Home »Jharkhand »Dhanbad Zila »Dhanbad » रेलवे को प्रतिवर्ष होगी अरबों की क्षति

रेलवे को प्रतिवर्ष होगी अरबों की क्षति

Bhaskar News Network | Mar 21, 2017, 02:30 IST

अग्नि प्रभावित कतरास चंद्रपुरा रेल मार्ग को बंद करने की सुगबुगाहट से आम लोगों में खलबली देखी जा रही है। कोयलांचल का प्रमुख रेल स्टेशन कतरासगढ़ के बंद होने से कतरास बाघमारा की करीब तीन लाख से अधिक की आबादी प्रभावित होगी। साथ ही इससे रेलवे को भी भारी घाटा होगा। इस रेल लाईन के बंद होने का स्पष्ट प्रभाव कतरास बाघमारा क्षेत्र की जनता पर पड़ेगा। चेन्नई, कोलकाता पटना सहित अन्य स्थान पर जाने वाले यात्रियों को लंबी दूरी तय कर धनबाद जाना पड़ेगा। कतरास पचगढ़ी के नागरिकों ने पिछले दिनों शहर का भ्रमण कर इसका विरोध किया है।

प्रतिमाह होगी करोड़ों की क्षति

कतरासचंद्रपुरा रेल मार्ग के बंद होने से सिर्फ कतरास स्टेशन से रेलवे को प्रतिमाह करोड़ों की क्षति होगी। रेल सूत्र की मानें तो मालवाहक ट्रेन से कतरासगढ़ रेलवे स्टेशन को प्रतिमाह 33 से 35 करोड़ रुपया का आय है। जबकि कोचिंग से प्रतिमाह 34 से 35 लाख की आमदनी है।

बालूभराई में हुई है गड़बड़ी

व्यापारीजानकारों ने बताया कि बीसीसीएल प्रबंधन समय से पूर्व सक्रिय होता और खदानों में बालू की भराई पर ध्यान दिया होता तो यह स्थिति उत्पन्न नहीं होती। कहा कि बालू भराई में बीसीसीएल द्वारा की गई गड़बड़ी की सजा क्षेत्र की जनता को भुगतना पड़ेगा।

अर्थ व्यवस्था पर पड़ेगा प्रभाव : धनबादचंद्रपुरा रेल मार्ग बंद होने से कतरास की अर्थ व्यवस्था पर व्यापक असर पड़ेगा। शहर के व्यापारियों ने कहा कि रेल मार्ग के उजड़ने से यहां का आवागमन काफी लचर हो जाएगा। जिससे व्यवसाय पर काफी प्रभाव पड़ सकता है। व्यवसायियों ने बताया कि कतरास से प्रतिदिन लोग कोलकाता, पटना रांची जाकर सामान लाते हैं। कतरास से सीधे हावड़ा रांची के लिए एक्सप्रेस ट्रेन होने के कारण लोगों को काफी सुविधा होती है। इसके बंद होने से व्यापारियों को भी सामान लाने में अधिक खर्च करना पड़ेगा। जिसका प्रभाव ग्राहकों पर भी पड़ेगा।

करोड़ोंकी लागत से प्लेटफार्म एफओबी का निर्माण

एकओर अग्नि प्रभावित बताते हुए इस रेलखंड को बंद करने की सुगबुगाहट हो रही है। वहीं दूसरी ओर रेलवे द्वारा कतरासगढ़ स्टेशन में करोड़ों की लागत से हाई लेबल प्लेटफार्म एफओबी बनाने का कार्य युद्ध स्तर पर शुरू कर दिया गया है। इसे लेकर कई तरह की चर्चा है। लोगों का कहना है कि जब रेल लाईन को उजाड़ने की बात हो रही है तो ऐसी स्थिति में करोड़ों रुपया खर्च कर प्लेटफार्म एफओबी बनाने का क्या तुक है। इससे रेलवे के पैसे की बर्बादी ही होगी।

कतरासगढ़ स्टेशन बंद होने की सुगबुगाहट से खलबली

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: रेलवे को प्रतिवर्ष होगी अरबों की क्षति
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Dhanbad

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top