Home »Chhatisgarh »Raipur »News » दो हजार करोड़ का बनेगा सीबीडी

दो हजार करोड़ का बनेगा सीबीडी

Matrix News | Sep 08, 2013, 03:24 AM IST

रायपुर.नई राजधानी में दो हजार करोड़ रुपए की लागत से सेंट्रल बिजनेस डिस्ट्रिक्ट (सीबीडी) का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए सेक्टर-21 में सौ एकड़ के क्षेत्र को चुना गया है। सीबीडी प्रदेश ही नहीं देश का अत्याधुनिक बिजनेस व कॉर्पोरेट हब होगा। सीबीडी का मास्टर प्लान सिंगापुर की कंपनी मेन हर्ट्स ने बनाया है। सीबीडी को विकसित करने के लिए प्रथम चरण में हाईराइज टॉवर व भवन बनाए जाएंगे।

इसके लिए एनआरडीए ने टेंडर जारी करने के साथ ही दो बड़े डेवलपर्स को काम भी सौंप दिया गया है। व्यापार के इस बड़े केंद्र के शुरू होने से प्रत्यक्ष रूप से 25 हजार लोगों को रोजगार मिलने का दावा एनआरडीए कर रहा है।

सीबीडी को पूरा विकसित होने में 3-4 साल का समय लगेगा। यहां दस से अधिक हाईराइज टॉवर बनाने के लिए एक साल का लक्ष्य रखा गया है। एनआरडीए ने प्रथम चरण में दस बड़े टावर बनाने के लिए टेंडर जारी कर दिया है। दस हाईराइज टावर में चार आवासीय और छह कॉमर्शियल रहेंगे। यह दस टॉवर ऐसे होंगे जिसकी ऊंचाई 16 से लेकर 20 मंजिल तक होगी।

सीबीडी में निर्माण कार्य के लिए देश-विदेश की एजेंसियों ने ली रुचि
नया रायपुर में सेन्ट्रल बिजनेस डिस्ट्रिक्ट (सीबीडी) समेत चार अन्य सेक्टरों के विकास के लिए वास्तुविद सलाहकारों के चयन की प्रक्रिया शुरू की गई। अपने कंसल्टेंट के चयन के लिए एनआरडीए के उपाध्यक्ष एसएस बजाज समेत अधिकारियों के साथ प्रदेश के प्रमुख वास्तुविद और नगर नियोजकों ने चार दिन तक मैराथन बैठक कर सलाहकारों के प्रजेंटेशन का बारीकी से अध्ययन किया।
एनआरडीए सेक्टर 21 सीबीडी, सेक्टर 24 ऑफिस कांप्लेक्स, सेक्टर 15-16 हरित क्षेत्र विकास, ग्राम एवं आवासीय क्षेत्र विकास और सेक्टर 7 ग्राम एवं जल संवर्धन योजना के लिए कुल 40 आवेदन आए थे। इन महत्वपूर्ण सेक्टरों के विकास में न्यूयार्क, लंदन समेत दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, पुणो, अहमदाबाद, इंदौर समेत अन्य स्थानों से महत्वपूर्ण वास्तुविदों ने अपनी सेवाएं देने का प्रस्ताव दिया है। 4 से 7 सितंबर तक प्रमुख वास्तु सलाहकार कंपनियों की ओर से अपनी प्रस्तुति दी गई, जिसमें से अब ज्यूरी के सदस्यों के मतों के आधार पर सलाहकार का चयन किया जाएगा। कड़े मापदंडों के आधार पर ही सलाहकार का चयन किया जाएगा।
पूरा मार्केट कवर्ड होगा। लोगों को न तो अधिक धूप लगेगी ना ही बारिश की चिंता रहेगी।
सवा किलोमीटर का होगा खुदरा बाजार
सीबीडी को इस तरह से डेवलप किया जा रहा है कि यहां छोटी-बड़ी हर तरह की खरीदारी लोग कर सकें। एक तरफ जहां बड़ी कंपनियों के दफ्तर होंगे, वहीं सीबीडी के बीचों-बीच सवा किलोमीटर की सिक्सलेन सड़क के दोनों तरफ रिटेल मार्केट बनाया जाएगा। इस मार्केट को लोकल टच भी दिया जाएगा।
स्लो मूविंग ट्रांसपोर्ट सिस्टम से सैर
पूरे सीबीडी में एक जगह से दूसरे जगह पर जाने के लिए स्लो मूविंग ट्रैफिक की व्यवस्था रहेगी। मार्केट में बनी सड़कों पर अधिकतम 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बसें चलेंगी। सीबीडी के एक तरफ रेलवे स्टेशन होगा तो दूसरी तरफ लाइट रेल ट्रांजिट सिस्टम होगा। लोगों को शॉपिंग के साथ ही सुगम आवागमन की व्यवस्था भी होगी।
बड़ी संख्या में लोगों कोमिलेगा रोजगार
इस सीबीडी के निर्माण से यहां बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके साथ ही प्रदेश को व्यापारिक दृष्टिकोण से भी विशेष फायदा होगा। तीन से चार साल के भीतर इस सीबीडी को पूर्ण विकसित करने की योजना बनाई गई है।॥
अमित कटारिया, सीईओ, एनआरडीए
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: दो हजार करोड़ का बनेगा सीबीडी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top