• देखिये ट्रेनडिंग न्यूज़ अलर्टस
Home » Jokes » Badle Ki Aag » Funny Jokes Pics Shared On WhatsApp/Social Sites

बदले की आग

सोशल बोल: चुनाव में चिड़िया गिनने वाले

सोशल बोल: चुनाव में चिड़िया गिनने वाले

कुछ प्राणी शीतनिद्रा में होते हैं, ठंड बीतते ही अचानक एक्टिव हो जाते हैं। ऐसा ही एक प्राणी और होता है। जो "चीट-निद्रा' में होता है। और पांच साल में एक बार अचानक से एक्टिव हो जाता है। विज्ञान की किताबों में उसे नेता कहा जाता है। पांच साल में एक्टिव होने वाला नेता सिर्फ चुनावों के लिए हाथ-पैर नहीं मारता। कई बार वो इस पार्टी से उस पार्टी में भी गुलाटी मारता है। पांच साल में यही वो समय होता है, जब अचानक से उसकी अंतर्रात्मा जाग जाती है, मानो अंतर्रात्मा अब तक आदर्श आचार संहिता लगने के इंतज़ार में थी।
दल बदलने वाले नेता का दिल चोट खाए आशिक की तरह हो जाता है। हमेशा एक ही शिकायत रहती है। उसने मुझे समझा ही नहीं। जिस तरह से ब्रेकअप के बाद प्रेमी जोड़ों को एक-दूसरे में खोट ही खोट नज़र आने लगते हैं। वैसा ही दल बदलने वाले नेता और छोड़ी गई पार्टी के साथ होता है। हाल ही में एक नेता ने कहा, मेरी पिछली पार्टी कौशल्या नहीं कैकई थी। बदले में पार्टी का जवाब आया, बेटा तुम भी तो कभी राम या श्रवण कुमार नहीं रहे। इसके अलावा जाने वाले नेता की कई छोटी-मोटी शिकायतें भी होती हैं, जिनको सुलझाने के लिए बैठा जाए तो एक राज्य सरकार का पांच साल का पूरा कार्यकाल उनकी शिकायतें सुलझाने में बीत जाए।
चुनावों के ठीक पहले का मौसम प्रयास और प्रवास का होता है। नेता पहले प्रयास करता है, उसे टिकट मिल जाए। उसे मिल गया तो बेटे-बेटी को मिल जाए और अगर प्रयास असफल रहें तो प्रवास कर लेता है। मतलब एक पार्टी से दूसरी पार्टी में चला जाता है। अखबार में दलबदल की खबरें वैसे ही बढ़ जाती हैं, जैसे किसी खास मौसम में किसी खास प्रजाति के पक्षियों का झुण्ड बनाकर एक ही दिशा में उड़ना। पार्टियां भी इसके लिए तैयार होती हैं, जितने जा रहे होते हैं, उसके दोगुने वो सामने की पार्टी से खींच लेती हैं। दलबदल कई बार आपसी सहमति से भी होता है, दोनों पक्ष खुश रहते हैं, नेता ये सोच कर खुश रहता है कि पुरानी पार्टी के कर्मों से उसका पिंड छूटा और पार्टी येे सोचकर कि नेता के ऊट-पटांग बयानों की जिम्मेदारी तो नहीं लेनी होगी।׀ लेकिन हमेशा ऐसा नहीं होता कि दलबदल का कार्यक्रम शांति से निबट जाए। खैर पार्टियां भी अब प्रोफेशनल हो गई हैं, उन्होंने आने-जाने के मौसम में संख्याओं पर नज़र रखने के लिए कुछ विशेषज्ञ बुला लिए हैं, जो आंकड़ों पर नज़र रखते हैं। सूत्र बताते हैं, ये वही विशेषज्ञ हैं, जो पहले प्रवासी पक्षियों पर नज़र रखते थे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Email Print Comment
Web Title: Funny Jokes pics shared on WhatsApp/social sites
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

STORIES YOU MAY BE INTERESTED IN