Home »Lifestyle »Health And Beauty» Know Every Thing About World First Human Head Transplant

पहली बार होगा इंसानी सिर का ट्रांसप्लांट, रशियन पर होगा एक्सपेरिमेंट

dainikbhaskar.com | Apr 24, 2017, 17:42 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
हेल्थ डेस्क।हमारे पुराणों में भगवान गणेश के धड़ पर हाथी का सिर प्लांट करने की कथा है। इस कांसेप्ट को रियल वर्ल्ड में साकार करने के लिए इटली के एक साइंटिस्ट तैयारी कर रहे हैं। अगर सबकुछ योजनानुसार रहा तो इस साल दिसंबर में ह्यूमन हेड ट्रांसप्लांट का सपना हकीकत में बदल सकता है। कौन करेगा ह्यूमन हेड ट्रांसप्लांट?
 
इटैलियन न्यूरोसर्जन सर्गियो कैनावेरो इस हेड ट्रांसप्लांट को करने जा रहे हैं। उनका दावा है कि उन्होंने 30 साल इस प्रोसीजर पर रिसर्च की है और अब आधुनिक मेडिकल साइंस की मदद से वह दुनिया का पहला ह्यूमन हेड ट्रांस्प्लांट करने के लिए तैयार हैं। यह ट्रांस्प्लांट 31 साल के रशियन प्रोग्रामर वालेरी स्पिरिडोनोव  पर किया जाएगा। वह एक गंभीर बीमारी के कारण चलने फिरने में असमर्थ हैं।  उन्होंने इस ट्रांसप्लांट में वॉलंटियर बनने के लिए सहमति दी है। ट्रांसप्लांट में वालेरी का  सिर काटकर उनकी बॉडी से अलग किया जाएगा और उनकी ही कद काठी और दूसरी अनुकूल विशेषताओं वाले किसी ब्रेन डेड व्यक्ति की बॉडी में लगाया जाएगा। 
 
कैसे होगा ह्यूमन हेड ट्रांसप्लांट?
-डॉ. सर्गियो ने ह्यूमन हेड ट्रांसप्लांट के इस पूरे प्रोसीजर को दो भागों में बांटा है पहले प्रोसीजर को उन्होंने नाम दिया है हेवन HEAVEN (HEad Anastomosis VENture) और उसके बाद के प्रोसीजर का नाम है GEMINI (जिसमें स्पाइनल कॉर्ड को ट्रांसप्लांट किया जाएगा)
-इस के लिए दो टीम बनाई जाएंगी जो डोनर और रिसीवर पर एक साथ काम करेंगी। दोनों पेशेंट की गर्दन में गहरा चीरा लगाकर आर्टरीज, नसें और स्पाइन को बाहर निकाला जाएगा। जिस तरह इलेक्ट्रिक वायर को जोड़ा जाता है उसी तरह मसल्स को लिंक करने के लिए कलर कोड बनाए जाएंगे।
-पेशेंट्स की गर्दन काटने के लिए $200,000 ( लगभग एक करोड़ 30 लाख रुपए) कीमत की डायमंड नैनोब्लेड का इस्तेमाल किया जाएगा। यह नैनोब्लेड यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सस द्वार प्रोवाइड करवाई जाएगी। 
-दोनों पेशेंट की गर्दन कट जाने के घंटे भर के भीतर ही वॉलंटियर की गर्दन को डोनर के धड़ में जोड़ने की प्रोसेस शुरु की जाएगी। 
-डोनर के धड़ को जिंदा रखने के लिए उसमें ट्यूब्स के जरिए ब्लड सर्कुलेशन बनाए रखा जाएगा।  खून की नलियों में 15 से 30 मिनट तक खास किस्म का ग्लू (chitosan-PEG glue) डाला जाएगा और कच्चे टांके लगा दिए जाएंगे।
-सारी नसों और स्पाइनल कॉर्ड को कोडिंग और मार्किंग के हिसाब से जोड़ा जाएगा। एक विशेष प्लास्टिक सर्जन स्किन को सिलने और जोड़ने का काम करेगा। 
-पूरे प्रोसीजर के बाद नए बने शरीर को 3 दिन तक सर्वाइकल कॉलर लगाकर आईसीयू में रखा जाएगा। 
 
खर्च, समय और मैनपॉवर
इस ऑपरेशन प्रोसीजर में लगभग 36 घंटे लगने का अनुमान है। पूरे ऑपरेशन की लागत लगभग 20 मिलियन डॉलर (लगभग 130 करोड़ रुपए) संभावित है और इसमें लगभग 150 लोगों की टीम काम करेगी जिसमें डॉक्टर्स, नर्सेस, टेक्नीशियन्स, सायकोलॉजिस्ट्स और वर्चुअल रिएलिटी इंजीनियर्स शामिल हैं। 
 
कहां होगा ऑपरेशन
हालांकि अभी आपरेशन के लिए देश या अस्पताल तय नहीं किया गया है लेकिन सर्जन कैनावेरो का कहना है कि वे इंग्लैंड में इस ऑपरेशन को करना चाहते हैं क्योंकि वहां उन्हें भरपूर समर्थन मिल रहा है। अगर किसी कारण से इंग्लैंड सरकार इजाजत नहीं देती है तो फिर वे किसी और कंट्री में ऑपरेशन करेंगे। इस बात की भी संभावना है कि डॉ. कैनावेरो अपने चाइनीज सहयोगी डॉ. रेन जियाओपिंग के साथ मिलकर चीन में यह ऑपरेशन करें। डॉ. रेन जियाओपिंग ने साल भर पहले बंदर का हेड ट्रांसप्लांट किया था और वह डॉ. कैनावेरो के साथ मिलकर हजार से अधिक चूहों पर इस तरह का प्रयोग कर चुके हैं। 
 
आगे की स्लाइड्स में जानिए इस प्रोजेक्ट को लेकर क्या सवाल उठ रहे हैं?
 
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: know every thing about world first human head transplant
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Health and Beauty

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top