Home »Madhya Pradesh »Harda Zila »Timarni» लाग इन पासवर्ड देर शाम में मिला 86 केंद्रों पर शुरू नहीं हुई खरीदी

लाग इन पासवर्ड देर शाम में मिला 86 केंद्रों पर शुरू नहीं हुई खरीदी

Bhaskar News Network | Mar 21, 2017, 05:15 IST

  • ट्रेन्डिंग नोटिफिकेशन्स
लाग इन पासवर्ड देर शाम में मिला 86 केंद्रों पर शुरू नहीं हुई खरीदी
तकनीकी खामियों के कारण जिले में गेहूं खरीदी का मुहूर्त पहले ही दिन बिगड़ गया। भोपाल से लाॅग इन पासवर्ड नहीं मिल सका था। इस कारण सोमवार को पहले दिन जिले के 86 मेें से किसी भी केंद्र पर समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी का पहले दिन खाता तक नहीं खुल सका। सोमवार देर शाम नागरिक आपूर्ति निगम को मिला है। अब किसानों को एसएमएस भेजे जाएंगे। मंगलवार से खरीदी शुरू होने की उम्मीद है। इधर, सहकारी समितियों ने पुराने मामले व मांगें हल न होने से नाराज होकर मंगलवार से हड़ताल पर जाने का एेलान किया है। सोमवार को कई किसान गेहूं बेचने आए लेकिन समितियों ने खरीदी नहीं की। ऐसे में किराये से ट्रैक्टर ट्राॅली लेकर आए किसानों को अच्छा गेहूूं व्यापारियों को समर्थन मूल्य से कम दाम में बेचकर नुकसान उठाना पड़ा। वहीं सोमवार शाम को लॉग इन पासवर्ड मिलने के बाद कितने किसानों को एसएमएस भेजे गए, इसकी भी किसी जिम्मेदार अफसर के पास जानकारी नहीं है।

कम दाम में खरीदा गेहूं

ज्यादातर किसानों को 20 मार्च से गेहूं खरीदी की जानकारी थी। इस कारण कई किसान ऐसे थे, जो फसल बेचने खरीदी केंद्रों पर पहुंचे थे। मंडी में भी किसान आए, लेकिन समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू नहीं होने से किसानों ने व्यापारियों को कम दाम में गेहूं बेचा। सोमवार को 1450 से 1585 रुपए तक गेहूं बिका।

भोपाल से लॉग इन पासवर्ड नहीं मिला, इसलिए सोमवार को खरीदी शुरू नहीं हो सकी। अब एमएसएस किसानों को भेजेंगे। एसके शर्मा, प्रबंधक,नागरिक आपूर्ति निगम हरदा

लक्ष्य पूरा न होने का अंदेशा

इस बार गेहूं की फसल अच्छी हुई है। उत्पादन, दाने का वजन, आकार व चमक भी ठीक है। इधर समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने पर भुगतान देरी से होता है। इतना ही नहीं पुराना कर्ज पहले काटा जाता है। विभाग खुद यह दबी जुबान में मान रहा है कि ऐसे में किसान व्यापारी को गेहूं बेचना पसंद करेंगे, जिससे समय पर पूरा पैसा मिल सके। ऐसे में बीते साल की तरह इस बार भी लक्ष्य पूरा होने की उम्मीद कम ही है।

आग का डर, जल्दी

कटाई, अब सुखाएंगे

मौसम का रुख रोज बदल रहा है। आगजनी की घटनाएं बढ़ रही हैं। कभी बूंदाबांदी होने लगती है। मौसम की मार से बचने के लिए किसान जल्दी कटाई में लगे हैं। किसानों का मानना है खेत में खड़ी फसल को नुकसान पूरी मेहनत पर पानी फेर सकता है। ऐसे में जल्दी कटाई करा रहे हैं। नमी कम करने धूप में सुखाएंगे। बाली व कचरा साफ करने पंखे से धार रखेंगे।

फायदा संस्था लेती है, घाटा व्यक्तिगत वसूलते है

बीते सालों में संस्थाओं ने गेहूं खरीदी। इसमें परिवहन के दौरान आने वाली घटत व व्यवस्थाओं के कारण तय दरों से ज्यादा राशि खर्च हुई। सहायक आयुक्त सहकारिता ने संस्था कर्मचारियों के खिलाफ केस दर्ज कर व्यक्तिगत वसूली की कार्रवाई की। टिमरनी शाखा के कर्मचारियों की एफआईआर दर्ज हुई। फायदा संस्था के खाते में बताया जाता है ,घाटा व्यक्तिगत रूप से वसूल किया जाता है। ऐसे मनमानी कार्रवाई के विरोध में हड़ताल का निर्णय लिया है। मांगें मानने या ठोस आश्वासन पर ही बात बनेगी। -सुभाष चंद्र पवार, सहकारिता समिति हरदा

हड़ताल से किसानों को परेशानी होगी

कई किसानों के पास गेहूं को सुरक्षित रखने के इंतजाम नहीं है। इस कारण किसान कांग्रेस ने 27 के बजाय 18 से खरीदी की मांग की थी। ऐसे में सहकारी समितियों ने बीते साल की तरह इस बार भी खरीदी शुरू होने से पहले ही हड़ताल की चेतावनी दे दी है। ऐसे में किसानों को परेशानी होगी। मंगलवार को प्रतिनिधिमंडल कलेक्टर से मिलेगा। कोई वैकल्पिक इंतजाम न होने पर किसान हित में आंदोलन करेंगे। माेहन विश्नोई, प्रदेश सचिव किसान कांग्रेस

सहकारी समितियों के प्रतिनिधियों से चर्चा करने के लिए मंगलवार को बुलाया है। श्रीकांत बनोठ,कलेक्टर हरदा

फैक्ट फाइल

38160 पंजीकृत किसान

4.50 मीट्रिक टन खरीदी का लक्ष्य

20 मार्च से 20 मई तक खरीदी होगी

86 खरीदी केंद्र

हरदा। गेहूं खरीदी के इंतजार में मंडी में वाहन लेकर आए किसान।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: लाग इन पासवर्ड देर शाम में मिला 86 केंद्रों पर शुरू नहीं हुई खरीदी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Timarni

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top