Home »Jharkhand »Jamshedpur »Jamshedpur » Two BusinessMan Account Seize After Noteban

नोटबंदी के बाद तीन करोड़ जमा करने वाले दो व्यापारियों के बैंक खाते फ्रीज

Bhaskar news | Dec 02, 2016, 07:18 AM IST

जमशेदपुर.आयकर विभाग की स्थानीय टीम ने 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 500 और 1000 के नोटों की बंदी की घोषणा के बाद तीन करोड़ रुपए बैंक में जमा करने वाले साकची के दो व्यापारियों के कार्यालय में सर्वे किया। आयकर विभाग की टीम ने साकची बाजार स्थित विनायक ज्वेलर्स के संचालक मुकेश रणपारा और साकची गुरुद्वारा के पास अवस्थित मॉडर्न स्टोर पेट्रोल पंप के संचालक राजीव कुमार सिंह के कार्यालय में स‌र्वे किया।
आयकर विभाग को बैंकों से दोनों व्यापारियों के बैंक खाते में बड़ी राशि जमा करने की सूची मिली थी। इसके बाद आयकर विभाग के डिप्टी डायरेक्टर (अन्वेषण) विजय कुमार व आईटीओ सुशील कुमार के नेतृत्व में टीम बुधवार को साकची बाजार स्थित दोनों व्यापारियों के कार्यालय पहुंची। आयकर विभाग की टीम ने गुरुवार सुबह पांच बजे तक राजीव सिंह और मुकेश रणपारा के कार्यालय में जांच के क्रम में बैंक खातों, रोजाना कमाई व आयकर रिटर्न को खंगाला। दोनों व्यापारियों ने स्वीकार किया कि नोटबंदी के बाद मुकेश रणपारा के खाते में एक करोड़ और राजीव कुमार सिंह के खाते में दो करोड़ रुपए के पुराने नोट जमा हुए हैं।
बिक्री और जमा राशि में मिला अंतर
आयकर विभाग ने शहर के 26 व्यापारियों से नौ से 17 नवंबर तक बैंक स्टेटमेंट मंगाया है। इनमें 18 पेट्रोल पंप संचालक, सात आभूषण विक्रेता और एक जेनरल स्टोर का संचालक है। बैंक स्टेटमेंट के आधार पर आयकर विभाग की टीम दोनों स्थानों पर सर्वे करने पहुंची, तो पाया कि दोनों कारोबारियों ने बिक्री से करीब तीन करोड़ रुपए ज्यादा बैंक खाता में जमा कराए हैं।
राजीव कुमार सिंह का कॉरपोरेशन बैंक और मुकेश रणपारा का एचडीएफसी बैंक में खाता है। दोनों खातों को आयकर विभाग ने फ्रीज करा दिया है।
पहले 30, बाद में 85% की दर से होगी वसूली
आयकर विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, पेट्रोल पंप संचालक ने टीम के समक्ष स्वीकार किया है कि उन्होंने 25 से 30 प्रतिशत कमीशन पर अपने परिचितों की पुरानी करेंसी को बैंक में जमा कराए हैं। डिप्टी डायरेक्टर(अन्वेषण) विजय कुमार ने बताया- फिलहाल दोनों व्यापारियों से 30 प्रतिशत की दर में जुर्माना राशि की वसूली की जाएगी। आयकर संशोधन बिल के नए कानून के तहत बाद में 85 प्रतिशत की दर से जुर्माना की वसूली होगी। दोनों कारोबारियों ने जुर्माना राशि अदा करने पर हामी भर दी है।
शनिवार से फिर होगा सर्वे
आयकर विभाग व्यापारियों से 17 नवंबर के बाद का भी बैंक स्टेटमेंट मंगाया रहा है। इसके आधार पर भी कार्रवाई की जाएगी। शुक्रवार को झारखंड बंद के कारण आयकर विभाग को जिला प्रशासन की ओर से अतिरिक्त पुलिस बल नहीं मिल पाएगा। इसलिए शनिवार से सर्वे का काम शुरू किया जाएगा।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Two BusinessMan Account Seize After Noteban
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Jamshedpur

      Trending Now

      Top