Home »Madhya Pradesh »Gwalior» MYTH: यहां उतारा था सूर्य ने अपना रथ, कुंवारी कुंती से पैदा हुआ था कर्ण

MYTH: यहां उतारा था सूर्य ने अपना रथ, कुंवारी कुंती से पैदा हुआ था कर्ण

Bhaskar News | Apr 08, 2016, 23:33 IST

  • MYTH: यहां उतारा था सूर्य ने अपना रथ, कुंवारी कुंती से पैदा हुआ था कर्ण
    मुरैना जिले के कुतवार में बने हैं सूर्य के घोड़ों के टापों के निशान।
    ग्वालियर. मुरैना जिले में कुतवार जगह देखते ही महाभारत की यादें ताजा हो जाती हैं। इस स्थान का संबंध पांडवों की मां कुंती से है। महाभारत काल में इसे कुंतीभोज नाम से भी जाना जाता था। क्यों खास है महाभारत कालीन कुतवार(कुंतीभोज)...
    -अाईआईटीटीएम के डायरेक्टर प्रोफेसर संदीप कुलश्रेष्ठ ने बताया कि यह जगह ग्वालियर से लगभग 45 किमी दूर मुरैना जिले में स्थित है।
    - यह जगह महाभारत कालीन है, इसे कुछ लोग कुतवार के नाम से जानते हैं।
    -इस स्थान का संबंध पांडवों की मां कुंती से है। महाभारत काल में इसे कुंतीभोज नाम से भी जाना जाता था।
    -वीर पांडव, अर्जुन की ननसार भी यही है और अर्जुन व श्रीकृष्ण द्वारा बनवाए गए हरिसिद्धी मंदिर और देवी कुंती द्वारा पूजा गया शिवलिंग भी यहीं स्थापित है।
    -पास ही आसन नदी का तट जहां आज भी सूर्य के घोड़ों की टाप और सूर्य के पदचिन्हों की छाप मौजूद है।
    भगवान सूर्य नारायण ने यहां उतारा था अपना रथ
    - कहा जाता है कि इसी स्थान पर महाभारत काल में भगवान सूर्य नारायण ने अपना रथ उतारा था और कुंती से भेंट की।
    -किवदंती है कि यहां महर्षि दुर्वासा की तपस्थली भी है।
    -खुदाई में नागराजवंश के समय के सिक्के व बर्तनों का मिलना इस स्थान की ऐतिहासिक सत्यता को और मजबूत बनाता है।
    -सिंधिया स्टेट के समय आसन नदी पर यहां अर्धचंद्राकार बांध भी बनाया गया था।
    ऐसे जाए कुतवार...
    - राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 3 पर ग्वालियर से आगरा की ओर जाने पर छौंदा टोल प्लाजा से दाहिने हाथ पर मुड़कर कुतवार जाया जा सकता है।
    -नजदीकी रेलवे स्टेशन मुरैना इस स्थान से लगभग 12 किमी दूर है।
    आगे की स्लाइड्स में देखें कुतवार की फोटोज...
  • MYTH: यहां उतारा था सूर्य ने अपना रथ, कुंवारी कुंती से पैदा हुआ था कर्ण
    सूर्य शिलाएं।
  • MYTH: यहां उतारा था सूर्य ने अपना रथ, कुंवारी कुंती से पैदा हुआ था कर्ण
    अर्जुन और श्रीकृष्ण ने बनवाया था हरसिद्धी मंदिर।
  • MYTH: यहां उतारा था सूर्य ने अपना रथ, कुंवारी कुंती से पैदा हुआ था कर्ण
    हरसिद्धी मंदिर, कुतवार जिला मुरैना।
  • MYTH: यहां उतारा था सूर्य ने अपना रथ, कुंवारी कुंती से पैदा हुआ था कर्ण
    कुतवार में आसन नदी पर बना डेम।
  • MYTH: यहां उतारा था सूर्य ने अपना रथ, कुंवारी कुंती से पैदा हुआ था कर्ण
    महाभारतकाल में कुंती का राज्य। लाल घेरे में कुंतीभोज राज्य।
  • MYTH: यहां उतारा था सूर्य ने अपना रथ, कुंवारी कुंती से पैदा हुआ था कर्ण
    आसन नदी में बहाया था कुंती ने कर्ण को।
  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: MYTH: यहां उतारा था सूर्य ने अपना रथ, कुंवारी कुंती से पैदा हुआ था कर्ण
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Gwalior

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top