सरकारी बंगलों पर अफसरों का अवैध कब्जा

Bhaskar News Network | Apr 21, 2017, 07:54 IST

  • मैंने अपना जवाब दे दिया हैयह सही है कि मेरे पास ग्वालियर में बंगला है। पीडब्ल्यूडी की तरफ से मुझे नोटिस प्राप्त हुआ था। मैंने इस संबंध में राजस्व मंडल को अपना अभ्यावेदन दे दिया है। मैं इस संबंध में आपसे फोन पर और अधिक कोई चर्चा नहीं कर पाऊंगा। अखिलेश जैन, संयुक्त कलेक्टर अशोकनगर

    श्योपुर का बंगला करूंगा खाली

    निलंबन के बाद मेरा अटैचमेंट ग्वालियर संभागीय आयुक्त कार्यालय में किया गया है और निलंबित कर्मचारी को अटैचमेंट के स्थान पर आवास की पात्रता है। वैसे भी मैं मार्केट रेट के हिसाब से इसका किराया भी भर रहा हूं। जहां तक दो बंगलों की बात है, तो मैं श्योपुर स्थित सरकारी आवास खाली कर दूंगा। वीरेंद्र कुमार सिंह, निलंबित अपर कलेक्टर श्योपुर

    अफसरों पर एक्शन लेंगे

    अवैध रूप से बंगलों पर काबिज अफसरों के खिलाफ हम कार्रवाई करते हैं। अगर ग्वालियर में पदस्थ रहे अफसर एक से अधिक सरकारी आवास घेरे हुए हैं, तो हम उनके खिलाफ एक्शन लेंगे। मैं आगामी सोमवार को भोपाल पहुंचकर इस संबंध में आदेश जारी कराऊंगा। लालसिंह आर्य, राज्यमंत्री सामान्य प्रशासन विभाग

    एसडीएम से बात करें

    सरकारी आवासों की बेदखली अधिकारी संबंधित क्षेत्र का एसडीएम रहता है। अगर किसी भवन की बेदखली का प्रस्ताव आया है, तो वह एसडीएम के पास ही गया होगा। आप संबंधित एसडीएम से बात करें। डॉ. संजय गोयल, कलेक्टर


  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: govt
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Gwalior

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top