Home »Madhya Pradesh »Bhopal »News » Milk Head Quarters

अधिकारियों-कर्मचारियों ने दी चेतावनी, मांगें नहीं मानी तो 28 से दूध सप्लाई ठप

bhaskar news | Mar 21, 2017, 07:38 IST

अधिकारियों-कर्मचारियों ने दी चेतावनी, मांगें नहीं मानी तो 28 से दूध सप्लाई ठप
भोपाल.दुग्ध संघ मुख्यालय(एमपीसीडीएफ) में सोमवार काे कुछ अलग ही नजारा था। अफसरों की बैठक और कर्मचारियों के बीच प्रदर्शन को लेकर टकराव की स्थिति तो टल गई, लेकिन गुस्साए मप्र दुग्ध संघ अधिकारी-कर्मचारी संयुक्त मोर्चा ने आखिर 28 मार्च से दूध सप्लाई ठप करने की घोषणा कर ही दी। प्लांट परिसर से मुख्यालय तक रैली निकालकर प्रदर्शन किया। इसके बाद सभा हुई। इसमें संयोजक वीके रिछारिया और अध्यक्ष वीरेंद्र खोंगल ने आरोप लगाते हुए कहा कि कई अफसर निजी कंपनियों के फायदे के लिए सिस्टम बदलना चाहते हैं। हम किसी कीमत पर ऐसा नहीं होने देंगे।

प्रदर्शन में पांचों दुग्ध संघों उज्जैन, भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर दुग्ध संघों के कई अधिकारी कर्मचारी शामिल हुए। सभा को खोंगल और रिछारिया के अलावा भामसं के आरएस नायर, प्रशांत बौद्ध, जफर अली, एलके चक्रवर्ती समेत कई पदाधिकारियों ने संबोधित किया। खोंगल ने बताया कि चरणबद्ध आंदोलन के तहत 24 मार्च को काली पट्टी बांधकर काम करेंगे। 25 को कलमबंद हड़ताल रहेगी। 27 को लंच टाइम में प्रदर्शन करेंगे। 28 से सभी दुग्ध संघों में दूध सप्लाई ठप कर दी जाएगी। उधर एमडी अरुणा गुप्ता ने दोपहर करीब 12 बजे से अधिकारियों की बैठक ली। 1.30 बजे बैठक खत्म हो गई। इसमें उन्होंने दूध के नए कलेक्शन सेंटर खोलने समेत प्लांट को लेकर समीक्षा की।
पुलिस ने मैन गेट लगाकर रोका
ये हैं अन्य मांगें
- सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए सभी दुग्ध संघों के ठेका श्रमिकों का वेतन बढाएं।
- नए सेटअप मंजूर कराकर अनुकंपा नियुक्तियां दी जाएं।
- 6वें वेतनमान का 63 महीने का एरियर दिया जाए।
पीएस ने कलेक्शन सेंटर पर ही की समीक्षा
- कलेक्शन सेंटर को लेकर दुग्ध संघ के अधिकारियों व कर्मचारियों की मुसीबत कम नहीं हुई है।
- पशुपालन विभाग के प्रमुख सचिव अश्विनी राय ने शाम करीब 5.30 बजे बैठक ली। एक घंटे चली बैठक में पीएस ने इसी मसले पर समीक्षा की।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Milk head quarters
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top