Home »Madhya Pradesh »Indore »News » Holkar Property Issue Again Highlight

संपत्ति-गद्दी को लेकर होलकर परिवार में फिर अलग सुर

Dainik Bhaskar News | Dec 12, 2012, 02:38 AM IST

इंदौर। होलकर परिवार की गद्दी और हजारों करोड़ की संपत्ति का मामला फिर गरमा रहा है। खासगी ट्रस्ट को लेकर उठे विवाद के बीच स्व. मल्हारराव तात्या साहेब होलकर के तीन बेटों में से दो अंशुमंतराव व गौतमराव ने 11 लोगों को कानूनी नोटिस भेजा है। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग के अवर सचिव ने भी कलेक्टर को पत्र लिखकर नोटिस में मप्र शासन से संबंधित उठाए गए बिंदुओं पर जानकारी मांगी है। नोटिस में उषा देवी को महारानी घोषित करने, होलकर संपत्तियों से जुड़े विभिन्न ट्रस्टों में मल्हारराव व उनके परिवार को शामिल नहीं करने और संपत्ति में संयुक्त हिस्सा नहीं देने का मुद्दा उठाया गया है।

यह है कानूनी नोटिस में- अंशुमंतराव व गौतमराव होलकर की ओर से वकील अंशुमन श्रीवास्तव ने यह नोटिस भेजा है। कहा गया है कि उषा देवी को वारिस बनाकर गद्दी देना गलत था क्योंक होलकरों में महिला को गद्दी नहीं दी जाती। ट्रस्टों में केवल उषादेवी के परिवार ही शामिल है, जबकि संपत्ति संयुक्त परिवार की है। बिकी संपत्ति के हिस्से के रूप में 1 करोड़ रुपए मय ब्याज के दिए जाएं।

इन्हें भेजा नोटिस

- उषा देवी, सतीश मल्होत्रा, रणजीत मल्होत्रा, दिलीप मल्होत्रा, उषा ट्रस्ट, खासगी ट्रस्ट, देवी अहिल्या होलकर एजुकेशनल ट्रस्ट, आलमपुर ट्रस्ट, जगदीपेंद्रसिंह होलकर, केंद्र व मप्र सरकार।
- 3500 करोड़ से अधिक की है संपत्ति
- अंशुमंतराव ने बताया कि होलकर घराने की संपत्तियों की सूची देखकर हमने इसकी अनुमानित कीमत तय की थी। यह 3500 करोड़ रुपए से भी अधिक है। संपत्ति फ्रांस व अमेरिका में भी फैली हुई है। हालांकि जानकार बताते हैं कि यह संपत्ति १० हजार करोड़ से भी अधिक की है।

१९७३ से चल रहा है कानूनी विवाद

वर्ष 1973 में मल्हारराव ने जिला कोर्ट में खुद को वारिस बताते हुए कोर्ट में केस दायर किया। 2003 में उनके निधन के बाद केस खारिज हुआ। हाई कोर्ट की इंदौर खंडपीठ में जगदीपेंद्रसिंह सहित तीनों भाइयों ने 264/2003 याचिका दायर की। उषा देवी सुप्रीम कोर्ट गईं। समझौते के बाद भी किसी को कुछ नहीं मिला। जगदीपेंद्रसिंह ने 2011 में फिर याचिका लगाई और अब उनके दोनों भाईयों ने यह कानूनी नोटिस भिजवा दिया।

तीस साल पुराना मसला है

रानी की गद्दी और संपत्ति को लेकर तो 30 साल से कानूनी लड़ाई चल रही है। इसका फैसला कोर्ट में ही होगा। रही हमारी बात, तो हमें इस संपत्ति में कोई रुचि नहीं है।
-सतीशचंद्र मल्होत्रा, उषा राजे के पति

सलाह लेकर भेजेंगे जानकारी

जो मुद्दे मप्र सरकार से जुड़े हैं, उन पर सरकारी वकील से सलाह लेकर बिंदुवार जानकारी बनाकर शासन को भेजेंगे।
आकाश त्रिपाठी, कलेक्टर

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: holkar property issue again highlight
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top