Home »Maharashtra »Pune »News» Elephant Adopted; School, NGO Squabble Over Care

PHOTOS: स्कूल में हाथी बना बच्चों का नया साथी, जानिए दिलचस्प कहानी

भास्कर.कॉम | Sep 14, 2013, 09:33 IST

  • पुणे: इंसान और जानवरों के बीच किस तरह प्रेम का रिश्ता बन सकता है इसकी ताजा मिसाल महाराष्ट्र की सांस्कृतिक राजधानी पुणे में देखने को मिली। चार महीने पहले यहां के लोगों को एक हथिनी बड़ी ही दयनीय स्थिति में मिली थी। शरीर पर कई जगह घाव के निशान थे कई दिन से खाना न खाने के चलते शरीर बेहद ही कमजोर हो गया था।
    आसपास के लोगों और एक एनजीओ ने हालत पर तरस खाते हुए कुछ दिनों तक इस की देखरेख की और उसे एक नया नाम दिया पूर्णिमा। अब चार महीने बाद पुणे के एक प्राइवेट स्कूल ने पूर्णिमा को गोद ले लिए है।
    आगे की स्लाइड में पढ़िए इस साथी बने हाथी की पूरी कहानी ....
  • पूर्णिमा को गोद लेने की इस प्रक्रिया को पूर्णिमा के जन्मदिन के रूप में सेलिब्रेट किया गया। इस मौके पर बच्चों ने पूर्णिमा के लिए केक काटा और उसे फूलों की माला पहना कर स्वागत किया।शहर के आर्यन्स वर्ल्ड स्कूल ने पूर्णिमा की देखभाल करने के लिए उसे गोद लिया है। पूर्णिमा अब स्कूल के कैंपस में ही एक स्थान पर रहेगी और यहां उसे चिकित्सा और भोजन दोनों मिलेगा।

  • पूर्णिमा को गोद लेने के इस प्रयास पर विवाद भी शुरू हो गया है। पूर्णिमा की देखरेख करने वाली पीपल फॉर एनिमल नाम की संस्था ने आरोप लगाया है कि, 'स्कूल ने गलत ढंग से इसे गोद लिया है और उनके पास अदालत की मंजूरी भी नहीं है जो की गलत है। अब संस्था इस मामले को ले कर अदालत जान का मन बना रही हैं।
  • संस्था का कहना है कि हाथी पूर्णिमा जोड़ों की सूजन, चोटों और गठिया, अंधापन,हर्निया और बढ़ती उम्र जैसी बीमारियों से जूझ रही है और स्कूल वाले इसका वाणिज्यिक प्रयोजनों के लिए शोषण करेंगे।

  • वहीं स्कूल का कहना है की, 'स्कूल के बच्चे और पूरा स्टाफ उसे परिवार के एक सदस्य की तरह रखेगा। उन्हों ने इस सिर्फ इस हाथी की सहायत के लिए ही इसे गोद लिया है और कोई दूसरा उद्देश्य नहीं है। पूर्णिमा को स्कूल में रहने से ले कर खाने और चिकित्सा की सभी सुविधा मुहैया करवाई जाएंगी।
  • पुणे के डिप्टी फोरेस्ट कांसेर्वटर राजेंद्र कदम का कहना है कि, 'इस तरह के प्रयास के लिए और भी लोगों को आगे आना चाहिए और स्कूल ने पूरे नियम कानून का पालन करते हुए पूर्णिमा को गोद लिया है।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Elephant adopted; school, NGO squabble over care
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top