई लामा दो शब्दों से मिलकर बना है. मंगोल भाषा का शब्द दलाई का अर्थ है महासागर और लामा का अर्थ होता है गुरु.

  • तिब्बती बौद्ध पुनर्जन्म के सिद्धांत पर आधारित है. यहां मान्यता है कि दलाई लामा का पुनर्जन्म होता है.

  • महल की दीवारों पर शानदार चित्रकला सैलानियों को सबसे ज्यादा आकर्षित करती है.

  • महल के सामने तस्वीर खिंचवाती सैलानी

  • महल के पीछे स्थित पार्क का शानदार नजारा

  • तत्कालीन प्रधानमंत्री नेहरु के साथ धर्मगुरु दलाई लामा

  • दलाई लामा आज

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: The Potala Palace in Tibet
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From International

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top