Home »Madhya Pradesh »Rajya Vishesh » Indore City Added In Cities Where Heart Transplantation Facility Available

मरीज को लगाया गया महिला का हार्ट, पति ने आखिरी बार छूकर देखा पत्नी के दिल को

Bhaskar News | Mar 11, 2017, 07:15 IST

मरीज को लगाया गया महिला का हार्ट, पति ने आखिरी बार छूकर देखा पत्नी के दिल को
इंदौर. इंदौर में ब्रेन डेड घोषित की गई द्वारकापुरी की रहने वाली 49 साल की बीना का हार्ट शहर के ही एक निजी हॉस्पिटल में महू के संजय अग्रवाल (47) और लिवर उज्जैन के धर्मेंद्र जायसवाल (46) को सफलतापूर्वक ट्रांसप्लांट किया गया। इसी के साथ इंदौर मप्र का पहला शहर बन गया, जहां हार्ट ट्रांसप्लांट किया गया। आर्गन डोनेशन के लिए इंदौर में शुक्रवार को फिर ग्रीन कॉरिडोर बना। 17 महीने में 16वीं बार।
- गुरुवार शाम बीना को तेज ब्लड प्रेशर होने के कारण चोइथराम हॉस्पिटल ले जाया गया था। वहां ब्रेन हेमरेज होने के बाद में डॉक्टरों ने उन्हें ब्रेन डेथ घोषित कर दिया था।
- सूचना मिलने पर संभागायुक्त संजय दुबे ने मुस्कान ग्रुप के जरिये वीना के परिजनों से चर्चा की। सिंधी समाज के कुछ संतों के आग्रह पर जगदीश पत्नी के आर्गन डोनेशन के लिए तैयार हो गए।
- इसके बाद हार्ट और लिवर ट्रांसप्लांट के लिए रात में मरीज की तलाश शुरू हो गई। संभागायुक्त ने गुड़गांव के हार्ट ट्रांसप्लांट विशेषज्ञ डॉ. अनिल भान से चर्चा की। वे तैयार हो गए और टीम के साथ शुक्रवार सुबह इंदौर पहुंचे।
- इंदौर देश के उन चुनिंदा 11 शहरों में भी शामिल हो गया, जहां हार्ट ट्रांसप्लांट होते हैं। अन्य शहर मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, अहमदाबाद, जयपुर, बेंगलुरू, कोच्चि, हैदराबाद और कोयम्बटूर हैं।
एक महीने तक हॉस्पिटल में रहेंगे अग्रवाल
डॉक्टरों के मुताबिक, अग्रवाल की हार्ट सर्जरी पूरी तरह सफल रही है। शनिवार शाम तक उनके शरीर से मशीनें हटा दी जाएंगी, लेकिन लगभग एक माह तक उन्हें हॉस्पिटल में रहना होगा।
लगभग रोज दो बार उनका चेकअप होगा। डॉ. दीक्षित के अनुसार एक माह बाद ही संजय घर जा पाएंगे। वहां भी कुछ दिन उन्हें आराम करना होगा।
दोनों मरीज, अग्रवाल और जायसवाल मध्यमवर्गीय परिवार के हैं। डॉ. दीक्षित ने बताया इलाज के खर्च को लेकर अलग-अलग स्तर पर चर्चा चल रही है। सभी के सहयोग से यह संभव हो पाया है।
सात मिनट में 12 किमी का सफर
दोपहर करीब डेढ़ बजे बीना का हार्ट लेकर एम्बुलेंस चोइथराम हॉस्पिटल से रवाना हुई और सात मिनट में 12 किमी का सफर तय कर मेंदाता हॉस्पिटल पहुंची।
वहां डॉ. भान और उनकी टीम ने करीब तीन घंटे की सर्जरी में अग्रवाल को हार्ट ट्रांसप्लांट किया। अग्रवाल की पत्नी ने बताया पति को सात साल से हार्ट संबंधी समस्या थी। उन्हें पेसमेकर लगा था।
प्रशासन की सूचना पर उन्हें रात में ही मेदांता में भर्ती करवाया था। डॉ. अमित भट्ट ने बताया चोइथराम हॉस्पिटल में बीना का लिवर जायसवाल को ट्रांसप्लांट किया गया। बीना की किडनी फेल होने के कारण उसका इस्तेमाल नहीं हो सका।
आर्गन डोनेशन की खास बातें
- हार्ट ट्रांसप्लांट के लिए प्रशासन ने आर्गन डोनेशन की वेबसाइट के जरिये मरीज का चयन किया।
- महिला के पति ने भी आर्गन डोनेशन के फॉम भरने की बात कही।
- मेदांता हॉस्पिटल के एम्बुलेंस चालक शान मोहम्मद पांचवीं बार ग्रीन कॉरिडोर में आॅर्गन लेकर गए।
नाटो के चेयरमैन ने दी बधाई
नाॅटो (नेशनल आॅर्गेनाइजेशन ऑफ टिशु एंड ट्रांसप्लांट) के चेयरमैन डॉ. विमल भंडारी ने हार्ट ट्रांसप्लांट के लिए बधाई दी। उन्होंने इंदौर सोसायटी फॉर आॅर्गन डोनेशन के सचिव डॉ. संजय दीक्षित को फोन कर कहा कि इंदौर आर्गन डोनेशन के मामले में सबसे तेजी से काम कर रहा है।
खुशी की बात है कि प्रदेश में पहली बार इंदौर में हम हार्ट ट्रांसप्लांट सफलतापूर्वक कर पाए। आगे हमारे दो अहम प्रयास रहेंगे। पहला यह कि हार्ट ट्रांसप्लांट के मामले में इंदौर और हमारा प्रदेश सेंट्रल इंडिया में नंबर वन बने। अगले चरण में ब्रोन मैरो ट्रांसप्लांट भी हो। संजय दुबे, संभागायुक्त
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App
Web Title: Indore city added in cities where heart transplantation facility available
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      More From Rajya vishesh

        Trending Now

        पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

        दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

        * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
        Top