Home »Madhya Pradesh »Gwalior» Wine Contractors Applied To Surrender Contract

शराबबंदी का खौफ : शराब कारोबारियों ने 15 जिलों में 100 दुकानें सरेंडर करने दी अर्जी

Bhaskar News | Apr 21, 2017, 09:14 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
शराबबंदी का खौफ : शराब कारोबारियों ने 15 जिलों में 100 दुकानें सरेंडर करने दी अर्जी
ग्वालियर.प्रदेश के 15 जिलों के शराब ठेकेदारों ने 100 दुकानें सरेंडर करने के लिए आबकारी विभाग को आवेदन दिए हैं। प्रदेश में यह स्थिति मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के उस बयान के बाद बनी है जो उन्होंने शराब दुकानों को बंद करने के संबंध में दिया है। गुरुवार शाम तक 100 से अधिक दुकानों को सरेंडर करने के आवेदन शराब ठेकेदारों ने आबकारी विभाग को दिए हैं।

प्रदेश के ग्वालियर सहित भिंड, दतिया, इंदौर, खंडवा, झाबुआ, जबलपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी, शहडोल, रीवा, सतना, रतलाम, देवास, टीकमगढ़ आदि जिलों के देशी- अंग्रेजी शराब के 44 ग्रुपों का ठेका लेने वाले कारोबारियों ने अपने ग्रुपों की कुछ दुकानों को सरेंडर करने के लिए आवेदन दिया है।
इनके साथ ही अन्य ग्रुपों के ठेकेदार भी आवेदन देने की तैयारी में हैं। इनमें अधिकतर वे दुकानें हैं ,जिनको लेकर विरोध प्रदर्शन हुए हैं या फिर ठेकेदारों के लिए घाटे का सौदा साबित होने वाली हैं। 44 ग्रुपों में 132 दुकानें हैं।
वित्त विभाग राजस्व हानि को लेकर दुकानें सरेंडर करने को तैयार नहीं
शासन का वित्त विभाग राजस्व के घाटे को देखते हुए शराब दुकानों को सरेंडर करने के लिए तैयार नहीं हैं। वित्त विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि यदि इन शराब दुकानों को सरेंडर के आवेदन
मंजूर किए जाते हैं तो राजस्व का बड़ा नुकसान होगा और शराब ठेकेदार भी अपनी कम फायदे वाली दुकानों को किसी बहाने निकालकर सरेंडर करने का षडयंत्र करेंगे।
आबकारी आयुक्त अरुण कुमार कोचर ने कहा कि शराब दुकानों को बंद किए जाने के संबंध में अभी हमें कोई आदेश नहीं मिले हैं। मुख्यमंत्री का बयान भी केवल अन्य माध्यम जानकारी में आया है। आवेदनों के कारणों को समझ कर हल निकाला जाएगा।
,
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: wine contractors applied to surrender contract
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Gwalior

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top