Home »Madhya Pradesh »Indore »News» Then Climbed Up On The Roof Of The College Student Education Created A Commotion In The Temple, Police Niece Clubs Heavily On Students

कॉलेज की छत पर चढ़ी छात्रा तो शिक्षा के मंदिर में मचा बवाल, पुलिस ने जमकर छात्रों पर भांजी लाठियां

bhaskar news | Jan 19, 2013, 03:39 IST

  • इंदौर।सांवेर रोड स्थित ओरिएंटल यूनिवर्सिटी में शुक्रवार को मान्यता को लेकर जमकर हंगामा मचा। बी-टेक की परीक्षा देने से इनकार करते हुए एक छात्रा छत पर चढ़ गई और कूदने की धमकी देने लगी। मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्रा को बमुश्किल नीचे उतारा। इधर, गेट तोड़कर भीतर घुसने की कोशिश कर रहे छात्रों को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। एक छात्र घायल भी हो गया।

    नहीं देना बिना मान्यता के परीक्षा:हंगामे की शुरुआत सुबह उस वक्त हुई जब कॉलेज द्वारा आयोजित बी-टेक परीक्षा देने पहुंची एक छात्रा ने मान्यता नहीं होने की बात कहकर इसमें बैठने से इनकार कर दिया। कुछ अन्य छात्रों ने भी परीक्षा का बहिष्कार कर दिया। फिर छात्रा भवन की छत पर चढ़ गई और कूदने की धमकी देने लगी। सकते में आए कॉलेज प्रबंधन ने पुलिस को बुलवाया। पुलिस ने जैसे-तैसे समझाकर छात्रा को नीचे उतरवाया। इसके बाद छात्रों ने नारेबाजी और हंगामा शुरू कर दिया।

    किसने क्या कहा ?

    एनएसयूआई :जिला उपाध्यक्ष महक नागर और महासचिव अरशद खान ने कहा जब जांच चल रही है और यूनिवर्सिटी बंद थी तो परीक्षा कराने की क्या जरूरत थी। पुलिस ने डेढ़ घंटे प्रबंधन से क्या बात की। इसकी जानकारी नहीं मिली इसीलिए हम अंदर जाना चाह रहे थे।


    प्रबंधन:यूनिवर्सिटी चांसलर के.एल. ठकराल ने कहा हम तो परीक्षा आयोजित कर रहे थे। कुछ छात्रों ने जानबूझकर बहिष्कार किया। एक छात्रा ने छत पर चढऩे की कोशिश की। पुलिस से भी शांतिपूर्ण बात चल रही थी लेकिन छात्रों ने गेट तोड़ दिया।


    प्रदर्शन मत करना, जांच चल रही है:दो दिन पहले ही राजभवन ने एनएसयूआई को बुलाकर समझाया था कि जांच चल रही है। जल्द रिपोर्ट आएगी। तब तक हंगामा मत करना लेकिन कार्यकर्ता नहीं माने।

    आईआईपीएम ,हंगामा देख लौटी दिल्ली की टीम

    इंदौर। सुखलिया स्थित आईआईपीएम (इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ प्लानिंग एंड मैनेजमेंट) में छात्रों ने शुक्रवार को भी हंगामा किया। इस दौरान पुलिस पहुंची तो छात्र उससे भिड़ गए। वहीं, जांच के लिए पहुंचा उच्च शिक्षा विभाग का दल हंगामा देख लौट गया, जबकि कॉलेज प्रबंधन की दिल्ली से आई टीम ने दो चरणों में तीन घंटे तक छात्रों से चर्चा की लेकिन बात नहीं बनी।

    छात्रों ने टीम को एक दिन का समय दिया है। उनका कहना है कि इस दौरान मांग नहीं मानी गई तो भूख हड़ताल करेंगे। छात्रों के हंगामे के मद्देनजर सुबह ११ बजे पुलिस की दो गाडिय़ां वहां गई थी। पुलिस बल के साथ छात्रों की हुज्जत भी हुई। दोपहर में एनएसयूआई कार्यकर्ता पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें भी नहीं घुसने दिया। इससे उनमें झूमाझटकी हुई।

    - डॉ. नरेंद्र धाकड़, अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा

  • झूमाझटकी के बाद दौड़ाया :दोपहर में एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया तो एडीशनल एसपी दिलीप सोनी, सीएसपी राजेश दंडोतिया भी पहुंच गए। उन्होंने कार्यकर्ताओं और छात्रों को आश्वासन दिया कि वे कॉलेज प्रबंधन से बातचीत कर समस्या का हल निकालेंगे। इसके बाद बातचीत शुरू हुई।


  • हमने ठोस हल दिया :आधी बातचीत सफल रही। दिल्ली से आई हमारी टीम ने सारी समस्या हल कर दी है। अब छात्रों को तय करना है कि वे क्या चाहते हैं। हमने एक-एक समस्या का ठोस हल दिया है।
    आज निर्णय लेंगे कॉलेज ठोस आश्वासन देने को तैयार नहीं है। कई बातों पर अब भी असमंजस है। पुलिस की मौजूदगी में छात्रों को डराने की कोशिश की गई। भूख हड़ताल पर शनिवार को निर्णय लिया जाएगा।

    - विकास ननवाना, एनएसयूआई प्रभारी
    - प्रो. अभिषेक, डीन आईआईपीएम

  • डेढ़ घंटे बाद भी जब बातचीत खत्म नहीं हुई तो छात्र व कार्यकर्ता भड़क गए। उन्होंने गेट तोड़ दिया और भीतर घुसने लगे। पुलिस से हुज्जत भी हुई। इसके बाद पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा और सभी को गेट से बाहर खदेड़ दिया। एक छात्र घायल हो गया। पुलिस ने एनएसयूआई जिलाध्यक्ष सिद्धार्थ यादव, छात्र प्रशांत कुमार, संजय कोतवाल और मृत्युंजय पांडे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

  • छात्रों की मांगें
    - एमबीए (पीजीपी) पूरा कर चुके छात्रों के तीसरे व चौथे सेमेस्टर की मार्कशीट तत्काल दी जाए।
    - कोर्स की डिग्री मार्च से पहले दी जाए।
    - पहले सेम का रिजल्ट देकर अगली परीक्षा जल्द लें।

    -नए छात्रों को महात्मा गांधी यूनिवर्सिटी के अलावा और विकल्प दिए जाएं।

    कॉलेज का दावा
    - कोर्स पूरा कर चुके छात्रों को 22 फरवरी को मार्कशीट मिल जाएगी। डिग्री जून में दी जाएगी।

    - नए छात्रों का रिजल्ट जल्द देंगे। अगले सेमेस्टर की पढ़ाई भी समय पर पूरी करवाएंगे।
    -नए छात्रों को अब गुलबर्ग के बजाय महात्मा गांधी यूनिवर्सिटी से देंगे डिग्री।

    दोबारा भेजेंगे टीम

    - मामले की जांच के लिए गई टीम हंगामा देख लौट आई। सोमवार को टीम दोबारा भेजी जाएगी।

  • ऑरिएंटल यूनिवर्सिटी में पुलिस और यूनिवर्सिटी प्रबंधन में काफी देर तक चर्चा खत्म नहीं हुई तो गुस्साए छात्र व एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने गेट तोड़ दिया। पुलिस ने उन्हें बाहर कर उनकी जमकर पिटाई की।

    फोटो : संदीप जैन

    टोटल रिकॉल :पूरा मामला डेढ़ महीने पहले शुरू हुआ था। तब छात्रों ने एनएसयूआई के साथ मिलकर यूनिवर्सिटी पर मान्यता नहीं होने का आरोप लगाते हुए फीस वापस मांगी थी। कुछ दिन चले हंगामे-प्रदर्शन के बाद यूनिवर्सिटी ने जिलाध्यक्ष यादव पर 25 लाख रुपए मांगने का आरोप जड़ा। इसके बाद एनएसयूआई ने कॉलेज के महत्वपूर्ण कोर्स बगैर मान्यता चलने और तय सीटों से ज्यादा एडमिशन देने के दस्तावेज पेश किए। मानहानि का दावा भी ठोंका। छात्रों ने भूख हड़ताल की जिसे पुलिस ने कुछ दिन में तुड़़वाया। एनएसयूआई ने मामले की शिकायत एआईसीटीई में भी की। दो सप्ताह से यूनिवर्सिटी बंद थी लेकिन अचानक परीक्षा होने से छात्र भड़क गए।

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
Web Title: Then climbed up on the roof of the college student education created a commotion in the temple, police niece clubs heavily on students
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top