Home »Madhya Pradesh »Dhar » मुस्लिम औरतों के लिए अभिशाप है तीन तलाक : सलमा आगा

मुस्लिम औरतों के लिए अभिशाप है तीन तलाक : सलमा आगा

Bhaskar News Network | Oct 19, 2016, 02:30 AM IST

चतरा (झारखंड) | फिल्म निकाह से भारतीय हिंदी फिल्मों में इंट्री लेने वाली पाकिस्तानी मूल की अभिनेत्री सलमा आगा तीन तलाक के खिलाफ हैं। वह कहती हैं तीन तलाक मुस्लिम औरतों के लिए अभिशाप है। इससे इन्हें मुक्ति मिलनी चाहिए। तीन तलाक की इजाजत तो कुरआन भी नहीं देता है। मैं शुरू से ही तीन तलाक के खिलाफ रही हूं। मंगलवार को एक कार्यक्रम में शामिल होने चतरा पहुंची सलमा आगा ने कहा कि इस मसले को तो उन्होंने बहुत पहले ही उठाया था। उनकी पहली फिल्म निकाह इसी मसले पर आधारित है। बहुत कम लाेगों काे पता है कि फिल्म निकाह का नाम पहले “तलाक तलाक तलाक” ही रखा गया था। लेकिन कुछ कारणाें से बाद में इस फिल्म का नाम बदल कर निकाह कर दिया गया।

पिछले कई सालों से ब्रितानी नागरिक रहीं सलमा आगा को हाल ही में भारत सरकार ने ओवरसीज सिटिजन ऑफ इंडिया कार्ड दिया है। 1980 के दशक में ही बॉलीवुड में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के बाद भी उन्होंने इतनी देर से ओसीआई क्यों लिया। सलमा कहती हैं दरअसल हिंदुस्तान का माहौल इतना पुरसकुन है कि उन्हें इसकी कभी जरूरत ही महसूस नहीं हुई। लेकिन जब उनके बच्चों ने उनसे यह कहा कि जहां हम रहते हैं, वहां की नागरिकता तो होनी ही चाहिए तो उन्होंने ओसीआई के लिए दरख्वास्त लगा दिया। यह आसानी से मिल भी गया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: मुस्लिम औरतों के लिए अभिशाप है तीन तलाक : सलमा आगा
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

    More From Dhar

      Trending Now

      Top