Home »International News »China» U.S. Wary Of China's Growing Strength

PICS: चीन की बढ़ती ताकत से अमेरिका चिंतित

dainikbhaskar.com | Feb 01, 2013, 07:06 IST

  • चीन अपनी सेना के आधुनिकरण का कार्यक्रम चला रहा है। चीनी सेना को कम अवधि के उच्च तीव्रता सैन्य अभियानों में जीत दर्ज के लिए विशेष ट्रेनिंग दी जा रही है। ये दावा अमेरिका के नामांकित रक्षा स

    चिव चुस्क हागेल ने किया है। हागेल को राष्ट्रपति बाराक ओबामा ने अपना अगला रक्षा सचिव नामांकित किया है। उनका कहना है कि चीन मुख्यत: ताइवान को ध्यान में रखकर अपनी सेना आधुनिकरण कर रहा है, लेकिन उसकी बढ़ती ताकत से यह साफ पता चलता है कि वह चीनी सीमा के बाहर तक अपनी पहुंच बनाना चाहता है।

    सीनेट समिति को दिए 112 पन्ने के जवाब में हागेल ने भारत के बारे में कोई टिप्पणी नहीं की है। उन्होंने कहा कि अमेरिका को चीनी सेना के अधुनिकरण पर कड़ी नजर रखनी चाहिए।

    1 फरवरी की प्रमुख खबरें
  • जापान से भी भिड़ने को तैयार बैठा है चीन

    उधर चीन और जापान के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए कुछ दिन पूर्व ही चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी को युद्ध के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया था।

  • न्यूयॉर्क टाइम्स ने लगाया हैकिंग का आरोप

    वहीं एक अन्य मामले में न्यूयॉर्क टाइम्स ने चीनी हैकरों पर न्यूयॉर्क टाइम्स के कम्प्यूटर सिस्टम को हैक करने का आरोप लगाया है। हालांकि चीन ने इन आरोपों का खंडन किया है। न्यूयॉर्क टाइम्स का आरोप है कि चीनी हैकर पिछले चार महीने से उसके कम्प्यूटर सिस्टम को हैक कर रहे हैं। न्यूयॉर्क टाइम्स का कहना है कि उनके रिपोर्टरों के पासवर्ड चुरा कर एक बड़े चीनी नेता के परिवार द्वारा कमाई गई अकूत दौलत से संबंधित दस्तावेज नष्ट किए।

  • भारत पर बढ़ा रहा है दबाव

    चीन की बढ़ती सैन्य ताकत से भारत की चिंताएं भी बढ़ गई हैं। बुधवार को चीन द्वारा ब्रrापुत्र नदी पर तीन नए बांध बनाए जाने की बात सामने आने है। चीन ने तिब्बत क्षेत्र में ब्रह्मपुत्र नदी पर तीन और बांध बनाने का फैसला किया है। लेकिन भारत को इसकी औपचारिक जानकारी अभी तक नहीं दी है। यहां एक बांध पहले से बन रहा है। चीन ने तिब्बत क्षेत्र में ब्रह्मपुत्र नदी पर तीन और बांध बनाने का फैसला किया है। लेकिन भारत को इसकी औपचारिक जानकारी अभी तक नहीं दी है। यहां एक बांध पहले से बन रहा है।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: U.S. wary of China's growing strength
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From China

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top