Home »Jharkhand »Ghatsila Zila »Galudih » ईयर फोन लगाकर कॉलेज छात्रा क्राॅस कर रही थी ट्रैक, ट्रेन से कटकर हुई मौत

ईयर फोन लगाकर कॉलेज छात्रा क्राॅस कर रही थी ट्रैक, ट्रेन से कटकर हुई मौत

Bhaskar News Network | Oct 19, 2016, 02:25 AM IST

ईयर फोन लगाकर कॉलेज छात्रा क्राॅस कर रही थी ट्रैक, ट्रेन से कटकर हुई मौत
घाटशिलारेलवे स्टेशन के निकट जनशताब्दी एक्सप्रेस की चपेट में आने से ट्यूशन पढ़कर लौट रही छात्रा मुस्कान शर्मा( 16 वर्ष) की मौत हो गई। इस क्रम में ट्रैक के किनारे उसके साथ चल रही तीन अन्य छात्राएं जख्मी हो गईं। सभी छात्राएं घाटशिला कॉलेज के इंटर कामर्स में फ़र्स्ट ईयर में पढ़ती हैं। वे एक कोचिंग सेंटर से पढ़कर पूर्वी केबिन की ओर से घाटशिला स्टेशन ट्रेन पकड़ने जा रही थीं। घायल छात्राओं का इलाज सुवर्णरेखा नर्सिंग होम में चल रहा है। जख्मी छात्राओं में गालूडीह निवासी सादवानी परवीन( 16) खुशबू कुमारी( 16) तथा रूपाली भकत ( 15) है।

कैसेहुई दुर्घटना

प्रत्यक्षदर्शियोंके अनुसार एक कोचिंग सेंटर से ट्यूशन पढ़कर पांच छात्राएं मुस्कान, खुशबू, सादवानी, रूपाली तथा पायल एक साथ घाटशिला रेलवे स्टेशन की ओर ट्रैक के किनारे से जा रही थी। उसी वक्त जनशताब्दी एक्सप्रेस हावड़ा से टाटानगर की ओर जा रही थी। घाटशिला स्टेशन पर उक्त ट्रेन का स्टॉपेज नहीं होने के कारण ट्रेन की गति तेज थी। उसी वक्त ईयर फोन लगाए मुस्कान ट्रैक पार करने का प्रयास करने लगी। उसने ट्रेन को देखा नहीं और ही उसे ट्रेन आने की आवाज सुनाई दी। इससे पूर्व की वह कुछ समझ पाती ट्रेन के झटके से ट्रैक से दूर जा गिरी। इससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। उसके आगे चल रही सादवानी परवीन भी ट्रेन के झटके से फेंका गई। खुशबू तथा रूपाली भकत के हाथ टूट गए। दुर्घटना के बाद ट्रेन कुछ देर के लिए घाटशिला स्टेशन के पास खड़ी हो गई। उसके बाद उसे आगे के लिए रवाना कर दिया गया। घटना के बाद काफी संख्या में वहां भी़ड़ जुट गई थी।

प्राचार्य ने शोक जताया: घटनाकी सूचना मिलने के बाद प्राचार्य डा. विनोद कुमार ने शोक व्यक्त कर मुस्कान की आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना की। इधर प्रो. इंदल पासवान ने सुवर्णरेखा नर्सिंग होम पहुंचकर घायल छात्राओं का हाल चाल लिया।

‘आंखें बंद हो गईं और समझी की अब इस दुनिया में नहीं हूं...’

घटनाका आंखों देखी बयां करते हुए गालूडीह निवासी रूपाली ने बताया कि सुबह बस से पांचों सहेलियां एक साथ काशिदा उतरीं तथा ट्यूशन पढ़ने के बाद वापस हावड़ा टिटलागढ़ इस्पात पकड़ने के लिए घाटशिला रेलवे स्टेशन की ओर जाने लगी। सभी सहेलियां ट्रैक के किनारे किनारे प्लेटफार्म की ओर धीरे धीरे बढ़ रही थी। टाटानगर से धालभूमगढ़ की ओर रही मालगाड़ी पर उनका ध्यान टिका हुआ था। पीछे से रही जनशताब्दी एक्सप्रेस पर किसी का ध्यान नहीं रहा। इसी चूक के कारण सभी सहेलियां ट्रेन की चपेट में गई। उनमें पायल सौभाग्यशाली रही कि उसे कुछ नहीं हुआ। रुपाली ने बताया कि घटना के समय उसकी आंख बंद हो गई थी। समझा कि वह भी अब इस दुनिया में नहीं रही। चार मिनट तक ट्रैक के किनारे गिरी रही। दो सहेलियां लहूलुहान होकर गिरी पड़ी हैं। सबका ध्यान सादवानी पर था। मुस्कान पांच मिनट तक तड़पती रही। उसके बाद वह दुबारा नहीं उठी।

कौन थी मुस्कान

गालूडीहनिवासी स्व.भरत शर्मा की बड़ी पुत्री मुस्कान शर्मा उर्फ ज्योति घर की बड़ी बेटी थी। वह भाजपा नेता दीपू शर्मा की चचेरी बहन थी। मुस्कान की एक छोटी बहन तथा एक भाई है। उसके पिता की वर्षों पहले बीमारी के कारण मौत हो गई थी। मुस्कान घाटशिला कॉलेज में प्रथम वर्ष कॉमर्स की छात्रा थी। उसने महुलिया उच्च विद्यालय से प्रथम श्रेणी से मैट्रिक की परीक्षा पास की थी। उसके साथ हुए हादसे की सूचना सुनकर गालूडीह तथा आसपास के क्षेत्रों में मातम छा गया।

माता-पिताबरतें सावधानी

इससंबंध में कालेज के प्रोफेसर इंदल पासवान ने बताया कि बच्चों को मोबाइल फोन देते समय माता-पिता सावधानियां बरतें। मोबाइल फोन का यूज करने के बारे में बारीकी से जानकारी दें। कहां फोन का यूज करना है, कहां नहीं, इस बारे में पूरी जानकारी बच्चों को दें। थोड़ी सी लापरवाही की भारी कीमत चुकानी पड़ती है। कॉलेज के विद्यार्थी अपना अधिकतर समय मोबाइल फोन पर बिताते हैं। इसका दुष्प्रभाव पढ़ाई तथा स्वास्थ्य दोनों पर पड़ता है।

^रेलवे स्टेशन के समीप जनशताब्दी एक्सप्रेस की चपेट में आने से एक छात्रा की मौत हो गई। उसके साथ चल रही तीन अन्य छात्राएं जख्मी हो गई हैं। उनका बयान दर्ज किया गया है। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को शव सौंप दिया गया है। -औरंगजेब,जीआरपी प्रभारी, घाटशिला

^ट्रेनकी चपेट में आने के बाद दो छात्राओं को यहां भर्ती कराया गया है। यहां सादवानी तथा रूपाली का इलाज कराया जा रहा है। रूपाली का हाथ फ्रैक्चर हो गया है। उसे प्राथमिक इलाज के बाद छोड़ दिया गया। बाद में हाथ का प्लास्टर कराया गया। सादवानी का इलाज जारी है। - रंजीत, संचालक सुवर्णरेखा नर्सिंग होम।

ईयर फोन लगाकर सुन रही थी गाना: प्रत्यक्षदर्शियोंके अनुसार मुस्कान ईयर फोन लगाकर गाना सुनते हुए ट्रैक के किनारे चल रही थी। स्टेशन करीब पहुंचने के बाद ट्रैक क्रास करने लगी। उसी समय जनशताब्दी की चपेट में गई। हालांकि उसकी सहेलियों का कहना था कि वह ईयर फोन लगाकर गाना नहीं सुन रही थी।

टूटे हाथ 3का इलाज कराती घायल छात्रा।

घायल छात्रा।

मुस्कान शर्मा उर्फ ज्योति।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: ईयर फोन लगाकर कॉलेज छात्रा क्राॅस कर रही थी ट्रैक, ट्रेन से कटकर हुई मौत
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

    More From Galudih

      Trending Now

      Top