Home »Madhya Pradesh »Gwalior» Sex Racket Gwalior Police Action Arrest

मीठी बातें करने वालीं लड़कियों से रहें सावधान, कहीं आपके साथ न हो जाए ऐसा

bhaskar news | Sep 14, 2013, 00:05 IST

  • ग्वालियर।युवक-युवतियों के एक ऐसे गिरोह को पुलिस ने पकड़ा है, जिसमें युवतियां मिस्ड कॉल कर पैसे वाले लोगों से दोस्ती करती थीं। बाद में कमरे में उनके साथी आते थे और आपत्तिजनक अवस्था की फोटो खींच लेते थे। इसके बाद ब्लैकमेल करके लंबी रकम वसूलते थे।

    क्राइम ब्रांच और गोला का मंदिर थाने की पुलिस ने इस गिरोह के दस युवक और सात युवतियों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक युवती नर्सिंग की छात्रा है। इनके खिलाफ आईपीसी की धारा 384 व 34 के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

    प्रॉपर्टी डीलर गिर्राज के पास 15 दिन पहले एक मिस्ड कॉल आया था। उसने कॉल बैक किया तो एक युवती की आवाज आई। पहले उसने कहा कि गलती से फोन लग गया था। इसके बाद बातचीत शुरू हो गई तो युवती ने अपने पास आने का ऑफर किया। चार दिन पहले वह मुरार स्थित उसके घर पहुंचा तो यहां अचानक कुछ युवक आ गए और फोटो खींची तथा वीडियो क्लिप बना ली।

    आगे की स्लाइड पर क्लिक कर पढ़ें किस तरह चलता था रैकेट और कैसे फसाता लोगों को-

  • इनमें एक युवक खुद को पत्रकार बता रहा था। इसके बाद इन लोगों ने बदनाम करने की धमकी दी और तीन लाख रुपए मांगे। बाद में यह मांग डेढ़ लाख रुपए तक आ गई। गिर्राज ने इसकी शिकायत पुलिस अफसरों से की। इसके बाद पुलिस का ऑपरेशन शुरू हुआ तो बुधवार की शाम से लेकर गुरुवार की सुबह तक पुलिस ने सात युवतियों और दस युवकों को गिरफ्तार कर लिया। इस ऑपरेशन में एएसपी प्रतिमा मैथ्यू, सीएसपी डीवीएस भदौरिया, एएसआई रिपुदमन सिंह, सिपाही अशोक भदौरिया, घनश्याम जाट, धर्मेंद्र और अंजनी की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

  • सुंदर युवती ही मिलने पहुंचती थी

    ब्लैकमेल करने वाले गिरोह में जिस युवती की आवाज अच्छी होती थी, वह फोन लगाकर शिकार को फंसाती थी और गिरोह की दूसरी सबसे सुंदर युवती शिकार के पास पहुंचती थी। जब वह आपत्तिजनक अवस्था में आती, इसके साथी कमरे में अंदर पहुंचते थे और फोटोग्राफी शुरू कर देते थे।

  • जिस युवती को शिकार के पास भेजा जाता था, वह भोपाल की रहने वाली है तथा यहां नर्सिंग कोर्स कर रही है। इनमें गिरीश शर्मा नामक युवक खुद को पत्रकार बताता था और अखबार में फोटो छापने की धमकी देता था।

  • परिजन पहुंचे थाने : पुलिस ने जब गिरोह में शामिल लोगों को हिरासत में लिया तो एक युवक के परिजन गोला का मंदिर थाने में तथा नर्सिंग छात्रा के परिजन मुरार थाने में अपहरण की शिकायत करने के लिए पहुंच गए। पुलिस शिकायत पर कार्रवाई शुरू कर रही थी, तभी पता चला कि दोनों ब्लैकमेल करने वाले गिरोह के सदस्य हैं और इन्हें पुलिस पकड़कर ले गई है।

  • रैकेट से जुड़ी हैं एक सैकड़ा युवतियां

    पूछताछ में इस रैकेट में एक सैकड़ा युवतियां और लगभग 50 युवकों के नाम सामने आए हैं। :इन महिलाओं में दो मुरार और दर्पण कॉलोनी में सेक्स रैकेट संचालित करती थीं। यह सूचना पुलिस को मिली है।

  • गिरोह के सदस्य अवाड़पुरा, मुरार, हजीरा और गोला का मंदिर इलाकों में किराए के मकान लेते थे और वहां रैकेट चलाते थे। इस गिरोह ने अशोक नगर के एक कारोबारी और ट्रांसपोर्ट नगर के एक तेल कारोबारी को निशाना बनाया था, लेकिन इन लोगों ने बदनामी के डर से पुलिस से शिकायत नहीं की।

  • फर्जी पत्रकार भी पकड़ा

    एसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि सुनील मिश्रा निवासी रायरू, दिलीप दुबे निवासी बीरमपुर, मंजीत कटारिया निवासी रॉक्सीपुल, गिरीश शर्मा (फर्जी पत्रकार) निवासी बाबा कपूर, रवि शर्मा निवासी मुरैना, बृजेंद्र सिंह तोमर निवासी पोरसा, जाहिद खान निवासी इंद्रानगर, अतुल तोमर निवासी थाटीपुर, सोनू तोमर गुढ़ागुढ़ी का नाका, रंजीत कटारिया निवासी रॉक्सी पुल को गिरफ्तार किया जा चुका है। इस गिरोह का मास्टर माइंड रवि शर्मा है। अतुल और रवि ने अपनी पत्नियों को भी इस गिरोह में शामिल कर रखा था।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: sex racket gwalior police action arrest
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From Gwalior

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top