Home »Jammu Kashmir »Kashmir» Curfew In Kashmir Holi And Diwali In India

कश्मीर में कर्फ्यू, देश में होली-दिवाली

भास्कर न्यूज नेटवर्क | Feb 10, 2013, 05:57 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
कश्मीर में कर्फ्यू, देश में होली-दिवाली
नई दिल्ली, श्रीनगर, लखनऊ, भोपाल।अफजल गुरु को फांसी दिए जाने के बाद से पूरे देश में एहतियातन सुरक्षा बढ़ा दी गई है। रविवार को मौनी अमावस्या पर इलाहाबाद कुंभ क्षेत्र में कमांडो दस्तों को तैनात किया गया है। कश्मीर के सभी दस जिलों में कफ्यरू लागू है।
जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे बंद कर दिया गया। अफजल के गृह जिले सोपोर में पुलिस पर पथराव हुआ। पुलिस ने गोली चलाई। इस संघर्ष में 23 पुलिसकर्मियों समेत 36 लोग घायल हुए। इन हालात में कश्मीर यूनिवर्सिटी ने परीक्षाएं टाल दी हैं। कश्मीर में सीमा पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है। अतिरिक्त फोर्स को तैनात किया गया है। दूसरी ओर गुरु को फांसी दिए जाने पर देशभर में खुशी मनाई गई।
अफजल को फांसी दिए जाने के 12 घंटे पहले से ही श्रीनगर में हलचल शुरू हो गई थी। शुक्रवार रात आठ बजे मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने इस बारे में जानकारी मिलते ही राज्य की पुलिस फोर्स और पैरामिल्रिटी फोर्स को अलर्ट कर दिया। पुलिस एक्शन रात दस बजे से शुरू हुआ। लोग समझे कोई बड़ा आतंकी हमला हुआ है। वे घरों में ही दुबके रहे। फिर शनिवार फÊार (सुबह) की नमाज के बाद सुरक्षाबलों ने लाउड स्पीकर पर हिदायत देनी शुरू कर दी कि लोग घरों में ही रहें। ये सस्पेंस सुबह आठ बजे खत्म हुआ।
केबल, एसएमएस और इंटरनेट बंद
शनिवार सुबह से घाटी में केबल नेटवर्क और मोबाइल इंटरनेट बंद करा दिया गया। बल्क एसएमएस पर भी रोक लगा दी गई। हालांकि, प्रीपेड मोबाइल पर एसएमएस 2010 से ही बंद है।
नरेंद्र मोदी का महाकुंभ दौरान रद्द
नई दिल्ली.गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुरक्षा कारणों से महाकुंभ दौरा रद्द कर दिया है। वे 12 फरवरी को इलाहाबाद जाने वाले थे। संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु को फांसी दिए जाने के बाद मोदी की सुरक्षा की समीक्षा की गई और फैसला लिया गया कि वे महाकुंभ नहीं जाएंगे। गुरु को फांसी के बाद गृह मंत्रालय के निर्देश पर महाकुंभ में भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है, बावजूद इसके मोदी की सुरक्षा टीम ने फैसला लिया कि दौरा रद्द करना ही बेहतर रहेगा। दरअसल, मोदी की महाकुंभ यात्रा को लेकर अटकलें थीं कि संत समाज से हरी झंडी मिलने के बाद भाजपा उन्हें पीएम पद का उम्मीवार घोषित करेगी।
फांसी के पहले से दिल्ली आने लगे थे फोन
कश्मीर घाटी से लोगों ने सुबह से ही दिल्ली में अपनी पहचान वालों से पड़ताल शुरू कर दी थी। पूछा जा रहा था कि यहां पर बिना किसी विवाद-तनाव के कफ्यरू लगा दिया गया है। शायद कुछ गड़बड़ है। मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और राज्य के डीजीपी भी अचानक जम्मू से कश्मीर आ गए हैं। कई इलाकों में केबल टीवी के प्रसारण पर रोक लगा दी गई है। राजनीति और मीडिया से जुड़े कश्मीर के कुछ लोगों ने दिल्ली में अपने संपर्को से यह भी जानने का प्रयास किया कि कहीं यह तैयारी अफजल की फांसी से जुड़ी तो नहीं।
घाटी में विरोध
> हुर्रियत नेता मीरवाइज उमर फारुक ने कहा कि अफजल गुरु की फांसी पर श्रीनगर में चार दिन तक शोक मनाया जाए।
> पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में तीन दिन के शोक की घोषणा की गई है। वहां इस दौरान झंडा झुका रहेगा।
> जम्मू-कश्मीर लिब्रेशन फ्रंट के प्रमुख यासीन मलिक ने इस्लामाबाद में 24 घंटे की भूख हड़ताल शुरू कर दी है।
राजनीति भी हुई
> अफजल को फांसी की खबर के बाद नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया- ‘देर आए, दुरुस्त आए।’ भाजपा पूरे दिन फांसी में देरी का ही सवाल उठाती रही।
> शिवसेना ने कहा बाल ठाकरे की इच्छा पूरी हुई।
> केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी बोले फांसी राजनीति के तहत नहीं, राष्ट्रपति द्वारा माफी याचिका खारिज किए जाने के बाद प्रक्रिया के तहत दी गई।
गुरु की मौत का जश्न, फांसी का विरोध भी
संसद पर हमले के आरोपी को फांसी दिए जाने की खबर आते ही जंतर-मंतर पर कश्मीरी युवकों का समूह पहुंचा और मिठाइयां बांटीं। उनके साथ बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता भी थे। हालांकि, इसी दौरान पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टी (पीयूसीएल) के कार्यकर्ताओं से इनकी झड़प हुई। जो फांसी की सजा का विरोध कर रहे थे। मुंबई में शिवसेना नेताओं ने लोगों में मिठाई बांटकर अफजल गुरु को फांसी दिए जाने का जश्न मनाया। अहमदाबाद, हैदराबाद में भी पटाखे फोड़े गए।
>> आज मैं बहुत खुश हूं। ये इंतजार परेशान कर रहा था। गुस्से में मैंने पति को मिले मैडल लौटा दिए थे।
-प्रेम यादव (संसद हमले में शहीद जेपी यादव की पत्नी)
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Curfew in Kashmir Holi and Diwali in India
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Kashmir

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top