Home »Maharashtra »Pune »News» Family Adopt Orphaned Monkey In Digras Yavatmal

झूले में सोता है ये बंदर, इस वजह से अपने बच्चे की तरह पाल रही है ये लेडी

किशोर कांबले | Apr 20, 2017, 11:08 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स

वच्छला बंदर का अपने बच्चे जैसा ख्याल रख रही है।

यवतमाल. यहां के दिग्रस में एक बंदरिया की मौत के बाद उसके बच्चे को एक परिवार अपने बच्चे की तरह पाल रहा है। इस परिवार ने इस छोटे बंदर को वन विभाग के हवाले किया था, लेकिन उसे जंगल में छोड़ने पर वह दो बार घर वापस लौट आया। अब इस बंदर का ख्याल घर के छोटे बच्चे और पड़ोसी भी रख रहे हैं। एेसे मिला बंदर का बच्चा....
-इस मौसम में जंगल में पानी की कमी के चलते बंदरों की टोलियां गावों की ओर रुख करती हैं।
-पंद्रह दिन पहले एेसी ही एक टोली दिग्रस गांव में आई थी। लेकिन एक बंदरियां अपने बच्चों के पीछे रह गई।
-गांव के आवारा कुत्तों के हमले में से बचने बिजली के खंबे पर चढ़ गई, लेकिन करंट लगने से उसकी मौत हुई।
-बंदरिया का बच्चा उसे लिपटकर जोर जोर से आवाज लगा रहा था, लेकिन कुत्ते उस पर हमला करने का मौके देख रहे थे।
-इसी समय गांव में रहने वाले रवि विलायतकर वहां से गुजर रहे थे, उन्होंने बंदरिया के बच्चों उठाया और अपने साथ घर ले गए।
-विलायतकर की पत्नी वच्छला ने इस बच्चे की देखभाल शुरु की है। अब बंदर वच्छला को छोड़ने के लिए तैयार नहीं है।
बच्चे को ले जाने घर आई थी बंदरों की टोली

- बंदरिया के बच्चे को घर पर लाने के बाद दोनों पति-पत्नी ने उसका ख्याल रखा लेकिन सुबह होते ही बंदरों की टोली उनके घर पर पहुंची।
-रवि ने बंदरों को टोली को घर से निकाल दिया, और छोटे बंदर को लेकर वन विभाग के पास पहुंचे।
-वन विभाग को पास बंदर को जंगल में छोड़ आए लेकिन बंदर का बच्चा वापस आ गया। एेसा दो बार हो चुका है।
-अधिकारियों ने रवि से कहा कि, इसे वापस अपने घर ले जाए, और इसकी अच्छा ख्याल रखें।
बंदर के लिए बनाया झूला
-यह बंदर अब विलायतकर परिवार का सदस्य बन गया है। वच्छला अपने बच्चे जैसा प्यार इसको कर रही है।
- वच्छला मजदूरी करती हैं, लेकिन पिछले 15 दिनों से बंदर की परवरिश के चलते वह काम पर नहीं गई।
-बंदर को हर रोज सुबह दूध पिलाया जाता है, दोपहर खाना खिलाया जाता है, उसे सोने के लिए छोटा-सा बेड भी बनाया है। उसके लिए घर में एक झूला भी बांधा गया है।
-वच्छला की बेटी और पड़ोसी भी इस बंदर का ख्याल रख रहे हैं।
आगे की स्लाइड्स में देखें और फोटोज...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: family adopt orphaned monkey in digras Yavatmal
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top