Home »Maharashtra »Pune »News » Heavy Rainfall In Beed And Latur.

जहां था 40 साल का सबसे भयंकर सूखा, वहां आज है तबाही की बाढ़

dainikbhaskar.com | Oct 03, 2016, 10:14 IST

मराठवाड़ा में 40 साल का सबसे भयंकर सूखा पड़ा था।

पुणे/औरंगाबाद: महाराष्ट्र के जिन इलाके में 40 साल का सबसे भयंकर सूखा पड़ा था, वे अब भयंकर बाढ़ की चपेट में हैं। लातूर और बीड जिले में बीते दो दिनों से जारी बारिश से इलाके में बाढ़ जैसे हालात हैं। राहत दलों को बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए हेलिकॉप्टरों का इस्तेमाल करना पड़ रहा है। लाखों हेक्टेयर फसल बर्बाद...

- इस साल यहां औसत से करीब ढाई गुना अधिक हुई इस बारिश से दर्जनों गांव पानी में डूब गए हैं।
- लातूर जिले में अब भी कुछ इलाकों में रुक-रुककर तो कहीं तेज बारिश जारी है।
- 14 से 25 सितंबर के बीच 357 मिमी बारिश दर्ज की गई है। जिले में करीब छह लाख 16 हजार हेक्टेयर में फसलें बर्बाद हुई हैं।
- इसमें सर्वाधिक साढ़े चार लाख हेक्टेयर क्षेत्र में उगी सोयाबीन की फसल शामिल है।
- बारिश से जिले के 192 छोटे-बड़े पुलों को नुकसान पहुंचा है। 46 सिंचाई तालाबों को भी क्षति हुई है।
- लगभग 783 किमी सड़क खराब हो गई है। लोक निर्माण विभाग के अधीन आनेवाली 22 सड़कों और 56 पुलों को क्षति पहुंची है।

हेलिकॉप्टर से मदद

- लातूर जिले में बाढ़ के कारण अनेक परिवार फंसे हुए हैं। हेलिकॉप्टर के जरिए ऐसे लोगों को बाहर निकालने की कोशिश राहत दलों ने की है।
- जिले की अहमदपुर तहसील के सावरगांव में रविवार को 20 वर्षीय युवक के बह जाने की खबर है।
- इसके अलावा बाढ. में 33 पशुओं के बह जाने की जानकारी है।
पानी में डूबा बीड
- शनिवार देर शाम से बीड में जारी मूसलधार बारिश से समूचे जिले का जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है।
- आधा बीड शहर जलमग्न हो चुका है। जिला प्रशासन ने तटवर्ती इलाकों के लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाने की अपील की है।
- सोलापुर मार्ग पर बीड. से 10 किमी की दूरी पर स्थित डोकेवाड़ा पहाड़ी पर स्थित तालाब लबालब भर गया है।
- उसके पानी ने बिंदुसरा नदी के जरिए बांधक्षेत्र में प्रवेश कर लिया है।
- शहर की निचली बस्तियों के सैकड़ों मकानों में पानी में घुस गया है।
हैदराबाद-नांदेड़ राज्यमार्ग बंद
- देगलूर तहसील में लेंडी नदी व मानयाद नदी में बाढ़ आने से कई गांवों में पानी घुस गया है।
- मानयाद नदी का पानी वझरगा व अटकली गांव के बीच बहने से हैदराबाद- नांदेड़ राज्यमार्ग शनिवार की शाम 4 बजे से यातायात के लिए बंद हो गया है।
- प्रशासन ने शेवाला गांव के 100 परिवारों को बिलोली तहसील में स्थानांतरित किया है।
40 साल का सबसे भयंकर सूखा
- मराठवाड़ा के 15 हजार गांव सूखे की गिरफ्त में थे।
- लातूर, बीड़ और औरंगाबाद जिले में हालात ज्यादा खराब थे।
- केंद्र के कहने पर रेलवे की 50 और 10 वाटर टैंकर वाली कई ट्रेन लातूर भेजी गई थीं।
- इसे 40 साल का सबसे भयंकर सूखा करार दिया गया था।
आगे की स्लाइड्स में देखिए लातूर और बीड में आई बाढ़ की कुछ और PHOTOS..
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Heavy Rainfall In Beed and Latur.
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top