Home »Khabre Zara Hat Ke »Weird World» Indonesia Toraja People And Their Unique Burial Rites

12 साल से मुर्दे के साथ रह रही है यह फैमिली, मानती है उसको जिंदा

dainikbhaskar.com | Apr 21, 2017, 13:23 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
इंडोनेशिया का एक परिवार पिछले 12 साल से मृत बुजुर्ग की डेड बॉडी के साथ रह रहा है। परिवार वाले मृत शरीर को जीवित की तरह ट्रीट करते हैं। रोजाना उसके लिए खाना-पानी, कपड़े, साफ-सफाई, यहां तक कि सिगरेट वगैरह का इंतजाम भी किया जाता है। आपसी बातचीत में भी उसके लिए ऐसे शब्दों का प्रयोग करते हों, मानो वे जिंदा हों और बस बीमार हों। दरअसल, पिछले 12 बरस से उस मृतक के अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही है। जानिए क्या है मामला...
घर में ही महीनों और बरसों तक रखे जाते हैं मुर्दे
-इस परिवार की सदस्य मामक लिसा जब किसी गेस्ट से बात करती है, तो कहती है कि उसके पिता बीमार हैं। वह घर के एक कमरे में ताबूत में लिटाकर रखी गई डेड बॉडी के पास जाकर पूछती है कि बाहर से कुछ लोग आपसे मिलने आए हैं, इससे आपको परेशानी तो नहीं होगी?
-यह अकेला परिवार नहीं है, जो ऐसा कर रहा है। इंडोनेशिया के दक्षिणी सुलावेसी द्वीप पर रहने वाली तोराजा कम्युनिटी में यह एक आम रिवाज है। वे लोग शव को दफनाए जाने से पहले घर में ही रखते हैं।
-इन लोगों में अंतिम संस्कार बहुत खर्चीला होती है। कई पशुओं की बलि देकर पूरे समाज को खिलाना-पिलाना होता है। इस तरह अंतिम संस्कार कई दिनों तक चलता है।
-कहते हैं कि इसमें इंडोनिशया में सालाना मिलने वाली एवरेज सैलरी से भी कई गुना ज्यादा खर्च हो जाता है। जब तक अंतिम संस्कार के लिए पैसे नहीं जुट जाते, परिवार मृत सदस्य को अपने साथ ही रखता है।
-इस दौरान मुर्दे के भीतर इंजेक्शन से फार्मेलिन रसायन डाला जाता है, ताकि वह सड़े नहीं। उसे ताबूत में लिटाकर घर के भीतर ही रखा जाता है। उसके लिए बाकायदा खाना, नाश्ता, पानी आदि का इंतजाम होता है। रोजे उसके कपड़े बदले जाते हैं, रात को ढीले कपड़े पहनाए जाते हैं।
-इस दौरान परिवार के सदस्य दैनिक व्यवहार और बातचीत में मृत सदस्य को जीवित की तरह ही ट्रीट करते हैं।
अंतिम संस्कार के बाद भी नहीं छूटता अपनों का साथ
- इस कम्युनिटी में मृतक को दफना दिए जाने के बाद साल में एक बार कब्र से निकालकर बाकायदा नहलाया-धुलाया जाता है और बाल संवारकर नए कपड़े पहनाए जाते हैं।
-स्थानीय भाषा में इस रिवाज को माएने कहा जाता है, जिसका मतलब होता है, शवों को साफ करने का समारोह। इस दौरान बुजुर्गों ही नहीं, बच्चों के शवों को भी बाहर निकाला जाता है।
-शवों को कब्रों से निकालकर वहां ले जाया जाता है, जहां व्यक्ति की मौत हुई थी, फिर उसे गांव लाया जाता है। गांव तक लाने के दौरान सीधी रेखा में चला जाता है। इस दौरान मुड़ना या घूमना वर्जित होता है।
-तोराजा लोग डेड बॉडीज को जमीन के भीतर दफनाने के बजाय ताबूत में रखकर गुफाओं में रखते हैं। वहां अमीर लोग अपने रिलेटिव्स के लकड़ी के पुतले बनवाकर भी रखते हैं।
आगे की स्लाइड्स में देखिए इन विचित्र परंपराओं से जुड़ी 8 और तस्वीरें...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Indonesia Toraja People And Their Unique Burial Rites
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Weird World

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top