Home »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Shankar - Ehsaan - Loy Opened The Secret Of Success

इस हिट तिकड़ी ने खोला अपनी सफलता का राज

पुनीत पाण्डेय/अभिषेक दुबे | Feb 18, 2013, 01:14 IST

  • भोपाल।‘वक्र तुंड महाकाय..’ गाते हुए शंकर महादेवन स्टेज पर आए और कहा, ‘हे! भोपाल आई लव यू.. पुल आउट योर हैंड्स अप इन द एयर एंड सिंग विद मी’, और इसके साथ ही उन्होंने दिल चाहता है के सुपरहिट सॉन्ग ‘कोई कहे कहता रहे से’ शुरुआत की। उनके साथ गिटार पर एहसान नूरानी और की-बोर्ड पर लॉय मेंडोंसा ने भी भोपाल को अपने अंदाज में सेल्यूट किया।
    गाने की अंतिम लाइन ‘भोपाल है नया, भोपाल के लोग हैं नए फिर अंदाज क्यों हो पुराना..’ रही। इसके साथ ही उन्होंने कहा, भोपाल जैसी क्लीन और ग्रीन सिटी को देखकर वे सरप्राइज्ड और जेलस हैं.. कि काश! मुंबई भी ऐसा ही होता।
    दूसरा गाना था ‘दिल चाहता है, हम न रहें हम..’ इस गाने में शंकर ने ऑडियंस को अपने साथ गाने को कहा- नाचो, गाओ.. सीटी मारो यार। हमारे यहां सब चलता है।
    इस गाने में उन्होंने लॉय के साथ मिलकर जैज़ का फ्यूजन भी किया। इससे गाना और भी इंट्रेस्टिंग हो गया। अब शंकर ने पूछा, ‘दुनिया में सबसे खूबसूरत क्या है? वो है लव.. तो चलो अब सुनते हैं ‘सलामे इश्क..’ और करते हैं इश्क को सलाम।’ इस गाने में उनके साथ थीं टीम की सदस्य जेसिका। जैसे ही उन्होंने भोपाल की खूबसूरत महिलाओं को डेडिकेट कर ‘प्रिटी वुमन..’ गाया, डांस करती हुईं गल्र्स स्टेज पर उनका साथ देने के लिए आ गईं।
    आगे की स्लाइड्स में जाने क्या है शंकर-एहसान-लॉय की सफलता का राज
  • स्टेज पर गर्ल्स और शंकर के बीच बेहतरीन कैमिस्ट्री रही। मप्र राज्य पर्यटन विकास निगम की ओर से रवींद्र भवन के मुक्ताकाश मंच पर आयोजित कार्यक्रम में परफॉर्मेस का यह सिलसिला देर रात तक जारी रहा।
    शंकर ने अपनी टीम का इंट्रोडक्शन भी ऑडियंस से जोक करते हुए कराया। खास बात यह थी कि उनकी टीम में असम से लेकर राजस्थान तक के कलाकार हैं।
    शंकर-एहसान-लॉय की टीम में जेसिका और अमन (सिंगर), शॉन पिंटो (इलैक्ट्रिक गिटार), दिब्या (बेस गिटारिस्ट), मनोज (ड्रमर), अनुपम (कॉन्गो), प्रसाद मालडकर (ढोलक), दीपक (ढोल) शामिल थे।
  • डबल मीनिंग नहीं गाते, इसलिए हिट
    आज के दौर में वल्गर और डबल मीनिंग गानों की भरमार है, ये गाने कुछ दिन तो सुने जाते हैं लेकिन ज्यादा दिनों मार्केट में नहीं रहते हैं।
    हमने इस तरह के गाने कभी कंपोज नहीं किए, न कभी करेंगे। यही वजह है कि हमारे अधिकांश गाने न सिर्फ हिट होते हैं, बल्कि लंबे समय तक लोगों के जेहन में बने रहते हैं।
    यह बात शंकर-एहसान-लॉय ने सिटी भास्कर से चर्चा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि वे गाना श्रोताओं के दिल की आवाज सुनकर कंपोज करते हैं।
    वे किसी हिट गाने को कॉपी करने या किसी ट्रेंड को फॉलो करने के बजाए नई कंपोजिशंस क्रिएट करने की कोशिश करते हैं।
  • नए सिंगर्स को मौका देने पर उन्होंने कहा कि वे हर संभव कोशिश करते हैं कि नए टैलेंट को मौका मिले। लेकिन सभी को मौका देना उनके अकेले के लिए संभव नहीं होता है।

    इंडियन क्लासिकल म्यूजिक के बैकग्राउंड पर उनका खासा जोर रहता है। सिंगिंग रिएलिटी शोज पर उन्होंने कहा कि वे रोने-गाने, गरीबी के बैकग्राउंड से टीआरपी बढ़ाने के बिल्कुल पक्ष में नहीं रहते हैं।

    इसलिए जीटीवी के सारेगामापा में इस बार उन्होंने ऑडिशंस से लेकर ग्रैंड फिनाले तक सिर्फ म्यूजिक को ही तवज्जो दी जिससे प्रोग्राम हिट रहा और ओरिजनल टैलेंट निकलकर सामने आया।


  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Shankar - Ehsaan - Loy opened the secret of success
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top