Home »Jharkhand »Giridih Zila »Giridih » 100 साल बाद महासंयोग के साथ स्त्रियां आज रखंेगी करवा चौथ व्रत, होगा विशेष फलदायी

100 साल बाद महासंयोग के साथ स्त्रियां आज रखंेगी करवा चौथ व्रत, होगा विशेष फलदायी

Bhaskar News Network | Oct 19, 2016, 02:30 AM IST

100 साल बाद महासंयोग के साथ स्त्रियां आज रखंेगी करवा चौथ व्रत, होगा विशेष फलदायी
कार्तिककृष्ण पक्ष में करक चतुर्थी अर्थात करवा चौथ का लोकप्रिय व्रत सुहागिन और अविवाहित स्त्रियां पति की मंगल कामना एवं दीर्घायु के लिए निर्जल रखती हैं। इस दिन केवल चंद्र देवता की पूजा होती है अपितु शिव-पार्वती और कार्तिकेय की भी पूजा की जाती है। इस दिन विवाहित महिलाओं और कुंवारी कन्याओं के लिए गौरी पूजन का भी विशेष महात्म्य है। इस वर्ष, यह व्रत विशेष रूप से फलदायी होगा। क्योंकि 100 साल बाद करवा चौथ का महासंयोग बना है। रोहिणी नक्षत्र, बुधवार, सर्वार्थ सिद्धि योग एवं गणेश चतुर्थी का संयोग इसी दिन है जो ज्योतिषीय दृष्टि से बहुत अच्छा माना जाता है। गणेश जी की पूजा का भी विशेष महत्व रहेगा। चंद्रमा स्वयं, शुक्र की राशि वृष में उच्च के होंगे। बुध स्व राशि कन्या में और शुक्र शनि एक ही राशि में विराजमान होंगे। यही नहीं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार भी शुक्र प्रेम का परिचायक है। इस दिन शुक्र ग्रह, मंगल की राशि वृश्चिक में है जिससे संबंधों में उष्णता रहेगी। बुधवार की सायं 07.33 बजे तक चतुर्थी तिथि रहेगी।

ज्योतिषाचार्य उमेश शास्त्री की मानें तो इस बार करवा चौथ का ये व्रत हर सुहागिन की जिंदगी संवार सकता है, लेकिन इसके लिए इस दिव्य व्रत से जुड़े नियम और सावधानियों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। केवल सुहागिनें या जिनका रिश्ता तय हो गया हो वही स्त्रियां ये व्रत रख सकती हैं। व्रत रखने वाली स्त्री को काले और सफेद कपड़े कतई नहीं पहनने चाहिए।

करवा चौथ क्यों है इतना खास

कहतेहैं जब पांडव वन-वन भटक रहे थे तो भगवान श्री कृष्ण ने द्रौपदी को इस दिव्य व्रत के बारे बताया था। इसी व्रत के प्रताप से द्रौपदी ने अपने सुहाग की लंबी उम्र का वरदान पाया था। करवा चौथ के दिन श्री गणेश, मां गौरी और चंद्रमा की पूजा की जाती हैचंद्रमा पूजन से महिलाओं को पति की लंबी उम्र और दांपत्य सुख का वरदान मिलता है। विधि-विधान से ये पर्व मनाने से महिलाओं का सौंदर्य भी बढ़ता है। करवाचौथ की रात सौभाग्य प्राप्ति के प्रयोग का फल निश्चित ही मिलता है

ज्योतिषाचार्य उमेश शास्त्री का मानना है की 2016 में करवा चौथ का व्रत रखने से 100 व्रतों का वरदान प्राप्त होगा। केवल पति की उम्र लंबी होगी बल्कि संतान सुख भी प्राप्त होगा। ये योग इस करवा चौथ को दिव्य और चमत्कारी बना रहे हैं, 100 साल बाद करवा चौथ का महासंयोग, करवा चौथ का त्यौहार इस बार बुधवार को मनाया जा रहा है, बुधवार को शुभ कार्तिक मास का रोहिणी नक्षत्र है, इस दिन चन्द्रमा अपने रोहिणी नक्षत्र में रहेंगे, इस दिन बुध अपनी कन्या राशि में रहेंगे, इसी दिन गणेश चतुर्थी और कृष्ण जी की रोहिणी नक्षत्र भी है, बुधवार गणेश जी और कृष्ण जी दोनों का दिन है, ये अद्भुत संयोग करवा चौथ के व्रत को और भी शुभ फलदायी बना रहा है, इस दिन पति की लंबी उम्र के साथ संतान सुख भी मिल सकता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: 100 साल बाद महासंयोग के साथ स्त्रियां आज रखंेगी करवा चौथ व्रत, होगा विशेष फलदायी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Giridih

        Trending Now

        Top