Home »Maharashtra »Nagpur» Tiger Deaths Near Nagpur Forest Area

15 महीने में 18 बाघों की मौत, हादसे में तो किसी ने गंवाई शिकार में जान

समीर पठान | | Apr 21, 2017, 07:31 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
15 महीने में 18 बाघों की मौत, हादसे में तो किसी ने गंवाई शिकार में जान
नागपुर.बाघों को बचाने की कवायद के बीच उनके मरने की खबरें लगातार आती रहती हैं। 15 महीनों में विभिन्न कारणों से 18 बाघों की मौत हो चुकी है। 2 बाघों को शिकारियों ने निशाना बनाया तो 2 की सड़क दुर्घटना में मौत हुई है। वन विभाग ने 14 बाघों की प्राकृतिक मौत होने का दावा किया है।

वन विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2016 में िवविध क्षेत्रों में 14 बाघों की मृत्यु हुई है। वर्ष 2017 में अभी तक 4 बाघों की मौत हुई। वर्ष 2016-17 में एक-एक बाघ को शिकारियों ने मार गिराया। गत वर्ष चंद्रपुर प्रादेशिक क्षेत्र में हुए शिकार के मामले में 2 और इस वर्ष नागपुर प्रादेशिक क्षेत्र में हुए शिकार के मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। दाेनों बाघों का शिकार जंगल में बिजली तार का जाल बिछाकर किया गया। पेंच व्याघ्र प्रकल्प और चंद्रपुर प्रादेशिक वनवृत्त में एक-एक बाघ की सड़क दुर्घटना में मौत हुई।

प्रदेश में आधे से ज्यादा का चंद्रपुर में ठिकाना
वर्ष 2014 में केंद्र सरकार द्वारा कराए गए ऑल इंडिया सेंसस के अनुसार महाराष्ट्र में बाघों की संख्या 190 है। जबकि महाराष्ट्र वन िवभाग द्वारा कराए गए वेरिफिकेशन बॉय कैमरा ट्रैपिंग में 203 बाघों के पाए जाने की जानकारी है। राज्य में कुल बाघों की आबादी के आधे से ज्यादा चंद्रपुर जिले के जंगलों में हैं।

प्रधान मुख्य वन संरक्षक कार्यालय में डीएफओ (वन्यजीव) गिरीश वशिष्ट ने बताया कि कैमरा ट्रैपिंग में चंद्रपुर जिले के जंगलों में 104 बाघों के िवचरण की पुष्टि हुई है। इसमें ताड़ोबा-अंधारी व्याघ्र प्रकल्प में 61, ब्रह्मपुरी वन विभाग में 23, चंद्रपुर वन विभाग और सेंट्रल चांदा वन विभाग में 10-10 बाघ देखे गए हैं। चंद्रपुर जिला छोड़ अन्य अभयारण्यों में उमरेड-करांडला अभयारण्य 4, पेंच व्याघ्र प्रकल्प 23, बोर टाइगर रिजर्व 3, नवेगांव-नागजीरा 7, मेलघाट व्याघ्र प्रकल्प 42, सह्याद्री अभयारण्य 3, टिपेश्वर सेंचुरी 2, बावनथड़ी ब्लॉक 9, कलमेश्वर-कोंढाली 1, पांढरकवड़ा वन विभाग 4, अमरावती जिले के पोहरा वन क्षेत्र में 1 बाघ है।
विदर्भ के बाहर केवल 3 बाघ
राज्य में 203 बाघों में से विभाग में 200 तथा िवदर्भ के बाहर सह्याद्री अभयारण्य में केवल 3 बाघ हैं। वर्ष 2014 के ऑल इंडिया सेंसस के बाद पश्चिम महाराष्ट्र के सावंतवाड़ी के जंगल में 3 और जलगांव जिले में 2-3 बाघों को वन विभाग के कर्मचारियों ने देखा है। परंतु सेंसस में इसकी पुष्टि नहीं हो पाने से वन िवभाग की इसे अधिकृत मान्यता नहीं है।
मौत के आंकड़ों पर नजर
वर्ष 2016 के मामले
ताड़ोबा-अंधारी व्याघ्र प्रकल्प : 3
मेलघाट व्याघ्र प्रकल्प : 2
वन िवकास िवभाग यवतमाल : 1
वन िवकास िवभाग चंद्रपुर : 1
नागपुर प्रादेशिक वनवृत्त : 2
चंद्रपुर प्रादेशिक वनवृत्त : 4
पेंच व्याघ्र प्रकल्प : 1
कुल मौतें : 14
--------------------------
वर्ष 2017 के मामले
पेंच व्याघ्र प्रकल्प : 3
नागपुर प्रादेशिक क्षेत्र : 1
कुल मौतें : 4
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Tiger deaths near nagpur forest area
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Nagpur

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top