Home »Lifestyle »Wellness» Health Tips

PHOTOS: ये हैं नव वर्ष में हेल्थ के टॉप 5 मंत्र

Danik bhaskar.com | Jan 05, 2013, 16:48 IST

  • नए साल में सेहतमंद जिंदगी जीने के लिए विशेषज्ञ आपके नए संकल्पों को पूरा करने में सहयोग दे रहे हैं। नए उत्साह और नई उमंग के साथ 2013 में तन-मन की बेहतरी के लिए इनके सुझाव शरीर को ऊर्जावान, मन को प्रसन्न और जीवन को खुशहाल बनाएंगे।




    तस्वीरों के जरिए जानिए सेहतमंद जिंदगी से जुड़े खास टिप्स...।

    1. नए साल में स्ट्रेस को कहें बाय-बाय



    नया साल आ पहुंचा है और हम में से कई लोग चाहते होंगे कि 2013 में स्ट्रेस से पीछा छूट जाए। क्यों न इस बला से निजात पाने के पांच प्रभावी तरीकों पर गौर किया जाए। सबसे पहले यह याद रखना चाहिए कि कुछ चीजें मनोरंजन के लिए होती हैं। कुछ लोग व्यायाम में कैलोरी घटाने और सैर या जॉगिंग के घंटों को लेकर या फिर वेकेशन की प्लानिंग करते वक्त इतने तनाव में आ जाते हैं कि उन्हें यह याद नहीं रहता कि इन चीजों का मकसद तनाव बढ़ाना नहीं घटाना था।

    दूसरी बात यह कि मुझे लगता है कि आलस की वजह से लोगों के रिश्ते?नाते कमजोर पड़ रहे हैं। हमें जिंदगी में कुछ ऐसे रिश्तेजरूर रखने चाहिए, जिनसे सभी दुख?दर्द बांट सकें। तीसरा मंत्र यह है कि जो भी लक्ष्य या मंजिल तय करें, उस तक पहुंचनानामुमकिन या बेहद मुश्किल न हो। कुछ लोग कहते हैं कि ख्वाब जितना बड़ा होगा, उतना अच्छा। बड़े लक्ष्य तक न पहुंचने परहमें झल्लाहट होती है और निराशा घर कर लेती है।

    स्ट्रेस को जिंदगी से दूर रखने का चौथा कारगर उपाय है, नाकामी मिलने परहारकर बैठने से कुछ नहीं होगा। इसलिए हमेशा कोशिश करते रहिए। और आखिर में स्ट्रेस से परेशान रहने वाले बच्चों की बात।

    उन्हें इससे दूर रखने के लिए जरूरी है कि मां-बाप उनकी क्षमताओं पर गौर करें। उसे पहचानकर उसकी कुशलता को बढ़ानाआवश्यक है। ये पांच मंत्र नए साल में हमें स्ट्रेस से दूर रखेंगे।

    डॉ. पुलकित शर्मा/ क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट, विमहांस, दिल्ली

  • 2. रात को बढ़िया नींद तो दिन अच्छा


    पूरे दिन अगर तरोताजा और चुस्त रहना है तो रात को 7-8 घंटे की नींद जरूरी है। रात को एक्सरसाइज करने या जिम जाने से हमेशा बचें क्योंकि इससे नींद खराब होगी। सोने से पहले अच्छी नींद के लिए सिर्फ शवासन कर सकते हैं। लेटने के बाद अगर 20-30 मिनट में आपको नींद नहीं आ पा रही है तो बेड से उठ जाइए। कोई हल्की?फुल्की एक्टिविटी करें और नींद आने पर ही दोबारा बिस्तर का रुख करें। रात को 8-9 बजे के बाद तेज रोशनी में बैठने की बजाय कमरे की लाइट डिम कर दें। डिम लाइट के प्रभाव से बॉडी में मौजूद मेलॉटोनिन हार्मोन धीरे?धीरे नींद का अहसास कराता है, जबकि आंखों पर तेज रोशनी पड़ने से नींद उचटती है। बिस्तर पर जाने से पहले टीवी पर कोई भी इमोशनल सीरियल या फिल्म देखने से हमेशा बचें क्योंकि इससे भी नींद में खलल पड़ता है। सोने से कुछ घंटे पहले चाय, कॉफी और स्मोकिंग से भी परहेज करें। सभी का सोने और उठने का वक्त अलग?अलग होता है और उसी वक्त पर सोएं। अगर आप अपने सोने के वक्त एकदम बदलना चाहेंगे तो अच्छी नींद आने में मुश्किल हो सकती है।

    - डॉ. मंजरी त्रिपाठी/ एडिशनल प्रोफेसर, न्यूरोलॉजी डिपार्टमेंट, एम्स, दिल्ली

  • 3. दस मिनट योग, भगाए रोग



    हमें पता है आप बहुत व्यस्त रहते हैं। इतने व्यस्त कि अपनी सेहत का भी ध्यान नहीं रख पाते। फिक्र मत करें। रोज कम से कम 10-15 मिनट तो निकाल लेंगे योग करने के लिए। यकीन मानिए कि अगर आप योग के लिए इतना वक्त भी निकाल लें, तो आप रोगों को दूर भगा सकते हैं। योग में करीब 150 आसन हैं, बेहतर होगा कि आप किसी अनुभवी योग गुरु से बात करने के बाद अपनी जरूरत के मुताबिक आसन करें। अगर आप रोज लंबे समय तक कंप्यूटर पर काम करते हैं तो गर्दन के दर्द से परेशान हो सकते हैं। इससे मुक्ति पाने के लिए आपको भुजंगासन या ताड़ासन करना चाहिए। आपको इन्हें करने से आराम मिलेगा और आप गर्दन के दर्द से बचे रहेंगे। करियर की आपाधापी और डेडलाइन पर काम पूरा करने के दबाव के चलते हम तनाव में रहने लगे हैं। हमें बात-बात पर गुस्सा भी आने लगता है। पर आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आप वज्रासन, धनुरासन या शवासन की शुरुआत करें, तो इससे आपको फायदा होगा। आपका मन शांत रहने लगेगा। आपको अपने बॉस का चेहरा या डेडलाइन परेशान नहीं करेगी। आप इन दिनों घर से बाहर का भी बहुत खाना खाने लगे हैं।

    व्यायाम का वक्त भी नहीं निकाल पाते। मोटापा भी बढ़ रहा है। कहीं आप दिल के मरीज तो नहीं बन रहे। आपके लिए शवासन रामबाण का काम कर सकता है। हां, आप चक्रासन और धनुरासन भी कर लें तो मोटापे को भी मात दे सकते हैं। कुछ जरूरी बातें और। आप ध्यान रखें कि योग करने से पहले आपका पेट खाली हो। योग के दौरान बातचीत करने से बचें। देर मत कीजिए। योग अपनाएं, रोग दूर भगाएं।

    -बी के एस अयंगर/ रामामणि अयंगर मेमोरियल, पुणो

  • 4. खेल-खेल में बनाएं सेहत



    नए साल में संकल्प लिजिए कि बैडमिंटन, साइक्लिंग, टेनिस या कोई अन्य खेल जिसमें शारीरिक भागदौड़ शामिल हो, उसे अपने प्रतिदिन का हिस्सा बनाएंगे। अगर खेलने में रुचि न हो तो रोज सुबह 45 मिनट तेज कदमों से सैर करें। नए साल में फल खाएं, ज्यादा तेल और फैट को न कहें। धीरे-धीरे ग्लूटेन से बचाव करें। यह ऐसा प्रोटीन है, जो ब्रेड, पास्ता जैसी चीजों में पाया जाता है। शरीर के लिए इन्हें पचा पाना बहुत मुश्किल होता है। इसका लगातार सेवन आंत को कमजोर करता है, पाचन क्रिया को भी नुकसान पहुंचाता है। योग को भी जीवन की हिस्सा बनाएं। जिंदगी को थोड़ा नियमित करने की कोशिश करें। पर्याप्त सोएं और खुद को परेशानियों से मुक्त रखें। इस साल के संकल्प को यूं ही न जाने दें। उस पर अमल भी करें।

    -उमंग यादव/ मैनेजर, तलवलकर्स जिम चेन, जयपुर

  • 5. परहेज सबसे अच्छी दवा



    खांसी, बुखार और पेट खराब होने जैसी बेहद सामान्य बीमारियों से नए साल में निजात चाहते हैं तो परहेज से बेहतर कुछ नहीं है। मेरा मानना है कि इस मौसम में नींबू, मूली, आंवला, केला, अमरूद और दही से दूर रहना चाहिए। इनमें विटामिन-सी भले ही होता है, लेकिन इनकी प्रकृति अम्ल रस की होती है। इससे कफ बढ़ता है। इसके अलावा, ठंडे पानी से भी बचना चाहिए। बुखार: आम तौर यह अपच, इंफेक्शन या एलर्जी से होता है। सबसे जरूरी है डाइट नियंत्रित करना। धूल, धुएं और सिगरेट से दूर रहना भी जरूरी है। बुखार होते ही एंटीबायाटिक्स लेना गलत है। इससे आपके शरीर पर उल्टा प्रभाव पड़ सकता है। क?ज या अपच: ज्यादातर लोग इससे परेशान रहते हैं। इसकी मूल वजह है मंदाग्नि। गलत खानपान, असमय खाना या बार?बार खाने की आदत से यह समस्या बढ़ती है। इसलिए, सबसे पहले आहार का रूटीन तय करना अहम है। यह समस्या कब्ज में तब्दील हो जाती है। और, अगर अपशिष्ट में एबनॉर्मल प्रोडक्शन होने लगे तो यह कई बड़ी बीमारियों की वजह बन सकता है।

    -डॉ. नीरू नथानी/ असिस्टेंट प्रोफेसर, आयुर्वेद विभाग, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Health tips
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Wellness

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top