Home »Madhya Pradesh »Bhopal »News » A Place Where Lord Shiva Had Defeated To Kal Or Time Or Death, That Is Kalinjar

भगवान शिव ने इसी जगह हराया था काल को और फिर..

dainikbhaskar.com | Dec 30, 2012, 00:30 AM IST

भोपाल। समुद्रमंथन से निकले 14 रत्नों में से एक महाविष हलाहल भी था, जिससे पृथ्वी पर संपूर्ण मानवता के लिए खतरा पैदा हो गया। देवता और असुर इस हलाहल की विभीषिका से मानव जाति को बचाने के लिए भगवान शिव की शरण में पहुंचे तो भोलेनाथ उनके आग्रह पर इसे टाल नहीं सके और उन्होंने इसे पी लिया। लेकिन उन्हें इस विष के प्रभाव से बचने और काल को जीतने के लिए बुंदेलखंड की एक पहाड़ी पर आना पड़ा।

कैसे भगवान शंकर ने दी काल को मात और फिर कौन सी घटना घटी, आगे की कहानी जानने के लिए क्लिक कीजिए..

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: a place where lord shiva had defeated to kal or time or death, that is kalinjar
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From News

      Trending Now

      Top